ग्रेटर नोएडा महापर्व छठ पूजा को लेकर उत्साह ,आज शाम दिया जाएगा अस्त होते सूर्य को पहला अर्घ्य, जानिये शुभ मुहूर्त और विधि

ग्रेटर नोएडा : छठ पूजा भगवान सूर्य की उपासना एकमात्र महापर्व है जिसमे उगते और डूबते सूर्य को अर्घ्य दिया जाता है। कल खरना के बाद व्रतियों का 36 घंटे तक निर्जला व्रत शुरू हो गया है। पहला अर्घ्य आज अस्त होते सूरज को दिया जाएगा। आज षष्ठी के दिन व्रती नदी तालाब पोखर के जल में उतरकर डूबते सूरज को अर्घ्य देंगे।

क्षेत्र में भी छठ पूजा की तैयारी जोरों पर है। जगह-जगह छठ पूजा के लिए घाट बनाये गए है। बता दें शहर में बड़ी तादात में पूर्वांचल और बिहार के लोग रहते है। छठ पूजा पूर्वांचल और बिहार कला प्रमुख योहार माना जाता है।

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने ग्रेटर नोएडा में छठ पूजा पर विभिन्न जगहों पर घाट बनाकर उचित व्यवस्था की है। प्राधिकरण द्वारा आईईसी कॉलेज के सामने पार्क , ईटा – 1 पार्क , डेल्टा – 1 पाम पार्क , ओमीक्रोम 1, पी- 3 सेक्टर में व्यवस्था किया गया हैं। शिव मंदिर सेवा समिति ने सूरजपुर के बाराही देवी मंदिर परिसर में स्थित चमत्कारी तालाब में छठ पूजा घाट बनाया है। हजारों की संख्या में श्रद्धालु यहाँ जुटेंगे। इसके अलावा कुलेसरा और कासना में भी छठ घाट बनाये गए हैं।

आईईसी कालेज के पास छठ पूजा सेवा समिति द्वारा भोजपुरी कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। समिति के प्रवक्ता अलोक सिंह ने बताया आज शाम 5 बजे से बालचंद यादव और सुमन भारती द्वारा रंगारंग भोजपुरी कार्यक्रम प्रस्तुत किया जायेगा।

पूर्वांचल बिहार वेलफेयर सोसाइटी के संयोजक सुनील उपाध्याय ने बताया आईईसी कालेज और ईटा – 1 सेक्टर में घाट बनाये गए हैं। सभी के सहूलियत के लिए पदाधकारी मौजूद रहेंगे।

शिव मंदिर सेवा समिति के महासचिव ओमवीर बैंसला ने बताया बाराही सर्वर छठ पूजा के लिए सज कर तैयार है।

ग्रेटर नोएडा में पुर्वांचल और बिहार के लोग बड़ी सांख्य में रहते है और आस्था के इस पर्व छठ पूजा को बड़े ही धूम धाम से बनाते है। श्रद्धालु व्रत रख कर पानी में खड़े होकर सूर्य देवता को जल अर्पित करते है।

सायंकालीन अर्घ्य- 26 अक्टूबर (गुरुवार)

सायंकालीन अर्घ्य का समय :- सांय काल 05:40 बजे से शुरू

अर्घ्य कैसे दें

बांस के सूप में फल रखकर उसे पीले कपड़े से ढ़क दें और डूबते सूरज को तीन बार अर्घ्य दें. तांबे के बर्तन में जल भरें, इसमें लाल चंदन, कुमकुम और लाल रंग का फूल डालें. सूर्योदय के समय पूर्व की दिशा में मुंह करके अर्घ्य दें. अपने सिर की ऊंचाई के बराबर तांबे के पात्र को ले जाकर सूर्य मंत्र का जाप करें.

यह भी देखे:-

जहांगीरपुर कस्बे में निकाली मां काली की शोभयात्रा
ग्रेटर नोएडा : दनकौर,जेवर, दादरी के ईदगाहों में अदा की गई ईद-उल-अजहा की नमाज
आज का पंचांग , 25 अगस्त 2020, जानिए शुभ एवं अशुभ मुहूर्त 
राम भक्तिमय हुई रावण जन्म स्थली बिसरख धाम
आज का पंचांग, 14 अक्टूबर 2020, जानिए शुभ एवं अशुभ मुहूर्त
गौतमबुद्ध नगर पुलिस लाइन में आयोजित हुआ जन्माष्टमी महोत्सव
आज का पंचांग, 25 सितम्बर 2020, जानिए शुभ एवं अशुभ मुहूर्त 
नोएडा : पूर्वांचल मित्र मंडल छठ पूजा समिति ने शुरू की छठ महापर्व की तैयारी
ग्रेटर नोएडा : क्रिसमस का जश्न, प्रार्थना सभा के लिए सेंट जोसफ चर्च सज कर तैयार
हनुमान जी के सामान कोई बलशाली नहीं ...
करवा चौथ: चाँद देखकर सुहागिनों ने खोला व्रत, माँगा अखंड सौभाग्य
आज का पंचांग, 5 जानिए  शुभ एवं अशुभ मुहूर्त 
शरद पूर्णिमा पर विशेष, सुख समृद्धि के लिए राशि अनुसार करे ये उपाय
सूरजपुर बाराही सरोवर में हज़ारों छठ व्रतियों ने डूबते सूर्य को दिया अर्ध्य
जानिए क्या होता है मलमास,कब होता है आरम्भ, बता रहे हैं पं. मूर्तिराम आनन्द बर्द्धन नौटियाल
आज का पंचांग, 16 नवंबर 2020 , जानिए शुभ एवं अशुभ मुहूर्त