ट्रेन के आगे कूदकर युवक ने दी जान

ग्रेटर नोएडा : दादरी कोतवाली क्षेत्र के अजायबपुर रेलवे स्टेशन के करीब दिल्ली हावड़ा रेलमार्ग पर आज एक युवक की एक्सप्रेस ट्रैन की चपेट में आने से मौत हो गई। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि युवक ने ट्रैन के सामने कूदकर आत्महत्या की है। सूचना पाकर पुलिस और परिजन मौके पर पहुंच गई। परिजनों ने शव का पोस्टमार्टम कराने से इंकार कर दिया और गांव में शव का अंतिम संस्कार कर दिया।

दादरी कोतवाली क्षेत्र के घोड़ी बछैड़ा गांव के रहने वाले अमित कुमार दिल्ली स्थित एक निजी कम्पनी में नौकरी करता था। अमित सोमवार को घर से खेतों पर जाने के लिए बोलकर निकला था। इसी दौरान वह पास में ही स्थित अजायबपुर रेलवे स्टेशन पर पहुंच गया। रेलवे स्टेशन पर मौजूद लोगों के अनुसार वह तीन बजे एक एक्सप्रेस ट्रैन के सामने कूद गया। जिससे उसकी दर्दनाक मौत हो गई। बताया जा रहा है कि क्लेश के चलते वह पिछले कई दिनों से नौकरी नहीं जा रहा था। सूचना के बाद मौके पर पहुंचे परिजनों ने पुलिस से शव का पोस्टमार्टम कराने से इंकार कर दिया। दादरी एसएचओ रामसेन सिंह ने बताया कि परिजनों द्वारा पोस्टमार्टम कराने से इंकार करने पर शव उन्हें सौंप दिया। गांव में शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया।

यह भी देखे:-

कुछ बात है कि हस्ती मिटती नही हमारी, सदियों रहा है दुश्मन दौर-ए-जमां हमारा
ग्रेटर नोएडा (वेस्ट) - जब "सीईओ" को पता लगा कि बच्चों ने उनको बनाया "संता"...
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के प्रोजेक्ट विभाग में कई कर्मचारियों के तबादले
जुलाई में चलेगा "कोई मतदाता न छूटे" अभियान
एनटीपीसी दादरी: प्लास्टिक के दुष्परिणाम को लेकर चलाया अभियान
बेलगाम ट्रक ने ली बाईक सवार की जान
महिला सशक्तिकरण के लिए शिक्षा जरूरी: जितेंद्र बच्चन
शिक्षक दिवस : अपना जनहित समिति ने अध्यापकों को किया सम्मानित
सीआरपीएफ परिसर में लगा उमंग मेला, जवानों ने लिया मेले का आनंद
ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन ने डीएम से मुलाकात कर सौंपा ज्ञापन
दिल्ली में केंद्रीय मंत्री के ओएसडी से लूटी कार नोएडा में छोड़ भागे बदमाश
आमरण अनशन पर बैठे प्रवीण भारतीय को मिल रहा है समर्थन, अधिकारीयों ने नहीं ली सुध
नोएडा-ग्रेटर नोएडा में भी दिखा SC ,ST ACT बदलाव का विरोध, बसों में तोड़फोड़, रोड पर लगाया जाम
सुनील नागर बने भाकीयू के जिला मीडिया प्रभारी
प्रधान का शव संदिग्ध परिस्थिति में पेड़ से लटका मिला
अमर शहीदों के सम्मान के लिए दीप शहीदों के नाम