कपड़ा मंत्री पीयूष गोयल नेएक्सपोमार्ट के एक्सपोर्टर के राजेश जैन को दिया अवार्ड

  • एक्समार्ट इंटरनेशन को विभिन्न श्रेणी में  मिले तीन टॉप पुरस्कार
  • राजेश जैन ने सभी अवार्ड अपनी माताजी को किया समर्पित
नई दिल्ली। नई दिल्ली में हस्तशिल्प निर्यात संवर्धन परिषद (ईपीसीएच) ने 23वें हस्तशिल्प निर्यात पुरस्कार समारोह का आयोजन अशोका होटल दिल्ली में किया। इस बहुप्रतीक्षित समारोह में वर्ष 2017-18 और 2018-19 के दौरान निर्यातकों को उनके उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए सम्मानित किया गया। इस आयोजन में ईपीसीएच के अध्यक्ष राज.के.मल्होत्रा के साथ ही देश के कोने कोने से हस्तशिल्प निर्यातकों ने बड़ी संख्या में शिरकत की। इस मौके पर ईपीसीएच के उपाध्यक्ष–कमल सोनी, ईपीसीएच के महानिदेशक और अध्यक्ष, इंडिया एक्सपोज़िशन मार्ट लिमिटेड राकेश कुमार, और ईपीसीएच  की प्रशासन समिति के सदस्य ने भी आयोजन में भागीदारी की। इस दौरान राजेश कुमार जैन, एक्समार्ट इंटरनेशन को तीन अवार्ड से सम्मानित किया गया, उन्होंने इस अवार्ड को अपनी माताजी तारादेवी जैन को समर्पित किया, जिसका उपस्थित लोगों ने सराहना की। इस दौरान उनके बच्चे कोमल जैन, प्राची जैनव कृष जैन भी मौजूद रहे। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि भारत सरकार में केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग, उपभोक्ता मामलों, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण और वस्त्र पीयूष गोयल, विशिष्ट अतिथि केंद्रीय कपड़ा मंत्री एवं रेल राज्यमंत्री दर्शना विक्रम जरदोश ने हस्तशिल्प निर्यात पुरस्कार प्रदान किए। कार्यक्रम में केंद्रीय कपड़ा मंत्रालय में सचिव उपेंद्र प्रसाद सिंह, आईएएस मौजूद रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता भारत सरकार के कपड़ा मंत्रालय के हस्तशिल्प विकास आयुक्त शांतमनु, आईएएस ने की। पीयूष गोयल, ने पुरस्कार विजेताओं को बधाई दी और उन्हें अपने उद्यमों के लिए कई गुना विकास की कल्पना करने और काम करने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने इस क्षेत्र की गतिशीलता और राकेश कुमार, महानिदेशक, ईपीसीएच की विशेष रूप से एमआईसीई – इंडिया एक्सपो सेंटर और मार्ट को चालू करने और हस्तशिल्प क्षेत्र को न केवल एक आत्मनिर्भर बल्कि लाभदायक उद्यम के रूप में चलाने के लिए बधाई दी। ईपीसीएच के महानिदेशक राकेश कुमार ने बताया कि महामारी के कारण, निर्यात पुरस्कार समारोह तीन साल के अंतराल के बाद आयोजित किया जा सका है, इसलिए लगातार दो वर्षों के लिए पुरस्कार विजेताओं को सम्मानित किया गया है। हस्तशिल्प सेक्टर से जुडे सभी हितधारकों को इस वार्षिक आयोजन का बेसब्री से इंतजार था। ईपीसीएच के चेयरमैन राजकुमार मल्होत्रा ने बताया कि वर्ष 2017-18 के 61 विजेताओं और वर्ष 2018-19 के 65 विजेताओं, यानीकुल 126 विजेताओं को पुरस्कार दिए गए। इसके अलावा एक स्पेशल कमेंडेशन अवार्ड भी प्रदान किया गया है।

यह भी देखे:-

बिहारः मां-बाप ने बोझ समझ बेटी को रेलवे स्टेशन पर छोड़ा, किस्मत ने 'खुशी' को पहुंचा दिया इटली
Indian Railways: महिलाओं की सुरक्षा को लेकर रेलवे का बड़ा एलान, अपराध पर ऐसे लगेगी लगाम!
दिल्ली एनसीआर मे लौट आया प्रदूषण, ग्रेटर नोएडा और गाज़ियाबाद की हवा बेहद खराब
पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह की हालत नाजुक, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने लिया हालचाल
केंद्रीय राज्य मंत्री मनोज सिन्हा का भाजपाइयों ने किया स्वागत
युवा कांग्रेस का पोल खोल प्रदर्शन : सांसद महेश शर्मा से कहा - जवाब दो , हिसाब दो
दादरी महापंचायत में गुर्जरों ने किया दीपावली नहीं मनाने का ऐलान
चेतावनी: डब्ल्यूएचओ चीफ बोले- महामारी अभी गई नहीं, यह तब ही खत्म होगी जब दुनिया चाहेगी
लखीमपुर खीरी : मंत्री और बेटे पर नहीं हुई कोई कार्रवाई ,पीएम मोदी हैं चुप - राहुल गांधी
निखलेश तबाने के कैम्प में बच्चों ने सीखे स्केटिंग की नई तकनीक
कैलाश मासूम की फिल्म लिखेंगे रंजीत कपूर
मनोज चौधरी (वरिष्ठ कांग्रेस नेता, पूर्व जिलाध्यक्ष ) की ओर से क्षेत्रवासियों को दीपावली की हार्द...
बच्चों की वैक्सीन: सितंबर तक आ रही है वैक्सीन, वैक्सीन के बारे मे पढें पूरी रिपोर्ट
GPL 4 क्रिकेट टूर्नामेंट : कासना अंकित व जीबीएस रोजा याकूबपुर टीम आपस में भिड़ी , पढ़िए नतीजा
आईएफजेएएस 2019 , 145 करोड़ रुपये की बिजनेस पूछताछ के साथ हुआ समापन
राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर डीएम बी.एन. सिंह ने दिलाई शपथ