सर्द में ठिठुर रहे विक्षिप्त की पत्रकार ने ऐसे की मदद, सोशल मीडिया पर मिल रही है वाहवाही, पढ़ें पूरी खबर

ग्रेटर नोएडा: कहते हैं जिसका कोई नहीं उसका खुदा है यारों, मुसीबत के समय, जरूरतमंद की सहायता करने भगवान साक्षात आए या न आये किसी फरिश्ते को तो भेज ही देता है।

बीती रात कड़ाके की ठंड में ठिठुर रहे एक विक्षिप्त की सहायता की ग्रेटर नोएडा के वरिष्ठ पत्रकार राजेश गौतम ने जिस तरह मदद की , वो एक फरिश्ता ही कर सकता ।

दरअसल बीती रात राजेश गौतम जगत फार्म गए हुए थे। वहीं उनकी नज़र विक्षिप्त पर पड़ी।

राजेश गौतम ने बताया देर रात कड़ाके की ठंड से परेशान विक्षिप्त व्यक्ति अलाब के सहारे ठंड से बचने का भरकस प्रयास करता हुआ मुझे नजर आया जब मैं उसके पास पहुंचा तो पता चला कि उसका मानसिक संतुलन ठीक नहीं है। वह अपना नाम पता कुछ भी बताने की स्थिति में नहीं था। लेकिन उसे काफी ठंड लग रही है यह उसे आभास था। क्योंकि दो-तीन दिन से हो रही बरसात के कारण पानी से भीगा हुआ भी था, इसलिए उसे देखकर लग रहा था कि उसे काफी सर्दी लग गई है। उसकी नाक से पानी बह रहा था मैंने उसकी मदद के लिए कई लोगों से संपर्क किया, लेकिन उसकी मदद करने के लिए कोई आगे नहीं आ रहा था। कई लोग यहां तक कह रहे थे कि छूने से कोरोना हो जाएगा। इसकी तबीयत ठीक नहीं है ।

मैंने सोचा था कि कोई अगर मेरे साथ स्कूटी पर लेकर बैठ जाए तो मैं इसे किसी रेनबसेरा में पहुंचा दूंगा लेकिन कोई तैयार नहीं हुआ। उस समय रात के लगभग 10:00 बज रहे थे इस कारण जगत फार्म बाजार भी बंद हो चुका था।

मैंने फिर समाजसेवी हरेन्दर भाटी जी को फोन किया वह अपनी किसी रिश्तेदारी में नोएडा गए हुए थे इस कारण वह नहीं आ पाए।

मैंने कुछ पुलिसकर्मियों से भी बात की रैन बसेरा तक छोड़ने के लिए लेकिन पुलिसकर्मी चाह कर भी उसकी मदद नहीं कर पा रहे थे। उनका कहना था कि उनके पास कोई वाहन नहीं है छोड़ने के लिए।

हालांकि पुलिसकर्मियों की मदद से मैंने उसे खाना खिलवाया वह व्यक्ति काफी भूख था।

काफी देर तक कोई मदद नहीं मिली तो मैंने रात को 11:00 बजे के लगभग 112 नंबर पर कॉल किया कॉल एक महिला पुलिसकर्मी ने उठाया था। उन्हें मैंने अपना परिचय देते हुए पूरा प्रकरण बताया तो उन्होंने मुझे मदद के लिए आश्वासन दिया और कहा आप वहीं रुके रहिए हम आपके पास पुलिसकर्मियों को भेजते हैं पूरी मदद होगी आधे घंटे बाद दो पुलिसकर्मी मोटरसाइकिल से पहुंचे वह बोले बताइए इसका क्या करना है मैंने कहा कि इसे रेन बसेरा ले जाना है।

वह बोले इसे ले जाने के लिए हमारे पास कोई साधन नहीं है। फिर किसी तरह ऑटो वाला मिला। रात के 12:00 बजे ऑटो ने उस व्यक्ति को बिठाकर सेक्टर डेल्टा 2 के सामुदायिक केंद्र रैन बसेरा में हम लोग उसे रजाई गद्दे में सुला कर के आए थे।

इस कार्य में पुलिस कर्मी राजीव कुमार और उनके साथियों ने बहुत अच्छी मदद की उसके लिए उन्हें धन्यवाद उस ऑटो चालक का भी बहुत- आभार जिसने देर रात में उस व्यक्ति को पहुंचाने में पूरी मदद की।

और रेन बसेरा में बेसहारा असहाय लोगों के लिए प्राधिकरण ने बहुत अच्छी व्यवस्था की है उसके लिए प्राधिकरण का बहुत-बहुत धन्यवाद ।

साथियों आपसे अनुरोध है अगर कोई बेसहारा परेशान व्यक्ति मिल जाए तो उसकी अवश्य मदद करें🙏🙏 — राजेश गौतम

निश्चित रूप से राजेश गौतम जी ने सराहनीय कार्य किया है। लगातार वो डटे रहे। जबतक समाधान नहीं हुआ उन्होंने विछिप्त को छोड़ा नहीं। उनके इस नेक कार्य के लिए सोशल मीडिया में लोग उनके8 सराहना कर रहे है।

यह भी देखे:-

दिवंगत समाजसेवी  जतन प्रधान को श्रद्धांजलि देने पहुंचे परिवहन मंत्री अशोक कटारिया
बीजेपी कार्यकर्ताओं ने गंगे च यमुने प्रकृति संरक्षण यात्रा का किया स्वागत
शनिवार को भी नोएडा - ग्रेटर नोएडा के स्कूल रहेंगे बंद
शाहबेरी में अवैध निर्माण कराने के आरोपित बिल्डर की अग्रिम जमानत याचिका खारिज
सीएम योगी पहुंचे ग्रेटर नोएडा में, कल करेंगे  कोविड अस्पताल का उद्घाटन 
नववर्ष 2018 शुभ अभिनन्दन - आचार्य अशोकानंद जी महाराज , योगीराज पीठाधीश्वर (बिसरख धाम)
आम आदमी पार्टी, दादरी विधानसभा के लिए बिजली आंदोलन की शुरुआत
अपने हाथ से गणपति बप्पा की मूर्ति बनाकर घर में मूर्ति स्थापना की
रिश्वत मांगने के आरोप में चौकी प्रभारी व दारोगा नपे, एसएसपी लव कुमार ने किया निलंबित
पद यात्रा कर जेवर एमएलए धीरेन्द्र सिंह ने शुरू किया #SaveHindonRiver अभियान, वृहद् वृक्षारोपण किया ग...
गाँधी-शास्त्री जयंती पर ग्रेनो प्राधिकरण ने लांच की आवासीय भवनों की ऑनलाइन योजना
कोरोना अपडेट: जानिए गौतमबुद्ध नगर का क्या है हाल
यूपी: खाद्य तेल और दाल के दाम बढ़ने पर मुख्यमंत्री योगी सख्त, बोले- जमाखोरों पर सख्त कार्रवाई करें
एनटीपीसी दादरी में स्वच्छ भारत अभियान पखवाड़ा
लखनऊ पहुंची प्रियंका गांधी: यूपी चुनाव की तैयारियों को देंगी अंतिम रूप, प्रत्याशियों के चयन पर भी हो...
ग्रेनो के इस डॉक्टर ने निभाया फर्ज, हवाई जहाज में बचाई महिला की जान