छेड़छाड़ से तंग होकर शिक्षिका ने खाया सल्फास

ग्रेटर नोएडा : नॉलेज पार्कथाना क्षेत्र में स्थित एक कॉलेज में कार्यरत शिक्षिका ने निदेशक पर संगीन आरोप लगाए है। उसका आरोप है कि ऊंची पहुंच होने की वजह से पुलिस भी कोई कार्यवाही बही कर रही है। छेड़छाड़ से परेशान शिक्षिका ने आज दोपहर जहरीला पदार्थ खा लिया। आनन-फानन में उसे निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहां उसका उपचार चल रहा है।

पीड़िता का आरोप है कि कॉलेज निदेशक उसकी तीन महीने से सैलरी नहीं दे रहा है। सैलरी मांगने पर उसके साथ छेड़छाड़ करता है। महिला ग्रेटर नोएडा में अकेली रहती है, इस वजह से आरोपी निदेशक पीड़िता पर शारीरिक संबंध बनाने का दबाव बना रहा है।

पीड़िता की हालत अब खतरे से बाहर बताई जा रही है। पीड़िता ने जहर खाने से पहले एक पत्र भी लिखा है, जिसमें उसने कहा है कि उसकी मौत के बाद कॉलेज निदेशक पर उचित कार्रवाई की जाए।
एसएचओ नॉलेजपार्क हंसराज भदौरिया ने बताया
सूचना पर पुलिस मौके पर गई थी। कॉलेज प्रबंधन मामले को आपसी विवाद बता रहा है। पीड़िता ने मामले में किसी तरह की लिखित शिकायत नहीं दी है। कॉलेज प्रबंधन को बता दिया गया है कि शिक्षिका के वेतन का जल्द भुगतान करें।

यह भी देखे:-

HAPPY NEW YEAR 2018 - BY GRENONEWS TEAM
ग्रेटर नोएडा में होगा राष्ट्रीय संगीत सम्मलेन , देश भर के 300 संगीतकार व कलाकार होंगे शामिल
इन जगहों पर बनाया जा रहा है आधार कार्ड
पत्नी की चाकू से गोदकर की गयी हत्या का खुलासा
मूलभूत सुविधाओं से मरहूम है ग्रेटर नोएडा के औद्योगिक क्षेत्र : आईआईए
गेटर नोएडा प्राधिकरण में हुई बैठक में किसानों व आवंटियों के सम्बन्ध में लिए गए ये निर्णय
दर्दनाक: खूनी कैंटर ने पुत्र की ली जान , पिता घायल
शारदा विश्वविद्यालय मतदान केंद्र में वोटरों के सहूलियत के लिए खास प्रबंध
ज्ञानेंद्र सिंह आर्य बने आर्य प्रतिनिधि सभा उत्तर प्रदेश के नए महामंत्री
सर्वेन्ट क्वाटर में घरेलु सहायिका ने लगाई फांसी
दर्दनाक : खूनी ट्रक ने ली बाइक से जा रहे माँ-बच्चे की जान
कोरोना संकट: चिरौली गाँव के ग्रामीणों का सराहनीय कार्य, मदद के लिए प्रशासन को दिए 1 लाख 1 हज़ार रूपये
सराहनीय, LOCK DOWN में जरुरतमंदों की मदद के लिए तमाम महिला संगठन एक साथ
घायल की मदद करना पड़ा गया महंगा, मददगार उलटे पहुँच गया ....
राज्य महिला आयोग अध्यक्षा बिमला बोथम ने की जनसुनवाई, कहा महिला उत्पीड़न पर त्वरित कार्रवाई
ठंडी रात में भी ग्रेनो प्राधिकरण पर लगातार अनशन पर बैठे हुए हैं प्रवीण भारतीय, जानिए क्यों