जीएनआईओटी इंस्टीट्यूट में रक्तदान -अंगदान शिविर का आयोजन

ग्रेटर नोएडा: जी एन आई ओ टी इंस्टीट्यूट ऑफ प्रोफेशनल स्टडीज में सोशल क्लब द्वारा को एम्स हॉस्पिटल , नई दिल्ली एवं जिम्स हॉस्पिटल, ग्रेटर नॉएडा के सहयोग से रक्तदान एवं अंगदान जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया जिनमें लोगों ने स्वैच्छिक रक्तदान किया, जिम्स, ग्रेटर नॉएडा से आये डायरेक्टर ब्रिग. डॉ राकेश गुप्ता जी जी ने रक्तदाताओं को संबोधित करते हुए कहा कि रक्तदान महादान है। इससे बड़ा कोई पुण्य नहीं है। एक स्वस्थ व्यक्ति अपने शरीर को बिना किसी नुकसान के हर तीन महीने में रक्तदान कर सकता है। यह बहुत ही नेक काम है।

इस अवसर पर चेयरमैन डॉ राजेश कुमार गुप्ता जी ने एम्स, नई दिल्ली से आये ऑर्गन ट्रांसप्लांट कोऑर्डिनेटर, श्री बलराम जी , एवं जिम्स, ग्रेटर नॉएडा से आये सभी कार्यकर्ताओ के कार्यों की प्रशंसा करते हुए रक्तदान को अनमोल बताते हुए युवाओं से अधिक से अधिक संख्या में रक्तदान एवं अंगदान के लिए आगे आने की पहल करने की अपील की। साथ ही सभी कार्यकर्ताओ को उसके नेक कार्यों के लिए धन्यवाद दिया।

प्रिंसिपल, जी एन आई ओ टी इंस्टीट्यूट ऑफ प्रोफेशनल स्टडीज डॉ सविता मोहन ने कहा कि 18 से 60 वर्ष आयु का कोई भी स्वस्थ व्यक्ति रक्तदान कर सकता है। रक्तदान करने से किसी भी तरह की कोई कमजोरी नहीं आती है। रक्तदान से बड़ा कोई दान नहीं है, क्योंकि रक्तदान दूसरों को जीवनदान देता है। उन्होंने बताया कि रक्तदान के दौरान दिया गया खून 24 घंटे में बन जाता है। रक्तदान के समय रक्तदाता के खून की कई प्रमुख जांचे की जाती है, इससे अगर उसे कोई बीमारी है तो उसका भी पता चल जाता है। उन्होंने कहा कि भारत महिर्षि दधीचि जैसे ऋषियों का देश है, जिन्होंने एक कबूतर के प्राणों व असुरों से जन सामान्य की रक्षा के लिये अपना देहदान कर दिया था। भारत में प्रति वर्ष लाखों लोग अंग प्रत्यारोपण का इंतजार करते-करते मृत्यु को प्राप्त हो जाते हैं। इसका कारण मांग और दान किये गए अंगों की संख्या के बीच बड़ा अंतराल है।

अंगदान की मांग और आपूर्ति में बड़ा अंतर सांस्कृतिक मान्यताओं, पारंपरिक सोच और कर्मकाण्डों की वजह से है। ऐसे में डॉक्टरों, गैर-सरकारी संगठनों और समाज सेवियों को अंगदान के महत्त्व के प्रति लोगो को जागरूक करना चाहिये।

सुबह 8 बजे से दोपहर 3 बजे तक ग्रुप क़े सभी मैनेजमेंट मेंबर्स ,डायरेक्टर , शिक्षक एवं छात्रों ने अधिकतम संख्या मे रक्तदान किया । प्रत्येक रक्तदाता को जलपान और प्रमाण पत्र प्रदान किए गए ,इसे सफल बनाने के लिए, सभी शिक्षक एवं छात्रों द्वारा सुबह से ही जागरूकता अभियान चलाया गया और कृतज्ञता के भाव के रूप में लगभग 150 यूनिट बहुमूल्य रक्त प्राप्त किया गयI

यह भी देखे:-

कोरोना अपडेट: जानिए गौतमबुद्ध नगर का क्या है हाल, कोरोना के एक और मरीज ने दम  तोडा 
कोरोना तीसरी लहर : गृह मंत्रालय की चेतावनी, अक्टूबर में पीक पर होगा संक्रमण
ISPC क्लिनिक्स के नए फिजियोथेरेपी सेंटर का उद्घाटन
देश में पहली बार ड्रोन से की जाएगी दवाओं की डिलीवरी, इस राज्य ने शुरू किया प्रोजेक्ट 'मेडिसिन फ्रॉम ...
रोटरी क्लब ग्रीन ग्रेनो द्वारा लगाया गया रक्तदान शिविर
कोरोना : देश में थम रही रफ्तार, जानें क्‍या कहते हैं आंकड़े
कोरोना अपडेट: जानिए गौतमबुद्ध नगर का क्या है हाल
भारत विश्व गुरू बनने की राह पर अग्रसर, शारदा विवि में बोले केंद्रीय राज्य पर्यावरण मंत्री अश्विनी चौ...
संक्रमण के मामलों में फिर आया उछाल, 26 हजार के पार पहुंचे नए केस
CORONA UPDATE : जानिए गौतमबुद्ध नगर में क्या है हाल, जानिए 
वरिष्ठ मधुमेह रोग विशेषज्ञ डॉक्टर अमित गुप्ता डायबिटीज एक्सीलेंस अवार्ड से सम्मानित
जानिए, गौतमबुद्ध नगर का कोरोना अपडेट, 24  घंटे में  एक की मौत 
GIMS में "नशीले पदार्थों के दुरुपयोग और अवैध तस्करी के खिलाफ अंतर्राष्ट्रीय दिवस का आयोजन
प्रकाश अस्पताल में 300 से ज्यादा वरिष्ठ नागरिकों को लगी कॅरोना की वैक्सीन
यूपी: सुभासपा की नई रणनीति; क्या राजभर के इस कदम का समर्थन करेंगे अखिलेश?
यूपी: प्रदेश में कोरोना नियंत्रण में है पर ये अतिरिक्त सतर्कता बरतने का समय - मुख्यमंत्री योगी