मल्टी लॉजिस्टिक हब व मल्टी ट्रांसपोर्ट के लिए जमीन मिलने का रास्ता साफ, जानिए ग्रेनो प्राधिकरण की 130 वीं बोर्ड बैठक के निर्णय

— एमएमटीएच व एमएमएलएच के लिए पूरी जमीन मिलने का रास्ता साफ

–चार गांवों के किसानों की परिसंपत्तियों का भुगतान करने पर बोर्ड ने लगाई मुहर
–44 हेक्टेयर जमीन मिलते ही दोनों प्रोजेक्टों की जमीन की जरूरत पूरी हो जाएगी

——————————
ग्रेटर नोएडा। ग्रेटर नोएडा की दो महत्वाकांक्षी परियोजनाओं मल्टी मॉडल लॉजिस्टक हब और मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्ट हब को अब पंख लग जाएंगे। इन दोनों परियोजनाओं के लिए जमीन की अड़चन अब खत्म हो जाएगी। इन दोनों परियोजनाओं के लिए चार गावों की 44 हेक्टेयर जमीन पर परिसंपत्तियों की कीमत अदा करने के लिए ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण तैयार हो गया है। मंगलवार को ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के चेयरमैन मनोज कुमार सिंह की अध्यक्षता में आयोजित 130 वीं बोर्ड बैठक में इस प्रस्ताव पर मुहर लग गई है। इस बोर्ड बैठक में औद्योगिक विकास विभाग के प्रमुख सचिव नरेंद्र भूषण, नोएडा- ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की सीईओ रितु माहेश्वरी, यमुना विकास प्राधिकरण के सीईओ डॉ अरुणवीर सिंह, ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ अमनदीप डुली व एसीईओ आनंद वर्धन समेत अन्य सदस्यगण शामिल हुए।

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की सीईओ रितु माहेश्वरी ने बताया कि मल्टी मॉडल लॉजिस्टक हब और मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्ट हब के लिए 14 गांवों की 478 हेक्टेयर जमीन की दरकार है, जिसमें से 83 हेक्टेयर को छोड़कर शेष जमीन पूर्व में ही प्राप्त कर ली गई है। ये 83 हेक्टेयर जमीन चिटेहरा, कठहेड़ा, बोड़ाकी व पल्ला गांव की है। हाल ही में इस 83 में से 39 हेक्टेयर जमीन और भी प्राप्त हो गई है। शेष 44 हेक्टेयर जमीन में किसानों की परिसंपत्तियां हैं। किसान इन परिसंपत्तियों की कीमत मांग रहे हैं, जिनकी वजह से से जमीन नहीं मिल पा रही थी और दोनों अहम परियोजनाएं आगे नहीं बढ़ पा रहीं थीं। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की सीईओ रितु माहेश्वरी की पहल पर ये प्रस्ताव बोर्ड के समक्ष रखा गया। बोर्ड ने इस पर अनुमति दे दी है। इन चार गांवों की 44 हेक्टेयर जमीन में स्थित परिसंपत्तियों की कीमत का आकलन किया गया, जिससे लगभग 66.76 करोड़ रुपये का खर्च प्राधिकरण पर आएगा। बता दें, कि किसानों की परिसंपत्तियों का भुगतान पर अब तक निर्णय न हो पाने के कारण इन दोनों परियोजनाओं के लिए जमीन नहीं मिल पा रही थी। लंबे समय से यह मसला अटका हुआ था। अब यह मसला सुलझ गया है और अब दोनों परियोजनाएं रफ्तार पकड़ सकेंगी। यह यहां के किसानों के लिए बड़ी उपलब्धि है।
—————
मल्टीमॉडल ट्रांसपोर्ट हब व लॉजिस्टिक हब पर एक नजर

बोड़ाकी के पास प्रस्तावित मल्टीमॉडल ट्रांसपोर्ट हब और मल्टीमॉडल लॉजिस्टिक हब के लिए 14 गांवों, दादरी, जुनपत, चिटेहरा, कठहेड़ा, पल्ला, पाली, बोड़ाकी, थापखेड़ा आदि की जमीन ली जा रही है। 478 हेक्टेयर जमीन पर ये दोनों प्रोजेक्ट विकसित किए जाएंगे। मल्टीमॉडल ट्रांसपोर्ट हब अंतर्गत रेलवे, बस अड्डा व मेट्रो कनेक्टिविटी विकसित की जाएगी। बोड़ाकी के पास ही रेलवे टर्मिनल बनाया जाएगा। इस पर रेलवे ने मंजूरी भी दे दी है। यहां से पूरब की ओर जाने वाली अधिकतर ट्रेनें चलेंगी। इससे दिल्ली, नई दिल्ली और आनंद विहार टर्मिनल पर ट्रेनों का दबाव कम होगा। ट्रांसपोर्ट हब में ही अंतर्राज्यीय बस अड्डा भी बनेगा। मौजूदा नोएडा-ग्रेनो मेट्रो रूट का विस्तार मल्टीमॉडल ट्रांसपोर्ट हब तक होना है। ट्रांसपोर्ट हब से लोकल बसें भी चलाई जाएंगी। वहीं, लॉजिस्टिक हब से उद्योगों के लिए माल ढुलाई की राह आसान हो जाएगी। नोएडा, ग्रेटर नोएडा व यमुना प्राधिकरण के उद्योगों की जरूरत को देखते हुए यह परियोजना बेहद अहम है। मुंबई, गुजरात आदि जगहों पर जाने में चार से पांच दिन लगता है, इसके शुरू होने के बाद माल डेढ़ दिन में पहुंच सकेगा। लॉजिस्टिक हब में वेयर हाउस भी बनेंगे।

यह भी देखे:-

दिल्ली में कोरोना बेकाबू: केजरीवाल बोले- रद्द हों सीबीएसई की परीक्षाएं, 24 घंटे में रिकॉर्ड 13500 सं...
उत्तर प्रदेश बजट 2019 : प्रस्तावित जेवर एयरपोर्ट के लिए सीएम योगी ने खोला खजाना
जानिए , सुबह 11:00 बजे तक जिला गौतम बुध नगर में मतदान प्रतिशत क्या रहा
गुजरात: अतीक अहमद से मिलने पर अड़े थे ओवैसी, प्रशासन ने अनुमति देने से किया इनकार
Nipah Virus : वायरस पर केरल सरकार हाई अलर्ट पर, 19 टीमों का किया गठन
जिला सैनिक बंधु समिति  बैठक 30 अप्रैल को 
कलाकार,साहित्यकार व पत्रकार , समाज को नई दिशा प्रदान करती है - विनोद तकिया वाला , स्वंतत्र पत्रकार
दिल्ली के उपचुनाव में जनता ने आप को "विजयश्री " का आर्शीवाद दिया - खबरी लाल 
Petrol Diesel Price: खुशखबरी नही बढ़े तेल के दाम,अब मिलेगी राहत
किसान एकता संघ हुई दो फाड़, इन पदाधिकारियों ने संगठन छोड़ा
जीएल बजाज ने लांच किया ईवी पर अनुसंधान और विकास के लिए ईवीएम सेंटर ऑफ एक्सिलेंस
PM का काशी दौरा : आगमन से पहले तैयारी परखने अाज आएंगे सीएम योगी, कार्यक्रम स्थलों का करेंगे निरीक्ष...
यमुना प्राधिकरण के सेक्टर 28 में 200 एकड़ में विकसित होगा फार्मूलेशन पार्क
YAMUNA AUTHORITY ने गुनपुरा के 73 किसानों को बांटा मुआवजा
ग्रेटर नोएडा की छात्रा ने "बाल काव्य प्रतियोगिता" में बढ़ाया जनपद का मान
Yamuna Authority: एयरपोर्ट के पास विकसित होगा हैबिटेट व इंडिया इंटरनेशनल सेंटर