ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की 111 वीं बोर्ड बैठक में लिए गए अहम निर्णय

ग्रेटर नोएडा औद्योगिक विकास प्राधिकरण द्वारा आज अपनी 111 प्री बोर्ड बैठक संपन्न कि इस बोर्ड बैठक को लेकर आम जनता से लेकर उद्योगपति वह बिल्डर्स की टकटकी लगी हुई थी क्योंकि इसमें कई अहम फैसले लिए जाने थे हालांकि बोर्ड बैठक के समापन के बाद केवल बिल्डर्स और उद्योगपतियों को इसका लाभ मिला जबकि किसान या आम आवंटियों को किसी तरह का कोई लाभ नहीं मिल सका है मुख्य रूप से इस बोर्ड बैठक में 7 मुख्य फैसलों पर सहमति बनी जिनमें।

बिल्डर्स को मिला शून्यकाल का लाभ

ग्रेटर नोएडा औद्योगिक विकास प्राधिकरण के अंतर्गत बिल्डर्स परियोजनाओं में कुछ कारणों से लगभग 42 बिल्डर्स ने प्राधिकरण से शून्य काल के लिए आवेदन किया हुआ था जिस पर काफी दिन से चर्चा चल रही थी और आज बोर्ड बैठक में 42 आवेदकों में से 11 आवेदकों को शून्य काल का लाभ दिया गया साथ ही शून्यकाल का लाभ केवल उन बिल्डर्स को दिया गया है जो वास्तव रूप में माननीय उच्च न्यायालय में हिस्ट्री यथास्थिति अथवा प्राधिकरण या प्रशासन की वजह से भूखंड पर कब्जा प्राप्त नहीं कर सकते थे ऐसे 11 बिल्डर्स को प्राधिकरण शून्यकाल का लाभ देने का फैसला लिया है इन 11 बिल्डर्स में निराला बिल्डर्स के दो प्रोजेक्ट पटेल एडवांस एक्सप्रेस प्रोजेक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड रुद्राभिषेक प्रोजेक्ट प्राइवेट लिमिटेड एस जेपी होटल एंड रिसोर्ट प्राइवेट लिमिटेड कामरूप इंफ्राबिल्ड प्राइवेट लिमिटेड 28 मैन इंफ्रास्ट्रक्चर प्राइवेट लिमिटेड गौर संस फ्रॉम मोटर्स प्राइवेट लिमिटेड समेत 11 बिल्डर्स को शून्य काल का लाभ प्रदान किया गया है इसके उपरांत ऐसे प्रकरण जिनमें बिल्डर्स में 500 करोड़ या उससे अधिक राशि के और बिल्डर्स के लिए भी प्राधिकरण ने री सेटलमेंट की पॉलिसी को समय अवधि को बढ़ाकर अब 31 मार्च 2018 तक कर दिया है इसके नियम अनुसार अब जिन लोगों बिल्डर्स पर 500 करोड़ से अधिक राशि बकाया है वह 10% जमा करके तथा 500 करोड़ से कम बकायेदार बिल्डर्स को 15% धनराशि जमा करने के बाद रिटायरमेंट का लाभ मिल सकेगा और यह लाभ केवल उन आवंटियों को मिलेगा जिन्होंने अपने भूखंड की लीज डीड निष्पादित करा ली है।
तीसरा मुख्य एजेंडा मैं प्राधिकरण ने ऑडिट कर रही कंपनी के साथ 25 बिल्डर्स परियोजनाओं के किए गए ऑडिट की प्रगति आख्या का अवलोकन किया गया जिसमें तीन से चार ऐसे परियोजनाएं देखी गई हैं जिनमें भिन्नता पाई गई है जबकि अधिकतर परियोजनाएं किए गए ऑडिट में सही पाई गई इन 25 बिल्डर्स पर लगभग 65000 लोगों का भविष्य टिका हुआ था।

चौथा एजेंडा औद्योगिक भूखंडों के आवंटियों को समर्पित कर रहा ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण द्वारा 309 2011 से पूर्व के आवंटित जिन्हें औद्योगिक भूखंड आवंटित किए गए थे तो साजन की लीज डीड निष्पादन दिनांक 30 11:00 2016 तक करा लिया गया था उन आवंटियों को निर्माण एवं क्रियाशील करने हेतु 309 2018 तक का समय और विस्तार किया गया है इसके अनुसार लगभग पहले जब औद्योगिक भूखंडों को अंतिम मौका दिया गया था तब केवल 200 ऐसे भूखंड थे जिन्होंने समय रहते अपने भूखंडों को निर्माण कर उन्हें क्रियान्वित क्रियाशील कर लिया था परंतु अब कुछ ऐसे भूखंड जिनका निर्माण अधूरा था उनके लिए बोर्ड ने 30 सितंबर 2018 तक अंतिम समय के रूप में दिया गया है जिसका लाभ लाभ लगभग 800 औद्योगिक भूखंडों को मिलेगा।

बिल्डर्स को कंप्लीशन लेते समय दो बार भरनी पढ़ रही थी फीस इस पर भी बोर्ड ने अब बिल्डर्स को रियायत देते हुए कहा है कि अब बिल्डर्स कंपटीशन लेते समय केवल एक बार ही फीस भरनी होगी क्योंकि बिल्डर्स परियोजनाएं एक बार में पूर्ण नहीं होती हैं इसीलिए इन्हें छोटे-छोटे टुकड़ों में विभाजित कर अलग-अलग कंप्लीशन लिया जाता है अब तक जितनी बार कंप्लीशन लिया जाता था तो बिल्डर्स को उतनी ही बार फीस भरनी पड़ती थी परंतु अब कोर्ट ने फैसला लिया है कि बिल्डर को केवल आप एक बार ही कंप्लीशन के लिए फीस भरनी होगी।

बोर्ड द्वारा अंतिम निर्णय के रूप में भी बिल्डर संबंधित निर्णय ही पारित हो सका है इसके अनुसार ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने 2009 से पूर्व आवंटित ग्रुप हाउसिंग भूखंडों के लिए क्रय योग्य घनत्व अर्थात (एफ ए आर) की गणना की विधि का निर्धारण किया जाना काफी दिन से लंबित चला रहा था इसके अनुसार 2009 के आसपास आवंटित भूखंडों में एफएआर केवल 1.7 थी बाद में इसे बढ़ाकर 2.5 किया गया वह अब 3.5 हेक्टेयर है इसके अनुसार 2009 में जिस भूखंड में 525 मकान बनाए जा सकते थे वही आज इतने ही क्षेत्रफल के भूखंड में लगभग 2100 मकान बनाए जा सकते हैं इसलिए बिल्डर्स के आवेदन पर प्राधिकरण ने क्रियायोग घनत्व की गणना विधि को लागू करते हुए बिल्डर से धन वसूल कर उन्हें अधिक मकान बनाने की अनुमति का रास्ता साफ हो गया है अब बिल्डर्स प्राधिकरण में पैसे जमा कर अधिक से अधिक मकान बना सकते है ।

यह भी देखे:-

किसान एकता संघ का यमुना प्राधिकरण पर जोरदार प्रदर्शन
बिल्डर की गुंडई, ठेकेदार ने लगाया पिटवाने का आरोप
नियुक्ती पत्र मिलने के दो साल बाद भी नहीं मिला जॉब , बंधक बनाने पर छात्रों का हंगामा
विस्तृत रिपोर्ट : ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की 114 वीं बोर्ड बैठक
संस्कृत दिवस पर "संस्कृत-संस्कृति शिक्षण सत्र" का प्रमाणपत्र वितरण
सिटी हार्ट में हुआ बाल दिवस के उपलक्ष में बाल मेले का आयोजन
डेंगू व मलेरिया से बचाव के उद्देश्य से जिला प्रशासन ने जारी की एडवाजरी
रोटरी क्लब द्वारा डेंटल चेकअप कैम्प का आयोजन
सभी विकास प्राधिकरणों के अधिकारियो की भी जांच होनी चाहिए - एडवोकेट रविन्द्र भाटी
आईआईए- पुलिस समन्वय बैठक में उद्यमियों ने गिनाई समस्या , मिला ये आश्वाशन , पढ़ें पूरी खबर IIA
EDUCOHAAT-FRANCTIC में FRENZY FEST का छात्रों ने उठाया लुत्फ़ , युवाओं और प्रोफेशनल के लिए क्लब की ग...
करप्शन फ्री इंडिया का प्रतिनिधि मंडल अन्ना हजारे से मिला
कच्ची शराब पर प्रतिबंध के उद्देश्य से आबकारी विभाग का अभियान जारी
ग्रेटर नोएडा वेस्ट ऐस सिटी में धूमधाम से की गई चित्रगुप्त व कलम, दवात की पूजा
जब पुलिस ने नहीं सुनी तो महिला ने उठाया ऐसा कदम कि ... पढ़ें पूरी खबर
नोएडा पुलिस में तैनात दो सिपाही निलंबित