लड़की बन विदेशी युवक खेल रहे हैं ठगी का खेल, एसटीएफ यूपी का बड़ा खुलासा, एक गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश : यूपी एसटीएफ ने नाइजीरियाई युवकों के एक ऐसे गैंग का भंडाफोड़ किया है जो फेसबुक पर लड़की का प्रोफ़ाइल बनाकर भारतीय युवकों को फांसने का काम करता था फिर उनसे लाखों रुपयों की ठगी को अंजाम देता था। इस गिरोह का जाल पूरे देश में फैला हुआ है। एसटीएफ को गिरोह के एक सदस्य को दिल्ली से गिरफ्तार करने में कामयाबी मिली है।

गिरफ्तार नाइजीरियाई की पहचान फ्रैक के रूप में हुई है। फिलहाल वो दिल्ली के विकासपुरी इलाके में रह रहा था। एसटीएफ को उससे
दो मोबाइल फोन (एक सेमसंग का बडा एवं एक सेमसंग का छोटा) बरामद हुआ है।

जानकारी के मुताबिक एसटीएफ को इसकी सूचना राजस्थान पुलिस से मिली थी। राजस्थान के शख्स ने मुकदमा दर्ज कराया था कि उसकी फेसबुक पर उसकी दोस्ती एक लड़की से हुई थी जिसने अपनी दोस्त रोजी उर्फ रोज के माध्यम से मुझसे यूएसए डालर देनेे के नाम पर एक लाख पचपन हजार रूपयो की ठगी की है। उक्त लड़की और कोई नहीं बल्क गिरफ्तार फ्रेंक ही था। इस ठगी में इस्तेमाल मोबाइल सिम जिला उन्नाव से रायबरेली के पते पर लिया गया था। पीड़ित ने अपने साथ हुई इस ठगी के सम्बन्ध में थाना देवली, जनपद टोंक, राजस्थान पर मु0अ0स0ं 244/17 धारा 420/406 भादवि व 66बी, सी0 आईटी एक्ट पर पंजीकृत करायाथा । राजस्थान पुलिस ने एसटीएफ उत्तरप्रदेश से संपर्क साधा और पूरी सूचना मुहैया कराई। जिसके बाद अभिषेक सिंह, एसएसपी , एसटीएफ लखनऊ के निर्देशानुसार त्रिवेणी सिंह अपर पुलिस अधीक्षक के निर्देशन मेें टीम गठित कर आवश्यक कार्यवाही की गयी । जब एसटीएफ ने जानकारी जुटाई तो पता चला कि आरोपी फ्रेक आज इसी मामले मेें अपने मित्र से मिलने दिल्ली मेें आयेगा । प्राप्त सूचना के उपरान्त एसटीएफ की साईबर क्राइम विंग, राजस्थान पुलिस को लेकर दिल्ली पहॅुच गयी और विकास पुरी दिल्ली थानाक्षेत्र से आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

पूछताछ मेें आरोपी नाइजेरियन फ्रेक ने बताया बताया कि वह और उनके कुछ साथी भारत मेें ही रहकर फेसबुक पर फर्जी आईडी बनाकर लोगो को मित्र बनाते हैं एवं फेसबुक मेसेंजर के जरिये ही चैट करते हैं ताकि लोगोे को शक न हो कि वो भारत से ही चैट कर रहे हैं। इसके अलावा आरोपी ने यह भी बताया कि वो लोग ज्यातादार बैंक एकाउन्ट नोर्थ इस्ट के लोगो के नाम पर ले लेते हैं क्योंकि उनका नाम विदेशियों से मिलताजुलता है। उनको शक न हो कि यह बातचीत एवं बैक एकाउन्टस किसी भारतीय के हैं । जिसका एकाउन्ट लेते हैं उसको 10 प्रतिशत कमीशन भी देते हैं और सारा पैसा एटीएम से तुरन्त निकाल लेते हैं। एटीएम से पैसा निकालते समय यह ध्यान देते है कि एटीएम मेें कैमरा न हो या एटीएम का कैमरा खराब हो। चेहरे पर कपडा भी ढक लेते है और हेमलेट भी लगा लेते है। इसी तरह से हम लोग फेसबुक के माध्यम से ही अपना टारगेट ढूढते है और इस तरह से हजारोे लोगोे को मैसिज करते रहते है। इनके द्वारा प्रयुक्त किये जा रहें चारो बैंकों के एकाउन्टस की डिटेल, फोन रिकार्ड, एवं फेसबुक मैसेजर के चैट डिटेल भी फेसबुक से मंगवाये जा रहें हैं। पूछताछ के दौरान यह बात संज्ञान मेें आयी हेै कि बहुत सारे नाईजीरियन इसी तरीके से सैकड़ों लोगोे को ठगी का शिकार बना रहें है और इसमें कुछ भारतीय लडकियों को भी कमीशन के आधार पर अपने नेटवर्क मेे रखे हुए है। उन्ही लडकियो से कभी आरबीआइ, कभी इन्कम टैक्स, कभी कस्टम आॅफिसर के नाम से फोन करवाकर तरह तरह के बहाने बनाकर पैसा बैंक खातोें मेें जमा कराते रहते हैं। इस पूरे नेटवर्क की छानबीन की जा रही है। आरोपी के विरूद्व अग्रिम विधिक कार्यवाही राजस्थान के थाना देवली द्वारा की जाएगी।

यह भी देखे:-

नोएडा : ईनामी बदमाश पुलिस एनकाउंटर में घायल
नाली के विवाद में खूनी संघर्ष, दो की हत्या
युवक पर चाकू से हमला, आईसीयू में भर्ती
कार्यालय में घुसकर पत्रकार पर जानलेवा हमला 
सैलरी पर वाहन चोरी कराने वाले गिरोह का पर्दाफाश, तीन गिरफ्तार
पुलिस एनकाउंटर में दो बदमाशों को लगी गोली , गिरफ्तार, एक सिपाही भी घायल
ग्रेटर नोएडा : इन 8 और भू-माफियाओं पर लगा गैंगस्टर
कोर्ट ने गिरफ्तार डीजीएम को भेजा जेल
मामूली कहासुनी में युवक को गोली मारी
चोरी के ऑटो के साथ पकड़े गए दो बदमाश
कासना पुलिस का खुलासा , घरवालों  ने गढ़ी थी बेटी के अपहरण की झूठी कहानी
ईकोटेक - 3 पुलिस ने दो वांटेड वारंटी को गिरफ्तार किया
डिजल- पेट्रोल चोरी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश, पांच गिरफ्तार
महिला कैब चालक की जलकर मौत, हत्या की आशंका
20 लाख की मांग पूरी न होने पर सोशल मीडिया पर फोटो किये वायरल
जश्न के दौरान भाइयों ने एक दूसरे पर चलाई गोली