श्रीराम मित्र मण्डल नोएडा रामलीला : लंका में अंगद ने जमाया पैर, असुरों के छूटे पसीने

नोएडा। श्रीराम मित्र मण्डल नोएडा रामलीला समिति द्वारा सेक्टर-62 के रामलीला मैदान में आयोजित श्रीरामलीला मंचन के अष्टम दिन मुख्य अतिथि राज्य सभा के पूर्व सेक्रेटरी जेनरल एवं उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्य सचिव योगेन्द्र नारायण, विशिष्ठ अतिथि उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्य सचिव दीपक सिंघल, गौतमबुद्धनगर के पूर्व जिलाधिकारी एन.पी.सिंह द्वारा संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलन कर रामलीला का शुभारंभ किया गया।  श्रीराम मित्र मंडल नोएडा रामलीला समिति के चेयरमैन उमाशंकर गर्ग, अध्यक्ष धर्मपाल गोयल एवं महासचिव मुन्ना कुमार शर्मा द्वारा मुख्य अतिथियों को स्मृति चिन्ह प्रदान कर और अंगवस्त्र ओढ़ाकर स्वागत किया गया। लंका दहन के पश्चात रावण दरबार में श्रीराम से युद्ध की नीतियों पर सभी दरबारी अपनी राय प्रस्तुत कर रहे थे। रावण द्वारा विभीषण से उनकी राय पूछी जाती है तो वह रावण से कहते हैं कि अब भी समय है तुम राम की शरण में चले जाओ रावण इस बात पर अत्यधिक क्रोधित हो जाता है और विभीषण को लात मारकर लंका से बाहर जाने का आदेश देता है। रावण के त्याग के पश्चात विभीषण श्रीराम की शरण में चले जाते हैं। अगले दृश्य में श्रीराम रामेश्वरम की स्थापना हेतु भगवान शिव की पूजा अर्चना करते हैं और तत्पश्चाल नल ओर नील द्वारा सेतु बंधन का कार्य प्रारंभ किया जाता है । नल ओर नील द्वारा श्रीराम का नाम लेकर फैंके गए पत्थर समुंदर में डूबते नही है। अंगद रावण से कहता है कि माता सीता को लौटा दो और प्रभु की शरण में आजाओं लेकिन अहंकार वश रावण अंगद का उपहास उड़ाता है । तब अंगद अपना पैर रोप कर कहते हैं‘‘जौं ममचरन सक हिंस ठटारी । फिरहिं रामुसीता मैं हारी।’’लेकिन कोई अंगद का पैर डिगा नहीं पाया । अंत में रावण उठता है और ज्योही अंगद का पैर पकड़ने उठता है अंगद कहते है कि अगर पैर पकड़ने हैं तो श्रीराम के पकड़ो । रावण लज्जित होता है और अंगद रामदल में पहुंच जाते हैं । श्रीराम सेना लंका में आक्रमण कर देती है । रावण अपने पुत्र मेघनाद को भेजता है । मेघनाद लक्ष्मण पर शक्ति से प्रहार करता है और लक्ष्मण मूर्छित हो जाते है । हनुमान जी सुषेन वैद्य को लाते हैं जो संजीवनी लाने को कहते हैं । हनुमान संजीवनी लेने जाते हैं जिसे देख दर्शक प्रसन्नता से झूम उठते हैं संजीवनी से लक्ष्मण की मूर्छा खुलती है। मीडिया प्रभारी मुकेश गुप्ता ने बताया कि 23 अक्टूबर को राम कुंभकरण युद्ध, कुंभकरण वध, लक्ष्मण द्वारा मेघनाथ का वध, सुलोचना संवाद, अहिरावण वध, युद्ध नृत्य आदि प्रसंगों का मंचन किया जायेगा। इस अवसर पर समिति के कोषाध्यक्ष राजेन्द्र गर्ग, सलाहकार मनोज शर्मा, सह-कोषाध्यक्ष अनिल गोयल, वरिष्ठ उपाध्यक्ष सतनारायण गोयल, राजकुमार गर्ग, चौधरी रविन्द्र सिंह, तरुणराज, पवन गोयल,मुकेश गोयल, बजरंग लाल गुप्ता, एस एम गुप्ता, अजीत चाहर, गौरव मेहरोत्रा, आत्माराम अग्रवाल, मुकेश अग्रवाल, मीडिया प्रभारी मुकेश गुप्ता, गिरिराज बहेडिया, शांतनु मित्तल, सुधीर पोरवाल, मोतीराम गुप्ता, अर्जुन अरोड़ा, आर के उप्रेती सहित श्रीराम मित्र मंडल नोएडा रामलीला समिति के सदस्यगण व शहर के गणमान्य व्यक्ति उपस्तिथ रहे।

यह भी देखे:-

श्री राम ने किया अहिल्या उद्धार पैर का स्पर्श पाकर शिला भी बन गई महिला
आदर्श रामलीला सूरजपुर में रामजन्म , झूम उठे दर्शक
श्रीराम मित्रमंडल राम लीला: रावण के साथ भ्रष्टाचार, आतंकवाद एवं महिला उत्पीड़न के पुतलों का दहन
श्री रामलीला कमेटी साईट - 4 : प्रभु राम के अग्निवाण से रावण कुम्भकरण और मेघनाद के पुतले का हुआ दहन,...
श्री रामलीला कमेटी साइट 4 रामलीला : राम ने खाए शबरी के झूठे बेर
श्रीराम मित्र मंडल रामलीला : शिव धनुष तोड़ सिया के हुए राम
श्री राममित्र मण्डल रामलीला, राजा जनक ने चलाया हल, सीता का हुआ जन्म, भाव विभोर हुए दर्शक
श्रीराम मित्र मंडल नोएडा सेक्टर 62 में रामलीला मंचन का शुभारंभ 26 सिंतबर से
किसान आंदोलन पर स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती ने कहा- प्रदर्शन करने वालों को भगवान सद्बुद्धि दे
आदर्श रामलीला सूरजपुर : भिक्षा की आड़ में माता सीता का हरण कर लंका ले गया रावण
श्रीराम मित्र मंडल नोएडा रामलीला मंचन : केवट संवाद, सुपर्णखा प्रसंग, खरदूषण वध का
श्रीराम मित्र मंडल रामलीला मंचन : रावण दरबार पहुंची शूर्पणखा ने किया विलाप
रबूपुरा रामलीला मंचन : राम को वनवास, भरत को मिला अयोध्या का राज
ग्रेटर नोएडा वेस्ट में आज रही राम बारात की धूम
आदर्श रामलीला सूरजपुर लंका दहन और पंचवटी की लीलाओं को देखकर दर्शक हुए मंत्रमुग्ध
कवि सम्मलेन के साथ आज शाम दशहरा महोत्सव का होगा आगाज