मूलभूत सुविधाओं के आभाव में नर्मदा एनक्लेव के रेसिडेंट परेशान, आमरण अनशन का दिया अल्टीमेटम, ग्रेनो प्राधिकरण के सीईओ को सौंपा सात सूत्रीय मांग पत्र

ग्रेटर नोएडा: पांच साल बीत जाने के बावजूद शहर के ईटा- 2 स्थित नर्मदा एनक्लेव के निवासी मूलभूत सुविधाओं से वंचित हैं और घुट घुट जीने को मजबूर है।

परेशानी से अजीज आकर आज नर्मदा एनक्लेव के निवासी ग्रेनो प्राधिकरण कार्यालय पहुंचे और सीईओ ग्रेनो प्राधिकरण को सात सूत्रीय मांग पत्र सौंपा। नर्मदा एनक्लेव रेसिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष नीरज कौशिक ने बताया वर्ष 2019 में ईटा 2 सेक्टर में बीएचएस 12/ बीएचएस 13 की स्कीम के तहत ग्रेनो प्राधिकरण ने फ्लैट आवंटित किया था।
लेकिन 5 साल बीतने को है सोसायटी में सुविधाओं का घोर अभाव है।

मांग पत्र देने वालों में नीरज कौशिक , विवेक कुमार, कुलदीप द्विवेदी, श्रीकांत वीएस, सचिन गुप्ता, सूर्या शामिल रहे। इनकी मुलाकात एसीईओ आशुतोष से हुई। उन्होंने आश्वस्त किया कि जल्द ही सभी समस्याओं का निराकरण होगा।

सात सूत्रीय मांग पत्र में निम्नलिखित मांग की गई है —

1. 130 मीटर रोड से नर्मदा एन्क्लेव की ओर जा रही सड़क अपनी अवस्था पर प्राधिकरण के अधिकारियों को कोसती है। सोसायटी निवासी भी अपना रोष प्रकट करने को उचित मंच ढूँढ़ रहे हैं।

सोसायटी के दो ब्लॉक्स के मध्य में रात्रिकाल में प्रकाश का अभाव है। उचित लाइट व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।

सोसायटी के चारदीवारी पर प्लास्टर तथा भवन के प्लास्टर की हालत पाकिस्तान से आए विस्थापितों को दिए गए भवनों से भी बदतर है। जनहितैषी सरकार के अंत्योदय के प्रण को सार्थक करने के लिए सुधार किया जाए। निवासियों की सुविधा व सुरक्षा के लिए चारदीवारी पर कटीली तार का भी प्रावधान सुनिश्चित करवाया जाए।

कूड़े के उठान के लिए जाए छोटी गाड़ी से से घर-घर से कूड़ा उठाना सुनिश्चित किया जाए। दो कूड़ेदान जो वहाँ रखें हैं, उन्हें ह वहाँ से उठवा लिया जाए। अन्यथा इस मौसम में समय से कूड़े के उठान के अभाव में रोग फैलने की आशंका है।

प्राधिकरण अपनी सेवा शर्तों का पालन करवाते हुए ठेकेदार को अति शीघ्र इस सोसायटी से बाहर करे। क्या कारण है कि सरकारी अधिकारी ठेकेदार से कार्य अवधि में कार्य सम्पूर्ण नहीं करवा पा रहे हैं। निवासियों में द्वेष फैलाने में ही ठेकेदार और उसके कर्मचारी अपना समय व्यतीत कर रहे हैं । किसी दुर्घटना की स्थिति में प्राधिकरण के अधिकारी ही जिम्मेवार होंगे।

सोसायटी में अनेक मैनहॉल टूटी हालत में हैं। बार-बार संज्ञान में लाने के पश्चात भी सुधार दिखाई नहीं देता। किसी संभावित दुर्घटना से पूर्व ही इनमें सुधार सुनिश्चित किया जाए।

सोसायटी के एकमात्र का समुचित रखरखाव किया जाए। फल-दायादार वृक्ष तथा बागवानी का प्रावधान हो। पार्क की चारदीवारी पर पलस्तर करवाया जाए। पार्क में संभावित कूड़े के लिए लोहे के कूड़ेदान, जिनसे प्रतिदिन कुडा स्थानांतरण संभव किया जा सके, का होना सुनिश्चित करवाया जाए। बुजुर्गों और बालको के लिए लगाए गए बैंचों का मरम्मत समय से हो। आपसे करबद्ध विनम्र प्रार्थन्य है कि उपरोक्त मूलभूत सुविधाओं का अतिशीघ्र निराकरण सुनिश्चित किया जाए अन्यथा सोसायटी निवासी 1 जुलाई से आमरण अनशन पर बैठने को विवश होगें।

यह भी देखे:-

महिला की मौत के बाद मुआवजे को लेकर हजारों की संख्या में श्रमिकों ने किया हंगामा, तोड़फोड़ का आरोप
अल्फा वन आरडब्लूए द्वारा किया गया वृक्षारोपण
मासूम बच्ची का शव रेलवे ट्रैक पर मिला,
पैरामाउंट गोल्फ फॉरेस्ट सोसाइटी में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का मनोहर आयोजन
दिवाली की सुबह एनसीआर की हवा हुई जहरीली, AQI खतरनाक स्तर पर
यमुना प्राधिकरण में बनेगा यूनिवर्सिटी हब, 6 विश्वविद्यालय की स्कीम लॉन्च
हर्सोल्लास के साथ 'खुशियों की ओर' वृद्धाश्रम में मनाया गया दीपावली का त्योहार
9/11 के 20 साल: आतंकी हमले की आशंका के बीच जो बाइडेन ने मारे गए लोगों को किया याद, कही ये बात
ईशान एजुकेशनल इंस्टीट्यूशंस में वूमेंस डे सेलिब्रेशन
यमुना प्राधिकरण के सेक्टर 28 में 200 एकड़ में विकसित होगा फार्मूलेशन पार्क
स्वामित्व योजना : गांव में रहने वालों को मिलेगा अपनी संपत्ति का पूरा रिकार्ड- पीएम मोदी
जीएल बजाज संस्थान में पीजीडीएम विभाग में (बैच 2024-26) के पांच दिवसीय दीक्षारम्भ समारोह नवदिशा का सम...
गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ लॉ जस्टिस में मूट कोर्ट प्रतियोगिता 2024 का आयोजन
यमुना प्राधिकरण ने किसानों के हित में लिया ये फैसला, पढ़ें पूरी खबर
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा लखीमपुर खीरी की नई कार्यकारिणी का शपथग्रहण समारोह संपन्न
अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार के अवसर पर काठमांडू, नेपाल में सम्मानित हुईं डाॅ० ब्रजलता शर्मा