एचसीएल फाउंडेशन ने ”नन्हे परिंदे” पहल के तहत गौतम बुद्ध नगर पुलिस आयुक्तालय के साथ अपनी साझेदारी का विस्तार किया

पांच और मल्टी डाइमेंशनल मोबाइल क्लासरूम्स की स्थापना करना

एचसीएल टेक की, कॉर्पोरेट सोशल रिसपोंसिबिलिटी (सीएसआर) शाखा एचसीएल फाउंडेशन ने, ‘नन्हे परिंदे’ पहल के अंतर्गत पांच और मल्टी डाइमेंशनल मोबाइल क्लासरूम्स की स्थापना करके गौतम बुद्ध नगर पुलिस आयुक्तालय और एनजीओ पार्टनर चेतना के साथ अपनी साझेदारी का विस्तार किया है, जो समाज में स्कूल की पढ़ाई अधूरी छोड़ने की दर और किशोर अपराध की दर को कम करने की दिशा में एक प्रयास है ।

· ‘नन्हे परिंदे’ एचसीएल फाउंडेशन के अर्बन फ्लैगशिप प्रोग्राम उदय की एक पहल है, जिसके माध्यम से वर्तमान में गौतम बुद्ध नगर क्षेत्र में छह मोबाइल वैन चल रही हैं। मोबाइल वैन बच्चों को गणित और विज्ञान, अंग्रेजी भाषा कौशल, कला पाठ और डिजिटल साक्षरता प्राप्त करने में अकादमिक सहायता प्रदान करेगी। उनसे बच्चों को खेलकूद और मनोरंजन के अवसर भी प्रदान होंगे जिससे समाज में स्कूल की पढ़ाई अधूरी छोड़ने की दर और किशोर अपराध की दर को कम करने में मदद मिलेगी।
· इस पहल के लिए एचसीएल फाउंडेशन और गौतम बुद्ध नगर पुलिस आयुक्तालय के बीच पांच साल की अवधि के लिए मेमोरेंडम ऑफ़ अंडरस्टैंडिंग (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए गए। राम बदन सिंह (आईपीएस), डीसीपी मुख्यालय, जीबी नगर पुलिस आयुक्तालय, और डॉ. निधि पुंढीर, उपाध्यक्ष, ग्लोबल सीएसआर, एचसीएल फाउंडेशन ने एमओयू पर हस्ताक्षर किए। भारती सिंह, अति. सीपी (मुख्यालय), जीबी नगर पुलिस आयुक्तालय ने डॉ. पुंढीर और चेतना के निदेशक, संजय गुप्ता की उपस्थिति में इस पहल का शुभारम्भ किया।

· अपनी स्थापना के बाद से, एचसीएल फाउंडेशन की, जो बच्चों के समग्र विकास के लिए सुरक्षित स्थान प्रदान करता है, पहुँच पूरे भारत में नौ लाख बच्चों और गौतम बुद्ध नगर में 60,000 बच्चों तक हो गई है, ।
· मोबाइल क्लासरूम आधुनिक सुविधाओं जैसे एलसीडी स्क्रीन, साउंड सिस्टम, सीसीटीवी कैमरे और सेफ्टी और सिक्यूरिटी के लिए जीपीएस, शैक्षणिक सामग्री, एक प्राथमिक चिकित्सा बॉक्स, स्वच्छता सुविधाओं और हैण्डवाशिंग स्टेशन से सुसज्जित हैं ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि छात्रों तक उच्च गुणवत्ता वाली शिक्षा पहुंच सके और वे निरंतर शारीरिक और मानसिक विकास के अवसर प्राप्त कर सकें।

· स्थानीय पुलिस स्टेशन के सहयोग के द्वारा, प्रत्येक वैन को प्रतिदिन 50-60 बच्चों तक पहुंचने की उम्मीद है।
· यह कार्यक्रम महत्वपूर्ण अवसरों पर आयोजित किये जाने वाले कार्यक्रमों के द्वारा समाज और पर्यावरण के प्रति जागरूकता बढ़ाने में मदद करेगा, साथ ही मार्गदर्शन, सलाह और सुरक्षित बुनियादी ढांचा प्रदान भी करेगा ताकि बच्चों का समग्र विकास हो सके।
· शैक्षणिक सहायता के साथ ही, मोबाइल क्लासरूम चयनित छात्रों को खेल प्रशिक्षण प्रदान करेगा और बाल संरक्षण के मुद्दों पर नियमित प्रशिक्षण आयोजित करेगा और साथ ही साथ चाइल्ड राइट्स मॉडल पर आधारित बाल संसद का गठन भी करेगा।
· इन कक्षाओं में परामर्श सत्र, नियमित स्वास्थ्य जाँच, और जेंडर, समावेशन और आत्मरक्षा प्रशिक्षण पर सत्र भी आयोजित किये जायेंगे ।
· जनवरी 2021 से, ‘नन्हे परिंदे’ ने स्कूल न जाने वाले और स्कूल बीच में ही छोड़ने वाले 2,124 बच्चों को वैकल्पिक शिक्षा प्रणाली प्रदान की है। इन बच्चों को इस कार्यक्रम के माध्यम से 64,826 पौष्टिक भोजन प्राप्त हुए हैं। निरंतर जुड़ाव के माध्यम से, समाज के करीब 2,407 सदस्यों को ‘नन्हे परिंदे’ और इसके उद्देश्यों के बारे में सूचित किया गया और उन्हें इसके बारे में जागरूक किया गया है।
· इसके अतिरिक्त, सड़कों पर रहने वाले 339 स्कूली बच्चों को औपचारिक शिक्षा प्रणाली में एकीकृत किया गया है, सड़कों पर रहने वाले 259 बच्चों को स्कूलों में नामांकित किया गया है और 80 बच्चों का ओबीई (ओपन बेसिक एजुकेशन) श्रेणी के तहत नामांकन किया गया है।
· सन 2002 से, एचसीएलएफ के एनजीओ पार्टनर चाइल्डहुड एनहांसमेंट थ्रू ट्रेनिंग एंड एक्शन (चेतना) ने शिक्षा के माध्यम से सड़कों पर रहने वाले बच्चों को सशक्त बनाने के लिए काम किया है और यह कार्यक्रम का इम्प्लीमेंटेशन पार्टनर भी है। एक अत्यंत कुशल टीम निर्दिष्ट स्थानों की यात्रा करेगी, जिसमें एक महिला चालक, कम्युनिटी मोबिलाईज़र और शिक्षक शामिल हैं ।

· “ सभी के लिए शिक्षा उपलब्ध कराना बहुत आवश्यक है। जीवन-कौशल-आधारित शिक्षा व्यापक रूप से देकर और सामूहिक सामाजिक कार्य को बढ़ावा देकर वंचित समुदायों के युवाओं को सशक्त बनाने में मदद मिलेगी। नन्हे परिंदे पहल के द्वाराइस कार्य को समर्थन और शक्ति प्रदान करने के लिए एचसीएल फाउंडेशन के हम बहुत आभारी हैं। युवा प्रतिभाओं को अपने करियर के लक्ष्यों की ओर आगे

बढ़ाने में मदद करना हमारी जिम्मेदारी है, ताकि वे राष्ट्र के लिए योगदान दे सकें, ” लक्ष्मी सिंह, पुलिस आयुक्त, गौतम बौद्ध नगर ने कहा।

· “हमारी साझेदारी का विस्तार नन्हे परिंदे पहल की सफलता को रेखांकित करता है। हम वंचित और मुख्यधारा के छात्रों के बीच की खाई को पाटने के लिए प्रतिबद्ध हैं ताकि सभी बच्चों तक शिक्षा समान रूप से पहुंचे । हम बदलते समय के साथ चलने के लिए शिक्षा में उन्नत तकनीक का उपयोग करके वंचितों के लिए सीखने का बेहतर माहौल प्रदान करना जारी रखेंगे, ” ग्लोबल सीएसआर, एचसीएल फाउंडेशन के उपाध्यक्ष डॉ. निधि पुंधीर ने कहा।

यह भी देखे:-

हैबतपुर में अवैध निर्माण पर चला ग्रेनो प्राधिकरण का बुल्डोजर
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण साल 2022 की उपलब्धियां और लक्ष्य
पांच दिवसीय भारत जल सप्ताह का समापन, उपराष्ट्रपति धनखड़ बोले समापन संकल्प की शुरुआत है
भारतीय किसान यूनियन अंबावता ने क्षेत्रीय किसानों की समस्याओं को लेकर की यमुना प्राधिकरण में बैठक
जिले में सिर्फ ग्रीन पटाखे बेचने की इजाजत
सीईओ ने रेल विहार से किया थैला बैंक का शुभारंभ, कहा  प्लास्टिक मुक्त ग्रेटर नोएडा के लिए जन सहयोग जर...
संस्कृति और तकनीकी का मिश्रण होगा ग्रेटर नोएडा कार्निवाल 2020
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने अपने आवंटियों को दी राहत, पेनाल्टी विलम्ब शुल्क में छूट
ट्रक ओवरलोडिंग उल्लंघन करने वाले वाहनों पर हो सख्त कार्यवाही : प्रिंस भारद्वाज 
99 प्रतिसत रहा दसवी का परिणाम
सपा ने मोरना गांव में अलाव पर किसानों से किया संवाद 
दादरी रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर सम्राट मिहिर भोज किया जाये - जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह, रेल मंत्री ...
एसीईओ ने चार्ज संभाला, सीएंडडी वेस्ट प्लांट के निर्माण की धीमी गति पर जताई नाराजगी
UNCCD कॉप-14: ग्रेटर नोएडा में आयोजित 12 दिवसीय कार्यक्रम में 196 देशों के 3 हजार अंतरराष्ट्रीय प्र...
हॉस्पिटल एकादश बना T-10 क्रिकेट टूर्नामेंट का विजेता, 28 दिसंबर को ग्रेनो प्रेस क्लब से होगा मुकाबला
घरेलू सिलिंडर फटा, दो की मौत