भारत की बेटी मानुषी छिल्लर को मिस वर्ल्ड 2017 ख़िताब

नई दिल्ली : भारत की मानुषी छिल्लर मिस वर्ल्ड बन गई हैं. मानुषी ये ख़िताब जीतने वाली छठी भारतीय सुंदरी हैं. चीन के सनाया सिटी एरेनम में आयोजित प्रतियोगिता में मानुषी ने 108 अन्य प्रतिभागियों को पछाड़कर ये ख़िताब जीता. 20 साल की मानुषी से पहले आख़िरी बार, 2000 में प्रियंका चोपड़ा बनी थीं मिस वर्ल्ड. 17 साल बाद मानुषी ने भारत के लिए ये करिश्मा कर दिखाया है. मिस वर्ल्ड बनने से पहले हरियाणा की मानुषी ने 2017 में मिस इंडिया का ख़िताब जीता था. मेडिकल स्टूडेंट मानुषी हेड टू हेड चैलेंज और ब्यूटी विद पर्पस सेगमेंट दोनों में अव्वल रहीं.

उनसे अंतिम सवाल ये पूछा गया था कि दुनिया में किस पेशे की सेलरी सबसे ज़्यादा होनी चाहिए और क्यों? मानुषी ने इसका बेहद ख़ूबसूरत सा जवाब दिया. उन्होंने कहा, “मेरी मां मेरी सबसे बड़ी प्रेरणा रही हैं. इसलिए मैं कह सकती हूं कि मां होने की जॉब सबसे बेहतरीन है. बात केवल पैसे की नहीं है, बल्कि प्यार और सम्मान के लिहाज, कोई भी मां सबसे ज़्यादा वेतन की हकदार होती है.”

पहले प्रयास में ही एआइपीएमटी चयन

मानुषी हरियाणा के झज्‍जर जिले के बहादुरगढ़ के गांव बामनौली निवासी डॉ. मित्रवसु की पुत्री हैं। फिलहाल उनका परिवार दिल्ली में रहता है। डॉ. मित्रवसु और उनकी पत्नी डॉ नीलम रोहतक पीजीआइ में चिकित्सक भी रह चुके हैं। दोनों के रोहतक पीजीआइ में कार्यरत रहने के दौरान ही 14 मई 1997 को मानुषी का जन्म हुआ।

पहले ही प्रयास में मानुषी ने एआइपीएमटी में चयन हुआ और उन्‍होंने सोनीपत के खानपुर कलां मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस में दा‍खिल लिया। खानपुर मेडिकल कॉलेज में ही उनकी चाची डॉ. ऊषा भी कार्यरत हैं। चाची के पास ही रहकर वह एमबीबीएस की पढ़ाई कर रही है।

मानुषी के चाचा डॉ. दिनेश छिल्लर ने बताया कि मानुषी की रुचि डांस, म्यूजिक और मॉडलिंग में थी। जब एमबीबीएस में दाखिला हुआ तो परिवार उसकी अन्य गतिविधियों का विरोध करने लगा, क्योंकि मेडिकल की पढ़ाई कठिन थी। इस पर मानुषी ने वादा किया तो उसकी अन्य गतिविधियों से पढ़ाई पर कोई असर नहीं पड़ेगा।

यह भी देखे:-

ग्रेटर नोएडा में IRF WORLD ROAD MEETING का शुभारंभ
धारा 370 निष्क्रिय:बौखलाया पाकिस्तान ने उठाए ये 7 कदम
जनकल्याण के हिसाब से बजट अभूतपूर्व है : गोपाल कृष्ण अग्रवाल
बजट 2018 : WIFI के लिए सरकार ने की घोषणा
चन्द्रयान2: चांद पर लैंडिंग से पहले विक्रम ने सिग्नल देना बन्द किया और फिर...
इच्छामृत्यु पर सुप्रीम कोर्ट का ऐतिहासिक फैसला
"जनता हमें पाकिस्तानी एजेंट मानने लगी है" - कांग्रेस नेता
नीदरलैंड देश में नहीं है एक भी कैदी, सभी जेल होंगी बंद
स्पोर्ट्स इंडिया अवार्ड 2019 में राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों को किया गया सम्मानित
Triple Talaq Bill 2019: पढ़िए, तीन तलाक बिल से जुड़ी 10 बातें
कैराना लोकसभा सीट:प्रदीप चौधरी और तबस्सुम हसन में होगी कांटे की टक्कर
यूपी योद्धा बेंगलुरु बुल्स को 45-33 से हराते हुए अपने होम लेग का किया अंत
जर्मन एजेंसियों के रडार पर था बर्लिन का हमलावर
क्या चिदम्बरम की गिरफ्तारी से कांग्रेस के पापों का घड़ा फूटेगा?
आदर्श आचार सहिंता लागू होते ही हटने लगे राजनीतिक होर्डिंग्स व पोस्टर
पत्रकार हत्याकांड में राम रहीम को मिली कठोर सजा, पढ़ें पूरी खबर