गलगोटियास अलुमनाई मीट-2024 को गलगोटियास विश्वविद्यालय कैंपस में सफलतापूर्वक आयोजित किया गया

कुल 884 अलुमनाई छात्रों ने मीट के लिए पंजीकरण किया, जिनमें 562 प्रतिभागियों ने अपने माता-पिता और परिवार के सदस्यों के साथ कार्यक्रम में हिस्सा लिया।
इस आयोजन में महत्वपूर्ण अतिथियों में माननीय विश्वविद्यालय के वॉइस चॉसलर प्रो. डॉ. के. एम. बाबू , पूर्व वाइस चांसलर और चांसलर के सलाहकार), प्रो. डॉ. रेणु लूथरा, प्रो. वॉइस चॉसलर डॉ. अवधेश कुमार, अलुमनाई कार्यक्रम के डीन प्रो. डॉ. अजय शंकर सिंह, छात्र कल्याण के डीन प्रो. डॉ. ए. के. जैन, विभिन्न स्कूलों के डीन, फैकल्टी अलुमनाई समन्वयक, और प्रमुख अलुमनाई शामिल थे, जिन्होंने अलुमनी मीट का उद्घाटन सरस्वती वन्दना और दीप प्रज्वलन के साथ किया।
गलगोटियास छात्र संघ ने अलुमनी को आनंदित करने के लिए कई सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया और उन्हें गलगोटियास कैंपस पर अपने पुराने अनुभवों को याद करने में मदद की। इस कार्यक्रम की इस सभा ने बैचमैटस शिक्षकों, सीनियर्स, जूनियर्स, और सभी सह-अलुमनाई के साथ एक दूसरे के साथ फिर से जुड़ने का एक उत्कृष्ट अवसर प्रदान किया।
कार्यक्रम के दौरान, अलुमनाई छात्र उत्साहपूर्वक गलगोटियास के अपने प्यारी यादों को साझा किया, जिससे स्पष्ट हो गया कि संस्थान का प्रभाव उनके जीवन पर कितना महत्वपूर्ण था। इन इंटरैक्शन से निकला निष्कर्ष बहुत ही गहरा था: “किसी संस्थान के बारे में उसके अलुमनी से अधिक कोई भी दूसरा व्यक्ति प्यार करने वाला नहीं होता क्योंकि अपने विश्वविद्यालय से उनके जीवन की बहुत ही संवेदनशील यादें जुड़ी रहती हैं।

इस अलुमनाई मीट के कार्यक्रम की सफलता के लिये हमारे माननीय सीईओ डॉ. ध्रुव गलगोटिया जी और विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार डॉ. नितिन गौड जी का कार्यक्रम की संयोजक समिति ने ह्रदय से धन्यवाद ज्ञापित किया गया। समारोह का शाम 6 बजे धन्यवाद ज्ञापन के साथ भविष्य की पुनर्मिलन की दृष्टि के साथ समापन हुआ।

यह भी देखे:-

भारत संकल्प यात्रा गांव गिरधरपुर विशोनली गांव में पहुंची
आईआईएमटी कॉलेज में हैकथॉन का समापन
प्रोमिस भाटी का एसएससी में चयन, कड़ी मेहनत को बताया सफलता का सूत्र
लीज प्लान जारी करने में देरी पर सीईओ ने  लगाई फटकार
दीवाली: इस समय करें महालक्ष्मी और भगवान गणेश की आराधना, ये है शुभ मुहूर्त
खुद के फ्लैट में रहने का ख्वाब देख रहे 1300 और खरीदारों के लिए राहत की खबर
जीएल बजाज संस्थान में दीक्षान्त समारोह का आयोजन
प्रधानमंत्री को अमेरिका जाने की अनुमति कैसे मिली - दिग्विजय सिंह , उन्होंने तो कोवाक्सिन ली थी
ICMR RESEARCH: वैज्ञानिकों ने बताया किस तरह खोले जाएं स्कूल, छोटे बच्चों में कोरोना का खतरा कम
शारदा अस्पताल में हीट स्ट्रोक के मरीजों की संख्या बढ़ी
ग्रेनो प्राधिकरण के सीईओ से मिले कर्टनी वॉल्स
आबकारी टीम और बीटा 2 पुलिस के हत्थे चढ़े शराब तस्कर
मिशन भ्रष्टाचार मुक्त भारत के लिए पश्चिमी उत्तर प्रदेश में संगठन को करेंगे मजबूत।
धर्म गुरुओं के साथ एसीपी ने की बैठक
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण : नोएडा-ग्रेनो एक्सप्रेसवे पर हादसे रोकेंगे रस्सी नुमा तार वाले बैरियर
जूनियर शेफ प्रतियोगिता में शहर के स्कूली बच्चों को मिलेगा अवसर