ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की 126 वीं बोर्ड बैठक में लिए गए निर्णय, जानिए

  • ग्रेटर नोएडा के 5104 करोड़ रुपये के बजट पर लगी बोर्ड की मुहर
  • 2017-18 के बाद इस साल प्राधिकरण का सबसे बड़ा बजट
  • जमीन अधिग्रहण पर खर्च होंगे लगभग 2000 करोड़ रुपये
  • विकास कार्यों पर 1714 करोड़ रुपये की रकम होगी खर्च
  • सेक्टरों व गांवों के विकास व स्वास्थ्य पर खर्च होंगे 1400 करोड़

ग्रेटर नोएडा। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण बोर्ड ने वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए 5104 करोड़ रुपये बजट को मंजूरी दे दी है।औद्योगिक विकास आयुक्त व नोएडा- ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के चेयरमैन संजीव मित्तल की अध्यक्षता में मंगलवार को आयोजित बोर्ड बैठक में इस पर मुहर लग गई है। यह वित्तीय वर्ष 2017-18 के बाद सबसे बड़ा बजट है। इस बार के बजट में सर्वाधिक जोर जमीन अधिग्रहण, इंफ्रास्ट्रक्चर को विकसित करने और गांवों व सेक्टरों के विकास कार्यों पर दिया गया है।

कोरोना संकट से निपटने के बाद ग्रेटर नोएडा ने एक बार फिर विकास की तेज रफ्तार पकड़ ली है। इस बार के बजट में इसकी झलक दिखाई पड़ेगी। खासकर लैंड बैंक बढ़ाने पर खासा जोर दिया जा रहा है। बैठक के बाद ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ नरेंद्र भूषण ने बताया कि बीते कुछ वर्षों में ग्रेटर नोएडा के प्रति औद्योगिक निवेशकों का रुझान तेजी से बढ़ा है। तमाम निवेशक उद्योग लगाने के लिए जमीन मांग रहे हैं। उनको जमीन उपलब्ध कराने के लिए प्राधिकरण लगातार प्रयासरत है। इस वजह 2022-23 के बजट में जमीन अधिग्रहण पर अधिक जोर दिया जा रहा है। इसके लिए करीब 2000 करोड़ रुपये खर्च करने की योजना है। प्राधिकरण इस साल कैपिटल व इंफ्रास्ट्रक्चर बढ़ाने पर भी प्राधिकरण विशेष फोकस कर रहा है। इसके लिए लगभग 1714 करोड़ रुपये का बजट तय किया है। अन्य राजस्व व्यय के रूप में ग्रेटर नोएडा के सेक्टरों व गांवों के विकास, स्वास्थ्य सेवाओं आदि पर इस साल लगभग 1400 करोड़ रुपये से अधिक खर्च करने का लक्ष्य है। वहीं, इस साल प्राधिकरण को लगभग 7322 करोड़ रुपये की आमदनी होने का अनुमान है, जिसमें आवंटियों से प्राप्त होने वाली रकम के साथ ही अन्य राजस्व भी शामिल हैं। वहीं, कोरोना संकट के बावजूद बीते वित्तीय वर्ष में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को करीब 2200 करोड़ रुपये की राजस्व प्राप्ति हुई है। इस बैठक में औद्योगिक विभाग के अपर मुख्य सचिव अरविंद कुमार वर्चुअल रूप से मौजूद रहे। वहीं, नोएडा प्राधिकरण की सीईओ रितु माहेश्वरी, यीडा के सीईओ डॉ. अरुणवीर सिंह, ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की एसीईओ अदिति सिंह, दीप चंद्र व अमनदीप डुली, ओएसडी सचिन सिंह समेत बोर्ड सदस्यों के रूप में कई अधिकारीगण मौजूद रहे।
—————————-
विगत वर्षों के बजट पर एक नजर
————————————–
वर्ष———बजट
2017-18–6443
2018-19–3639
2019-20–4260
2020-21–4369
2021-22–4398
2022-23–5040
————————
नोट–बजट की रकम करोड़ रुपये में हैं।
——————————————–

यह भी देखे:-

राहुल गांधी के लिए अग्नि परीक्षा है केरल चुनाव, यहीं से तय होगा उनका भविष्य!
उड़ान: आज जेफ बेजोस करेंगे ‘न्यू शेफर्ड’ से अंतरिक्ष की सैर
IND vs SCO: स्कॉटलैंड को धूल चटाकर टीम इंडिया ने लहराया परचम, लगाई रिकॉर्ड्स की झड़ी
Navratri 2021 Day 8: नवरात्रि के आठवें दिन मां महगौरी की होती है पूजा, जानें आरती और कथा समेत हर जान...
शाबास अर्जुन, फिर पेश की मिसाल, अपने ख़ास कटे जूते से जुटाई रकम दान किया, जानिए कटे जूते की कहानी
भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने के लिए लोकायुक्त प्रशासन का ठोस कदम
बुरी खबर: T-20 विश्वकप अब होगा UAE मे, भारत मे नही- जय शाह
पीएम मोदी की हाईलेवल मीटिंग, सुरक्षा के खतरों से निपटने के लिए जल्द आएगी नई नीति
भारत में कोरोना की दूसरी लहर को बेलगाम होते देख अंतरराष्ट्रीय बिरादरी में चिंता, मदद को बढ़े हाथ
पापा मैं मर जाऊंगी, यहां से ले जाओ...कोरोना पीड़ित बेटी ने क्यों लगाई यह गुहार?
नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने शुक्रवार को चार्जशीट दायर किए,चार्जशीट में रिया चक्रवर्ती समेत 33 लोगों...
कोरोना में होम्योपैथी भी हो रही कारगर, चिकित्सक दे रहे यह सलाह
जीएल बजाज में ग्लोबल टाॅक सीरीज के अन्तर्गत ‘‘मैनेजमेण्ट आॅफ टेक्नालाॅजी, इन्नोवेशन एण्ड चेन्ज’’ विष...
श्री रामलीला कमेटी रामलीला मंचन, राजा जनक ने चलाया सोने का हल, घड़े से हुआ सीता का जन्म
यूपी : बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी पर पोटा लगाने वाले पूर्व डिप्टी एसपी पर दर्ज मुकदमे वापस
आम लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं देने में फार्मासिस्ट लोगों का महत्वपूर्ण योगदान : डॉ शिखा