शारदा में नॉर्थ ईस्ट कल्चरल फेस्ट का आयोजन

ग्रेनो के नॉलेज पार्क स्थित शारदा विश्वविद्यालय में सोमवार देर शाम सातवें नॉर्थ ईस्ट कल्चरल फेस्ट बेलियेटस का आयोजन किया गया। इसमें एक मंच पर पूरे पूर्वोत्तर भारत की सांस्कृतिक छटा के रंग दिखे। आठ राज्यों के छात्रों ने पारंपरिक नृत्यों और पोशाकों से समां बांध दिया। विवि के आनंद स्वरूप ऑडिटोरियम में आयोजित कार्यक्रम नॉर्थ ईस्ट कल्चरल फेस्टिवल के छठे संस्करण में असम, अरुणाचल प्रदेश, मिजोरम मेघालय,त्रिपुरा, सिक्किम और नागालैंड के छात्रों ने शानदार अभिनय और कलाकारी से दर्शकों का मन मोह लिया। अरुणाचल प्रदेश के छात्रों ने पारंपरिक नृत्य कर दर नृत्य कर दर्शकों को झूमने पर मजबूर कर दिया। असम के छात्र और छात्राओं ने बीहू की प्रस्तुति देकर समां बांध दिया असम के कलाकारों ने जब परंपरागत पोशाक पहनकर पारंपरिक वाद्य यंत्रों की धुन पर खूबसूरत बिहू नृत्य पेश किया तो पूरा सदन तालियों से गूंज उठा।

इसके अलावा मिजोरम, त्रिपुरा, नागालैंड और सिक्किम के बच्चों ने भी लोकनृत्यों के जरिए परंपरा के रंग झलकाए। अरुणाचल के छात्र ने पारंपरिक कोरस डांस कर दर्शकों का दिल जीत लिया। चेरो नृत्य से मिजोरम के कलाकारों ने दर्शकों को ताली बजाने पर मजबूर कर दिया। इसमें 6 से 8 लोग साथ मिलकर बांस की सहायता से प्रस्तुति दी। इसके अलावा कश्मीर की छात्राओं ने भी पारंपरिक और बॉलीवुड के गानों पर डांस कर दर्शकों का मन मोह लिया।

यूनिवर्सिटी के वाईस चांसलर डॉ सिबाराम खारा ने कहा कि शारदा विवि में पूर्वोत्तर के इंद्रधनुषी रंग से बच्चों ने वहां की लोक कलाओं और संस्कृति को दर्शाया, हमें खुशी है कि हमारा कैंपस ऐसे आयोजनों से बच्चों की हौसला अफजाई करता है। नॉर्थ ईस्ट पहाड़, हरियाली और परंपराओं के लिए जाना जाता है। यहां के बच्चे न केवल देश में बल्कि वैश्विक स्तर पर अपनी परंपरा के बल पर लोगों का दिल जीतते आए हैं। पढाई के अलावा ऐसे कार्यक्रमों से छात्रों का सर्वांगीण विकास होता है। इस मौके पर सीनियर जॉर्नलिस्ट देबांग ने कहां की में यहां आकर बहुत खुश हूं। हमें नॉर्थ ईस्ट पर गर्व है। आप भारत का भविष्य है, नार्थ ईस्ट बहुत ही मुश्किल जगह से आते है। जहां सुविधा की कमी है। आप देश की सबसे अच्छी यूनिवर्सिटी में पढ़ रहे है।ने कहा कि मै इस कार्यक्रम का हिस्सा बन के खुश हूं। यह एक इंटरसेटिंग प्रोग्राम है। हमे नॉर्थ ईस्ट के लिए गर्व होना चाहिए और इस के कल्चर को बनाए रखना चाहिए। नॉर्थ ईस्ट के स्टूडेंट बेहद अलग और मेहनती होते है। यही नहीं हमे कभी कभी अन्य प्रकार की समस्याओं जैसे भाषा आदि फेस करना पढ़ता है।
इस मौके पर किरन रिजिजू के ओएसडी कोमजूम रिबा पत्रकार इंदरजीत राय, यूनिवर्सिटी के प्रो वाईस चांसलर परमानंद, डायरेक्टर पीआर डॉ अजीत कुमार आदि लोग मौजूद रहे।

यह भी देखे:-

मेधावी छात्रों ने NTPC दादरी में किया एक्सपोजर विजिट
19 और 20 दिसंबर को आयोजित होने वाली एकेटीयू की परीक्षाएं रद्द..
लॉयड कॉलेज में एचआर कॉन्क्लेव का आयोजन
एक्यूरेट इन्स्टीट्यूट : पालीटेक्निक के छात्र आयुष का अच्छे पैकेज पर चयन
जीएलबीआईएमआर में खेल प्रतियोगिता "एक्स्ट्रा वेगांज़ा-2023" का किया गया आयोजन
आर्मी इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड टेक्नोलॉजी, ग्रेटर नोएडा में सातवें अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का होग...
रेयान इंटरनेशनल में अंतर्राष्ट्रीय शिक्षा मेले का किया गया आयोजन
संकल्प सिद्ध करने में सबके प्रयास जरूरी- पीएम मोदी, कोविड वैक्सीन लाभार्थियों से बातचीत
मेगा जॉब फेयरः जी.एन. ग्रुप में खुला नौकरियों का पिटारा
दिव्यांग रिंकू प्रजापति मुढ़ी बकापुर के पुस्तकालय में पढ़ने वाले दर्जनों छात्रों के बने,सहारा
अंतोदय के सिद्धांत को अक्षरसः पालन करते हुए, सकारात्मक दृष्टिकोण के साथ भारत के विकास और समृद्धि के ...
ALMA- MUN COURSE RYAN INTERNATIONAL SCHOOL, GREATER NOIDA
दिल्ली के बाद ग्रेटर नोएडा के स्कूल भी बंद, वायु प्रदूषण पहुंचा खतरनाक स्तर पर
गौतमबुद्ध विश्वविद्यालय में एक दिवसीय स्वदेशी स्टार्टअप कार्यक्रम
मेहनत और लगन ही सफलता की कुंजी: प्रत्युष खरे
पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए एबीवीपी ने निकाला कैंडल मार्च