ड्राइवर की एक नींद की झपकी से हुआ एक ऐसा हादसा

ग्रेटर नोएडा। कासना कोतवाली क्षेत्र के चूहड़पुर गांव के निकट लोहे की चादर लेकर जा रहे ट्राले में पीछे से ट्रक टकरा गया। हादसे में हेल्पर की मौत हो गई और चालक ट्रक छोड़कर भाग गया। पुलिस ने क्लीनर का शव पोस्टमॉर्टम को भेजकर जांच शुरू की है।

कासना कोतवाली पुलिस के मुताबिक, बुधवार तड़के यमुना एक्सप्रेसवे के चूहड़पुर अंडरपास से एक ट्राला लोहे की चादर लेकर गुजर रहा था। उसके पीछे एक ट्रक भी आ रहा था। बताया गया है कि सुबह लगभग पांच बजे ट्रक ने पीछे से ट्राले से टकरा गया। हादसे में ट्रक में सवार हेल्पर गंभीर रूप से घायल हो गया और ट्रक क्षतिग्रस्त हो गया। हादसे के बाद ट्रक चालक मौके से चला गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मौके पर पहुंचकर पड़ताल की लेकिन चालक के नहीं मिल पाने के कारण हेल्पर की पहचान नहीं हुई। कासना कोतवाली प्रभारी जितेंद्र कुमार ने बताया कि हेल्पर का शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। उसकी पहचान का प्रयास किया जा रहा है। अंदेशा है कि चालक को नींद की झपकी लगने के कारण हादसा हुआ।

यह भी देखे:-

मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना : मंत्रोच्चार और निकाहनामे के साथ निर्धन परिवार की कन्याओं का विवाह...
कैलाश मानसरोवर की यात्रा के लिए 1 लाख का मिलेगा अनुदान
74वें स्वतंत्रता दिवस से पूर्व प्रोफ़ेसर ने किया एक दिवसीय उपवास
यमुना प्राधिकरण की 67वीं बोर्ड बैठक संपन्न, जानिए क्या रहे महत्वपूर्ण निर्णय
साईट 4 रामलीला में आज होगा अद्भुत मंचन , देखने जरुर जाएं
ग्रेटर नोएडा में आज से 11 दिवसीय गणेशोत्सव 2017 का आगाज, सम्राट मिहिर भोज सिटी पार्क में रंगारग कार्...
मेरठ में राष्ट्रोदय कार्यक्रम में गौतमबुधनगर से 15 हज़ार स्वयं सेवक करेंगे शिरकत
पीड़ित परिवार को न्याय और सुरक्षा मुहैया कराना प्रदेश सरकार की जिम्मेदारी है : धीरेन्द्र सिंह
दादरी पुलिस ने बिछड़े हुए छात्र को परिजनों से मिलाया
जहांगीरपुर श्री रामायण मेला समिति की नई कार्यकारिणी गठित, सुरेंद्र शर्मा सरल बने अध्यक्ष
ड्रग विभाग की छापेमारी, बिना लाइसेंस के चल रहे मेडिकल स्टोर से जब्त की हज़ारों की दवाइयां 
ग्रेटर नोएडा प्रदूषण में आई गिरावट
एसएसपी /डीआइजी लव कुमार को दी गई विदाई
कच्ची शराब पर प्रतिबंध के उद्देश्य से आबकारी विभाग का अभियान जारी
बढ़ती जनसंख्या को लेकर उलटी पदयात्रा की
ओवरलोड वाहनों पर प्रतिबन्ध लगाने की मांग