नोएडा पुलिस के हत्थे चढ़े फर्जी एसटीएफ अधिकारी, जानिए इनकी काली करतूत

नोएडा : यहाँ की सेक्टर – 20 पुलिस ने फर्जी एसटीएफ टीम बनाकर झूठे मुक़दमे में फंसाने की धमकी देकर बदमाशों ने सेक्टर 10 स्थित कंपनी मालिक से डेढ़ लाख रुपये ऐंठ लिए थे। आरोपी फिर से फोन कर आठ लाख रुपये की मांग कर रहे थे। शिकायत की जांच के आधार पर कोतवाली सेक्टर 20 पुलिस ने तीन युवकों को गिरफ्तार कर पूरे मामले का पर्दाफाश किया है।

आरोपियों की पहचान शुभम निवासी आजमपुर बागपत, अंकित निवासी नवीननगर सहारनपुर और अभिराज त्यागी निवासी मोदीनगर गाजियाबाद के रूप में हुई। अंकित बीकॉम व अभिराज बीबीए पास है। आरोपियों के पास से कंपनी का तीन लैपटाप, एक आई पैड और तीन मोबाइल पुलिस ने बरामद किया है। एसपी सिटी अरूण कुमार सिंह ने कहा कि आरोपी अंकित गैंग का सरगना है। 27 मई को गिरफ्तार आरोपी एक अन्य युवक के साथ सेक्टर 10 स्थित एक कंपनी में पहुंचे थे। कंपनी मालिक राहुल तिवारी ने पुलिस को शिकायत दी कि एक वर्दीधारी सहित चार युवक उनकी कंपनी में जबरन प्रवेश कर खुद को एसटीएफ अफसर बताया। उन्होंने कहा कि कंपनी की एसटीएफ द्वारा जांच चल रही है। धमकी दी कि जांच में क्लीन चिट चाहते हो तो आठ लाख रुपये दे दो। ऐसा नहीं करने पर जांच में फंसाकर केस लिखा जाएगा और कंपनी बंद हो जाएगी। फाइल लखनऊ जाएगी और फिर वहां से मुरादाबाद। मुरादाबाद फाइल पहुंचने के बाद केस उन लोगों के हाथ से निकल जाएगा।

एसपी सिटी ने दावा किया कि इन आरोपियों ने कंपनी मालिक को डरा धमका कर कंपनी से दो लैपटाप, एक सर्वर, एक आईपैड सहित अन्य सामान जबरदस्ती उठा ले गए। आरोप है कि कंपनी मालिक को साथ ले जाकर आरोपियों ने सेक्टर 11 स्थित एक एटीएम से डेढ़ लाख रुपये भी निकलवा लिए थे। इसके बाद भी आरोपी फोन कर आठ लाख रुपये की डिमांड कर रहे थे। शिकायत के आधार पर केस दर्ज हुआ और फिर जांच के आधार पर इनकी गिरफ्तारी हुई।

आरोपियों ने पुलिस को बताया लेनदेन का विवाद :

एसपी सिटी अरूण कुमार सिंह ने बताया कि आरोपी पूछताछ में बता रहे हैं कि कंपनी से उनका लेनदेन का विवाद है। उन्होंने कंपनी के लिए काम किया है, लेकिन पेमेंट करने के बजाय उन्हें फंसाया गया है। हालांकि जांच में इस प्रकार के तथ्य सामने नहीं आए हैं। वहीं कंपनी मालिक ने भी किसी भी प्रकार का काम इनसे कराने की बात से इन्कार किया है। वर्दी में कौन था यह भी साफ नहीं हुआ है। एसपी सिटी ने कहा कि फोन पर कंपनी मालिक को धमकाया गया है। उसकी रिकार्डिग मौजूद है। रिकार्डिग में प्रतीत हो रहा है कि धमकी देकर पैसे मांगे जा रहे थे। आवाज की एफएसएल जांच भी होगी।

सर्विलांस सेल के नंबर से मिलते जुलते नंबर से आता था फोन :

एसपी सिटी ने बताया कि जब आरोपी फोन करते थे वह नंबर सर्विलांस सेल के नंबर से मिलता जुलता नंबर दिखता था। आरोपी किसी अन्य देश से नंबर लेकर इस प्रकार कर फर्जीवाड़ा कर रहे थे। जिससे फोन करने पर सर्विलांस सेल की नंबर से मिलता जुलता दिखे। साइबर सेल इसकी जांच कर रही है कि आखिर यह कैसे हुआ है। एसपी सिटी ने दावा किया कि इन आरोपियों का एसटीएफ या पुलिस विभाग से दूर-दूर तक कोई जुड़ाव नहीं है।

यह भी देखे:-

नाबालिग के साथ रेप मामले में मुकदमा दर्ज, आरोपियों को तलाश रही पुलिस
नहीं थम रहा है हाइवे पर लूट का सिलसिला , कार सवार बदमाशों ने की लूट
सिपाही के इस हरकत की विडियो सोशल मीडिया पर वायरल, सस्पेंड
अफ़्रीकी मूल के चार युवकों ने लूटी कैब, ड्राइवर से की मारपीट
दिन में काम और रात में चोरी, कुछ ऐसा था इन बदमाशों के रोजमर्रा का काम
हथियारबंद बदमाशों ने दो ट्रक चालकों को लूटा
कोर्ट ने गिरफ्तार डीजीएम को भेजा जेल
एडवोकेट ने किया अपने ही खून का क़त्ल
दनकौर पुलिस के हत्थे चढ़ा अवैध शराब चरस सप्लायर
पैसे की खातिर माँ ने किया रिश्ते का खून
दो अवैध शराब की बिक्री करते हुए गिरफ्तार
दहेज़ के लिए दो विवहिताओं को जलाकर मार डालने का आरोप , मुकदमा दर्ज
दादरी पुलिस के हत्थे चढ़े सरिया लूटेरे , लाखों के लूट का सरिया बरामद
पुलिस बदमाशों के बीच मुठभेड़ में एक बदमाश घायल, तीन गिरफ्तार
भाजपा के खिलाफ कांग्रेस का पोल खोल अभियान
सूरजपुर पुलिस के हत्थे चढ़ा लूटेरा