हथियार की नोंक पर छात्र से लूट, विरोध करने पर मारपीट

ग्रेटर नोएडा। कासना कोतवाली क्षेत्र के रेयान गोलचक्कर पर सोमवार रात बदमाशों ने बीटेक की पढ़ाई कर रहे दो छात्रों से लूटपाट की। विरोध करने पर बदमाशों ने छात्रों के साथ मारपीट कर उन पर पिस्टल की बट से हमला कर दिया। छात्रों ने मामले की शिकायत पुलिस से की है। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर बदमाशों की तलाश शुरू कर दी है।

मूल रूप से बिजनौर के रहने वाले दो विद्यार्थी हर्षित चौधरी व जमाल नासिर अल्फा दो सेक्टर में पीजी में रहते है। दोनों नॉलेज पार्क स्थित एक कॉलेज से बीटेक की पढ़ाई कर रहे है। सोमवार रात करीब साढ़े आठ बजे दोनों छात्र सेक्टर से निकल कर बीटा एक सेक्टर की तरफ पैदल जा रहे थे। रास्ते में रेयान गोलचक्कर के समीप चार बदमाशों ने उनको रोक लिया। बदमाशों ने दोनों छात्रों से उनके मोबाइल व एक हजार रुपये लूट लिए। लूट करने के बाद आरोपी बदमाश भाग निकले। लूट का विरोध करने पर बदमाशों ने हर्षित को पिस्टल की बट मारकर घायल कर दिया।

कासना कोतवाली प्रभारी ब्रजेश कुमार वर्मा का कहना है कि तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। बदमाशों की तलाश की जा रही है। जल्द ही बदमाशों को गिरफ्तार किया जाएगा।

यह भी देखे:-

परिवार सोता रहा , चोर समेट ले गए लाखों का माल , पूरी वारदात सीसीटीवी में कैद
सनसनीखेज खुलासा, चालक निकला मालिक का कातिल , गिरफ्तार
लूटपाट व मर्डर के बाद बदमाशों ने 4 महिलाओं से किया गैंग रेप
नशे में धुत सिपाही ने दूकानदार पर की फायरिंग, गिरफ्तार
महिला पर तमंचा ताना दी जान से मारने की धमकी
बिलासपुर : दुकानों के ताले टूटे, गुस्साए व्यापारियों ने किया पुलिस चौकी का किया घेराव
नशा के सौदागरों नाइजीरियाई को कोर्ट ने सुनाई कठोर कारावास
कासना पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ , दो बदमाशों को लगी लगी गोली
मोलेस्टेशन (BAD TOUCH) के आरोपी छात्रों के खिलाफ पोस्को एक्ट में मामला दर्ज
नाबालिक से रेप के प्रयास का दूसरा आरोपी भी गिरफ्तार
होलीडे पैकेज के नाम पर चल रहा था ठगी का धंधा, चार गिरफ्तार
ग्रेटर नोएडा में चोर बेख़ौफ़, कंप्यूटर शॉप से पांच कम्प्यूटर चोरी
दनकौर पुलिस के हत्थे चढ़े यमुना हाइवे के लूटेरे, लूटी गई कैब बरामद
दोस्तों के साथ मिलकर छात्रा ने रची थी खुद के अपहरण की कहानी , पुलिस-एसटीएफ ने किया पर्दाफाश 
लालबत्ती की कार से घूम रहे थे युवक, पुलिस ने कार किया जब्त, युवक गिरफ्तार
जेवर हिंसा में पहली गिरफ्तारी