ग्रेटर नोएडा मेट्रो कॉरिडोर प्रोजेक्ट में अब जल्द आएगी तेजी:  नन्द गोपाल गुप्ता नन्दी

  • औद्योगिक विकास मंत्री ने नोएडा 71 से ग्रेटर नोएडा नॉलेज पार्क तक प्रस्तावित मेट्रो कॉरिडोर के डीपीआर पर जताई सहमति
  • केंद्र सरकार को भेजा गया मेट्रो कॉरिडोर का संशोधित प्रस्ताव
  • जल्द ही शुरू होगा काम, 14.95 किलोमीटर के बीच बनेंगे 9 स्टेशन

नोएडा सेक्टर-71 से ग्रेटर नोएडा नॉलेज पार्क-5 तक प्रस्तावित मेट्रो कॉरिडोर परियोजना में अब जल्द ही और तेजी आयेगी। क्योंकि उत्तर प्रदेश  सरकार के औद्योगिक विकास मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता नन्दी ने मंत्रालय की जिम्मेदारी संभालने के साथ ही संशोधित डीपीआर को अपनी मंजूरी दे दी है । जिसे स्वीकृति के लिए केंद्र सरकार को भेज दिया गया है। केंद्र सरकार की सहमति मिलते ही मेट्रो का काम शुरू हो जाएगा। जिस पर करीब 2682 करोड़ रुपए का खर्च आएगा। जिसे तीन वर्ष में पूरा किया जाएगा। नोएडा मेट्रो रेल कॉरपोरेशन द्वारा मेट्रो कॉरिडोर परियोजना का काम कराया जाएगा।

पहले चरण का कानोएडा सेक्टर-71 से ग्रेटर नोएडा नॉलेज पार्क-5 तक प्रस्तावित मेट्रो कॉरिडोर परियोजना अगले तीन साल में पूरा होते ही यहां रहने के लिए आने वाले करीब दस लाख लोगों को मेट्रो की सुविधा मिल जाएगी। यह कॉरिडोर नोएडा सेक्टर-51 मेट्रो स्टेशन से इंटरचेंज के माध्यम से जुडे़गा। फिलहाल, यहां एक लाख लोग रह रहे हैं।

नोएडा से ग्रेटर नोएडा वेस्ट को मेट्रो से जोड़ने की परियोजना पर मंथन चल रहा था। इस बाबत नोएडा मेट्रो रेल कारपोरेशन (एनएमआरसी) की ओर से सेक्टर-71 से नॉलेज पार्क-5 तक प्रस्तावित मेट्रो की डिटेल्ड प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) शासन को भेजी गई थी, जिसे मंजूर कर लिया गया था। लेकिन कुछ तकनीकी दिक्कतों की वजह से संशोधित डीपीआर तैयार किया गया था। संशोधित डीपीआर के स्वीकृति का इंतजार था। जिसे गंभीरता से लेते हुए और ग्रेटर नोएडा की हजारों जनता  की सुविधा के लिए मंत्री नन्दी ने अपनी स्वीकृति प्रदान कर दी है।

कॉरिडोर की डीपीआर दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन की ओर से तैयार की गई है।  इस परियोजना की कुल लंबाई 14.958 किलोमीटर है और इसमें 9 स्टेशन प्रस्तावित हैं।

तीन लाख परिवारों और आसपास के लोगों को होगा सीधा फायदा मंत्री नन्दी ने बताया कि इस परियोजना के पूरा होने पर तीन लाख परिवारों को सीधा फायदा होगा।

दो चरणों में होगा निर्माण का काम

मंत्री नन्दी ने बताया कि कॉरिडोर का निर्माण कार्य दो चरणों में किया जाएगा। पहले चरण में 9.1555 किलोमीटर के कॉरिडोर का काम होगा। यह सेक्टर-71 से ग्रेटर नोएडा के सेक्टर-2 तक होगा। इस कॉरिडोर पर पांच स्टेशन होंगे। इसमें नोएडा सेक्टर-122, नोएडा सेक्टर-123, ग्रेटर नोएडा सेक्टर-4, ईकोटेक और ग्रेटर नोएडा सेक्टर-2 होगा। दूसरे चरण में 5.8025 किलोमीटर का काम होगा। इस कॉरिडोर पर चार स्टेशन होंगे। इसमें ग्रेटर नोएडा सेक्टर-3, ग्रेटर नोएडा सेक्टर-10, ग्रेटर नोएडा सेक्टर-12 और ग्रेटर नोएडा नॉलेज पार्क-5 स्टेशन शामिल होंगे।

यह भी देखे:-

बथरूम में मृत मिला नाईजीरियन
कारोबारी ने खुद को गोली से उड़ाया
चुनौती: महाराष्ट्र में मिला वायरस का डेल्टा प्लस वैरिएंट, इम्युनिटी को दे सकता है धोखा
फाइजर से ज्यादा बेहतर है मॉडर्ना की वैक्सीन, जानें स्टडी में हुआ क्या खुलासा
जरुर पढ़ें . उत्तर प्रदेश में LOCK DOWN 4 के दौरान रेड जोन में और की जाएगी सख्ती, दिशा-निर्देश जारी
गौतमबुद्ध नगर निकाय चुनाव : किस पार्टी के प्रत्याशी ने किसको कितने मतों से किया परास्त
मुंह दिखाने लायक नहीं रहे हम, इसलिए बांधना पड़ रहा मास्‍क, जानें- पीएम मोदी ने क्‍यों कहा ऐसा
सैलरी लेने गई युवती की लाठी डंडों से हुई पिटाई, VIDEO VIRAL
ट्विटर पर एक्टिव हुए नोएडा पुलिस के कोतवाल , घर बैठे पीड़ित कर सकते हैं शिकायत
भारत के सबसे बड़े इलेक्ट्रिक वाहन शो का समापन, ग्रीन सैल्यूट टू द नेशन " थीम के साथ ग्रीन ड्राइव 4...
नामी कंपनी के जूस में निकला फंगस , नोवरा अध्यक्ष ने की शिकायत
पुलिस महकमे में तबादले, शासन ने किया चार एडिशनल एसपी का ट्रांसफर
16 जोड़ो का सामूहिक विवाह धूमधाम से हुआ सम्पन्न
जमालपुर कांड के बाद दनकौर पुलिस हुई सतर्क, लोगों से की अपराधिक घटनाओं की तुरंत जानकारी देने की अपील
इलाहाबाद हाईकोर्ट को मिले सात नये एडिशनल जज
यूथ फेस्टिवल के साथ ग्रेटर नोएडा कार्निवल 2019 का आगाज