ग्रेटर नोएडा में IRF WORLD ROAD MEETING का शुभारंभ

ग्रेटर नोएडा : केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी ने देश मे पहली आयोजित हो रही चार दिवसीय 18वें विश्व सड़क सम्मेलन जिसका शीर्षक है क्रॉसरोड डब्ल्यूआरएम 2017, में दुनियाभर के देशों में सड़क परिवहन और मोबिलिटी का उदघाटन किया।

सड़क सुरक्षा में सक्रिय 1000 ग्लोबल रोड सेफ्टी एक्सपर्ट, प्रोफेशनल्स, कंपनियां, सरकारी संगठन भाग लेंगे। दुनिया के 86 देशों तथा 6 महाद्वीपों में सुरक्षित सड़क और सुरक्षित मोबिलिटी को बढ़ावा देने के काम में लगी जेनेवा स्थित इंटरनेशनल रोड फेडरेशन (आईआरएफ) द्वारा आयोजित इस चार दिवसीय सड़क सम्मेलन का आयोजन कर रहा है। डब्ल्यूआरएम 2017 सुरक्षित सड़क और स्मार्ट मोबिलिटी, आर्थिक विकास के इंजन के थीम पर फोकस करेगा।

डब्ल्यूआरएम 2017 में भाग लेने वाले अन्य प्रमुख लोगों में , सुश्री एनी बर्नर, परिवहन मंत्री, फिनलैंड, श्री मार्क गारनेयू, परिवहन मंत्री, कनाडा, श्री डिटरीह एवगनी इवानोविच, फर्स्ट डिप्टी मिनिस्टर ऑफ ट्रांसपोर्ट ऑफ रशियन फेडरेशन, , श्री यूनूस खान, लोनिवि तथा परिवहन मंत्री, राजस्थान सरकार, श्री जीन टॉट, प्रेसीडेंट, एफआईए (फेडरेशन इंटरनेशनल ऑटोमोबाइल) तथा यूएन सेक्रेटरी जनरल के सड़क सुरक्षा के विशेष प्रतिनिधि, तथा श्री आरसी भार्गव, नॉन एग्जीक्यूटिव चेयरमैन, मारुति सुजुकी लिमिटेड शामिल होंगे।
श्री के के कपिला, चेयरमैन, इंटरनेशनल रोड फेडरेशन (आईआरएफ) ने कहा कि इंटरनेशनल रोड फेडरेशन (आईआरएफ) का क्रॉसरोड्स-डब्ल्यूआरएम इस क्षेत्र के अग्रणी लोगों, व्यवसायियों तथा संगठनों के बीच आइडिया के विस्तार को बढ़ावा देने का वैश्विक मंच है साथ ही हरेक के लिए मोबिलिटी को वास्तविक धरातल पर लाने हाईटेक कंपनियों, क्षेत्र के अग्रणी विशेषज्ञों तथा सरकारों को आपस में जोड़ने का काम करता है। डब्ल्यूआरएम में एक कांफ्रेंस तथा एक प्रदर्शनी, एक युवा प्रोफेशनल लैब तथा इनोवेशन कैफे शामिल होंगे तथा यहां दुनियाभर में मौजूद सर्वश्रेष्ठ रिसर्च, बेहतरीन प्रैक्टिसिज तथा अनुभवों को साझा करने का मौका मिलेगा और इसका उद्देश्य सड़क, परिवहन तथा मोबिलिटी सेक्टर के सामने मौजूद महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा के लिए एक प्रमुख ज्ञानदायक कार्यक्रम का मंच उपलब्ध कराना है।

सड़क परिवहन तथा राजमार्ग मंत्रालय, भारत सरकार ने डब्ल्यूआरएम 2017 को अपना समर्थन जारी किया है। मंत्रालय वर्ष 2020 तक देश में सड़क पर होने वाली मौतों को 50 फीसदी तक घटाने के लक्ष्य को हासिल करने के लिए सड़क सुरक्षा के लिए यूएन के डिकेड ऑफ एक्शन का हस्ताक्षरी होने के नाते इसके लिए वचनबद्ध है। सम्मेलन में बढ़ते वाहनों का ट्रैफिक प्रबंधन, प्रदूषण तथा सुरक्षा संबंधी मुद्दों के लिए समुचित हल खोजने के अलावा सेफ रोड मोबिलिटी पर भी चर्चा होगी जिसके लिए एक पूर्ण अधिवेशन होगा जिसमें उच्चस्तरीय संबोधन, 44 टेक्निकल सेशन, काफी बड़ी संख्या में विशेष सत्र, युवा प्रोफेशनल सेशन भी होंगे जिनमें 10 थीम्स पर तैयार काफी सारे विषयों पर चर्चा की जाएगी। डब्ल्यूआरएम 2017 के तहत 16 नवम्बर 2017 को कारपोरेट्स द्वारा फास्ट ट्रैक रोड सेफ्टी पर एक विशेष सत्र का आयोजन होगा जिसमें भारत के कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के चैम्बर्स के अध्यक्ष प्रमुखता से भाग लेंगे।

श्री कपिला ने कहा कि डब्ल्यूआरएम 2017 की प्रमुख बातों में एक विशेष प्रदर्शनी भी शामिल gS जिसमें सड़क सुरक्षा और ट्रैफिक नियमों पर विश्वस्तरीय तकनीकों को दिखाया जाएगा इसमें कंट्रोल सिस्टम, कम्यूनिकेशन तथा नेविगेशन डिवाइस, ड्राइवर ट्रेनिंग सिस्टम, इंटेलिजेंट ट्रांसपोर्ट सिस्टेम (आईटीएस), बैरियर्स, व्हीकल डिटेक्शन, स्पीड कैमरा, लाइसेंस प्लेट रिकगनिशन, व्हीकल क्लासिफिकेशन, फाइबर ऑप्टिक्स, रोड साइन्स, हाइवे इंफ्रास्ट्रक्चर, आधुनिक पार्किंग तकनीक, रोड बिल्डिंग, सड़क निर्माण तथा उपकरण, स्ट्रीट लाइटिंग, पार्किंग, पे एंड डिसप्ले, ट्रैफिक मैनेजमेंट, डिसप्ले सिस्टम, ट्रेफिक मॉनिटरिंग तथा ट्रेफिक कंट्रोल सिग्नलिंग शामिल होंगे।

यह भी देखे:-

'मुझे बेटे पर गर्व है, उम्मीद है वह सही सलामत वापस लौटेंगे' - विंग कमांडर अभिनंदन के पिता
PM मोदी को मिला सियोल शांति पुरस्‍कार, आतंकवाद के खिलाफ एकजुट होने का आह्वान
अयोध्या मामला: क्या जन्मस्थान एक न्यायिक व्यक्ति हो सकता है? - न्यायालय
जानिए- कैसा था अरुण जेटली का संपूर्ण जीवन
तीन तलाक पर सुप्रीमकोर्ट का निर्णय, मुस्लिम महिलाओं के लिए स्वाभिमान पूर्ण एवं समानता के एक नए युग ...
ममता बनर्जी ने मांगे पाक के ख़िलाफ़ सेना की #AirStrike के सबूत
2 जनवरी को आयोजित होने वाले युवा सम्मेलन को लेकर हाथरस में तैयारियां जोरों पर
UNCCD कॉप-14: ग्रेटर नोएडा में आयोजित 12 दिवसीय कार्यक्रम में 196 देशों के 3 हजार अंतरराष्ट्रीय प्र...
मंगल ग्रह के करीब पहुंचकर UAE ने रचा इतिहास, अंतरिक्ष यान होप ने Mars की कक्षा में किया प्रवेश
निर्भया के दोषियों को जल्द फांसी देने की अपील
पाकिस्तान की हिरासत में है वायुसेना का पायलट, भारत ने सुरक्षित लौटाने को कहा
GST COUNCIL ने मध्यम वर्ग को दी राहत , इन 177 वस्तुएं के दाम होंगे कम
भ्रष्टाचार में घिरे दो आईपीएस  खिलाफ सख्त कार्रवाई की सिफारिश
आनंद सिंह बने अखिल भारतीय स्नातक संघ एनआरआई विभाग के नेशनल कोऑर्डिनेटर
#RespectPractitioners:ये डॉक्टर-झोला छाप..
मौकापरस्त नेताओं को पर्यटन से पहले समझना होगा ,दलित उत्पीड़न है एक राष्ट्रीय समस्या