प्रेम-प्रसंग के चलते युवती को अगवा कर हत्या

ग्रेटर नोएडा। गाजियाबाद से एक युवती को अगवा करके पांच लोगों ने उसकी हत्या कर शव को गलगोटिया यूनिवर्सिटी के पास यमुना एक्सप्रेस-वे पर फेंक दिया। यह हत्या प्रेम प्रसंग को लेकर होनी बतायी जाती है। इस मामले में मृतका के पिता ने पांच लोगों को नामित करते हुए थाना दनकौर में हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है।

सीओ – 2 गेटर नोएडा पीयूष कुमार सिंह ने बताया कि गाजियाबाद की रहने वाली 20 वर्षीय युवती कुमारी बबिता को बीती रात आठ बजे के करीब गाजियाबाद के प्रताप विहार से संजय, मनीष आदि पांच लोग उसके घर से एक कार में अगवा करके ले आये थे। उसका शव आज सुबह को थाना दनकौर क्षेत्र के गलगोटिया यूनिवर्सिटी के पास यमुना एक्सप्रेस-वे के पास मिला। उन्होंने बताया कि इस मामले में मृतका के पिता प्रेम सिंह ने थाना दनकौर में गांव खेड़ा के रहने वाले संजय, मनीष सहित पांच लोगों को नामित करते हुए हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है। सीओ ने बताया कि पुलिस घटना की रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच कर रही है। उन्होंने बताया कि प्रथम दृष्टया यह मामला प्रेम प्रसंग को लेकर होना प्रतीत हो रहा है। पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है।

यह भी देखे:-

चोरी के मोबाइल सहित चोर गिरफ्तार
नोएडा -ग्रेनो के 11 गुण्डों पर लगाया गया गैंगस्टर
पुलिस और गौतस्करों की बीच मुठभेड़, गोली लगने से 25 हज़ार के इनामी समेत 3 घायल, दो फरार
कार सर्विस सेंटर ने बदमाशों ने लूटी 4 डस्टर कार , सीसीटीवी में कैद हुई वारदात
सरकारी जमीन पर अवैध कब्जा करने के आरोप में मुकदमा दर्ज
शराब ठेका सलेसमैन हत्या मामले में विशेष टीम ने शुरू की जांच
ग्रेटर नोएडा में बंद घरों में चोरी करने वाला गिरोह सक्रिय, बंद घरों में की चोरी
मामूली बात पर झगड़ा , दोनों पक्षों में चला लाठी डंडा , 8 घायल 12 के खिलाफ मुकदमा
ग्रेटर नोएडा: सेक्टर के मकान में चल रहा था मुजरा पार्टी , 13 बीडीसी भाजपा नेता समेत दो मुजरा गर्ल गि...
जेवर क्षेत्र में बदमाशो का आतंक, दिन दहाड़े दो लूट कर पुलिस को दी चुनौती
माँ ने ली थी  मासूम बच्ची की जान, पिता ने दर्ज कराया  एफआईआर, माँ गिरफ्तार
हत्या करने के बाद पति ने खुद पुलिस को किया फोन, कहा मैंने अपनी पत्नी को मार डाला 
तीन शराब तस्कर गिरफ्तार
निर्माणाधीन हॉस्पीटल की साईट से छह लाख का तार चोरी
किराना की दुकान में चोरी
YouTube से सीखा एटीएम मशीन तोड़ना, पहुंच गए सलाखों के पीछे