पूर्व प्रधानमंत्री चौ. चरण सिंह और पीवी नरसिम्हा राव को दिया जाएगा मरणोपरांत सम्मान

भारत सरकार ने इस साल भारत रत्न के लिए अभी तक पांच लोगों के नामों की घोषणा की है। जिसमें दो लोगों के नाम की घोषणा पहले हुई थी, वहीं अब तीन नामों का आज एलान किया गया है। जानकारी के लिए बता दें कि इस वर्ष भारत सरकार ने बिहार के जननायक और पूर्व मुख्यमंत्री कर्पूरी ठाकुर और बीजेपी के संस्थापक सदस्य और वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी को भारत रत्न देने की घोषणा की थी। वहीं अब इसी कड़ी में पूर्व प्रधानमंत्री चौ. चरण सिंह , पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव और कृषि क्रांति के जनक एमएस स्वामीनाथन को देश का सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न देने की घोषणा की है। इस बात की जानकारी पीएम मोदी ने खुद सोशल मीडिया प्लेटफार्म एक्स पर इसकी जानकारी दी। पीएम मोदी ने एक के बाद एक तीनों हस्तियों के बारे में जानकारी देते हुए, उन्हें ये सम्मान देने की घोषणा की। बता दें कि केवल लाल कृष्ण आडवाणी को छोड़कर बाकी सभी चार लोगों को ये सम्मान मरणोपरांत दिया जा रहा है।

पीएम मोदी ने देश के पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव के बारे में लिखा,” यह बताते हुए खुशी हो रही है कि हमारे पूर्व प्रधान मंत्री श्री पीवी नरसिम्हा राव गरू को भारत रत्न से सम्मानित किया जाएगा। एक प्रतिष्ठित विद्वान और राजनेता के रूप में, नरसिम्हा राव गरू ने विभिन्न क्षमताओं में भारत की बड़े पैमाने पर सेवा की। उन्हें आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री, केंद्रीय मंत्री और कई वर्षों तक संसद और विधानसभा सदस्य के रूप में किए गए कार्यों के लिए समान रूप से याद किया जाता है। उनका दूरदर्शी नेतृत्व भारत को आर्थिक रूप से उन्नत बनाने, देश की समृद्धि और विकास के लिए एक ठोस नींव रखने में सहायक था। प्रधान मंत्री के रूप में नरसिम्हा राव गारू का कार्यकाल महत्वपूर्ण उपायों द्वारा चिह्नित किया गया था जिसने भारत को वैश्विक बाजारों के लिए खोल दिया, जिससे आर्थिक विकास के एक नए युग को बढ़ावा मिला। इसके अलावा, भारत की विदेश नीति, भाषा और शिक्षा क्षेत्रों में उनका योगदान एक ऐसे नेता के रूप में उनकी बहुमुखी विरासत को रेखांकित करता है, जिन्होंने न केवल महत्वपूर्ण परिवर्तनों के माध्यम से भारत को आगे बढ़ाया बल्कि इसकी सांस्कृतिक और बौद्धिक विरासत को भी समृद्ध किया।

पीएम मोदी ने देश के पूर्व प्रधानमंत्री चौ. चरण सिंह को भारत रत्न दिए जाने पर उनके बारे में लिखा,” हमारी सरकार का यह सौभाग्य है कि देश के पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह जी को भारत रत्न से सम्मानित किया जा रहा है। यह सम्मान देश के लिए उनके अतुलनीय योगदान को समर्पित है। उन्होंने किसानों के अधिकार और उनके कल्याण के लिए अपना पूरा जीवन समर्पित कर दिया था। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे हों या देश के गृहमंत्री और यहां तक कि एक विधायक के रूप में भी, उन्होंने हमेशा राष्ट्र निर्माण को गति प्रदान की। वे आपातकाल के विरोध में भी डटकर खड़े रहे। हमारे किसान भाई-बहनों के लिए उनका समर्पण भाव और इमरजेंसी के दौरान लोकतंत्र के लिए उनकी प्रतिबद्धता पूरे देश को प्रेरित करने वाली है।

पीएम मोदी ने कृषि क्रांति के जनक और वैज्ञानिक एमएस स्वामीनाथन को सम्मान की घोषणा करते हुए लिखा,”यह बेहद खुशी की बात है कि भारत सरकार कृषि और किसानों के कल्याण में हमारे देश में उनके उल्लेखनीय योगदान के लिए डॉ. एमएस स्वामीनाथन जी को भारत रत्न से सम्मानित कर रही है। उन्होंने चुनौतीपूर्ण समय के दौरान भारत को कृषि में आत्मनिर्भरता हासिल करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई और भारतीय कृषि को आधुनिक बनाने की दिशा में उत्कृष्ट प्रयास किए। हम एक अन्वेषक और संरक्षक के रूप में और कई छात्रों के बीच सीखने और अनुसंधान को प्रोत्साहित करने वाले उनके अमूल्य काम को भी पहचानते हैं। डॉ. स्वामीनाथन के दूरदर्शी नेतृत्व ने न केवल भारतीय कृषि को बदल दिया है बल्कि देश की खाद्य सुरक्षा और समृद्धि भी सुनिश्चित की है। वह ऐसे व्यक्ति थे जिन्हें मैं करीब से जानता था और मैं हमेशा उनकी अंतर्दृष्टि और इनपुट को महत्व देता था।”

यह भी देखे:-

G20 Summit: जी20 सम्मेलन के कौन होंगे मेहमान , जानें दिल्ली कितनी है तैयार
रोटरी क्लब ग्रीन ग्रेनों ने मनाया तीज महोत्सव
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ;  सेक्टर तीन के पार्कों को दुरुस्त करने के निर्देश
भारत में 160 दिनों में सबसे कम 25 हजार कोरोना के नए केस आए सामने
रोडवेज की बस ने बाइक सवार को रौंदा, मौत
Auto Expo 2020: ऑटो एक्सपो में इन पांच गाड़ियों को जरूर देखें
श्री चैतन्य टेक्नो स्कूल में हुआ कराटे चैंपियनशिप का आयोजन, गौतम बुद्ध नगर फर्स्ट पोजीशन रहा
वेस्ट मैटेरियल की टाइल्स से ग्रेटर नोएडा में बनेंगे फुटपाथ
अयोध्या में दीपोत्सव: जय श्रीराम के उद्घोष व शंखनाद के साथ रवाना हुई राम राज्याभिषेक शोभायात्रा
मैं से हम के साथ आईआईए के प्रथम ब्रेकफास्ट गोष्ठी का आयोजन
दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण: हर पांच में से चार परिवार स्वास्थ्य संबंधी समस्या से प्रभावित
विभिन्न सड़क हादसों में तीन की मौत
महिलाओं ने संभाली किसान धरना की कमान, बच्चों को नौकरी मुआवजा की रकम और प्लाट की मांग
India Corona Cases: पूरे देश में कोरोना के 44,658 नए मामले आए सामने
ग्रेनो प्राधिकरण ने 28 और बिल्डरों को भेजा नोटिस, एसटीपी नहीं तो लगेगा जुर्माना
मरते दम तक हक व सच की लड़ाई लड़ूंगा-- Navjot Singh Sidhu