ग्रेनो प्राधिकरण: क्लस्टर फोर एरिया में भी डोर टू डोर कूड़े का कलेक्शन जल्द होगा शुरू

ग्रेटर नोएडा। डि-सेंट्रलाइज्ड सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट (विकेंद्रीकृत ठोस अपशिष्ठ प्रबंधन) के अंतर्गत ग्रेटर नोएडा के हर घर (डोर टू डोर) से अगले सात वर्षों तक कूड़ा उठाने और उसका निस्तारण कराने के लिए प्राधिकरण ने एक और कदम बढ़ाया है। प्राधिकरण ने क्लस्टर-फोर एरिया के सेक्टरों व गांवों में भी डोर टू डोर वेस्ट कलेक्शन के लिए टेंडर निकाल दिए हैं। 16 दिसंबर से ही बिड डॉक्यूमेंट अपलोड होने शुरू हो गए हैं। 29 दिसंबर को अंतिम तिथि है। 31 दिसंबर को बिड खुलेगी।
प्राधिकरण के सीईओ नरेंद्र भूषण के निर्देश पर ग्रेटर नोएडा में डि-सेंट्रलाइज्ड सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट पर अधिक जोर दिया जा रहा है, ताकि घरों से कूड़ा उठाने से लेकर उसे प्रोसेस कर कंपोस्ट या बायो-मिथेन गैस बनाने तक का जिम्मा एक ही कंपनी पर हो। इसके तहत चयनित कंपनी घरों से कूड़ा उठाएगी। उसे एमएआरएफ (मैटेरियल रिकवरी फैसिलिटी) सेंटर तक ले जाएगी और प्रोसेस कर उससे बायो गैस या कंपोस्ट बनाएंगी। क्लस्टर फोर के एरिया से निकलने वाले कूड़े से भी बायो गैस बनाने की तैयारी है। इसका इस्तेमाल फ्यूल या फिर बिजली उत्पादन में किया जा सकता है। इससे पहले क्लस्टर एक के कूड़े से भी बायो-मिथेनेशन गैस बनाने का ही फैसला हुआ है। दरअसल, डोर टू डोर वेस्ट कलेक्शन के लिए प्राधिकरण ने ग्रेटर नोएडा को पांच क्लस्टर में बांट रखा है। क्लस्टर एक एरिया की कंपनी को लेटर ऑफ अवार्ड दे दिया गया है। इस क्लस्टर से मिलने वाले कूड़े को निस्तारित करने के लिए बायो-मिथेनेशन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाएगा। क्लस्टर तीन की एरिया में डोर टू डोर वेस्ट कलेक्शन के लिए प्राधिकरण टेंडर प्रक्रिया को अंतिम रूप दिया जा रहा है। क्लस्टर दो व पांच के एरिया वाले घरों से डोर टू डोर कलेक्शन के लिए प्राधिकरण ने पहले ही टेंडर निकाल दिए हैं। अब क्लस्टर फोर के लिए टेंडर निकाले गए हैं। इसके लिए 29 दिसंबर तक ऑनलाइन आवेदन किए जा सकते हैं। 31 दिसंबर को बिड खुलेगी। चयनित कंपनी क्लस्टर फोर के एरिया में अगले सात साल तक के लिए डोर टू डोर कलेक्शन से लेकर डिस्पोजल तक का जिम्मा संभालेगी। इस पर करीब 4.82 करोड़ रुपये खर्च होंगे। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के महाप्रबंधक (परियोजना) एके अरोड़ा ने पांचों क्लस्टर में अगले सात साल तक घरों से कूड़ा उठाने वाली कंपनी का चयन शीघ्र कर लिये जाने की उम्मीद जताई है।
—————-
1-क्लस्टर एक के एरिया–सेक्टर 20, अल्फा वन व टू, बीटा वन व टू, गामा वन व टू, रामपुर जागीर, नवादा
2-क्लस्टर दो के एरिया–डेल्टा वन, टू व थ्री, ईटा वन व टू, जीटा वन व टू, नॉलेज पार्क फोर, थीटा टू, साकीपुर व जैतपुर
3-क्लस्टर तीन के एरिया–ज्यू वन, टू व थ्री, म्यू, म्यू वन व टू, रायपुर बांगर व घोड़ी बछेड़ा
4-क्लस्टर चार के एरिया–ओमीक्रॉन वन, वन ए, टू व थ्री, पाई वन व टू, बिरौंडा, बिरौंडी व एच्छर
5-क्लस्टर पांच के एरिया–सिग्मा वन, टू, थ्री व फोर, स्वर्णनगरी, सेक्टर-36 व 37, पी वन से आठ तक, फाई वन, टू, थ्री व फोर, चाई थ्री व फोर और कयामपुर

यह भी देखे:-

अचानक तिब्‍बत के दौरे पर पहुंचे चीन के राष्‍ट्रपति शी चिनफिंंग
रूप बदल रहा है वायरस: सावधान...तबाही मचाने वाला है कोविड का यह नया वैरियंट, देश में अलर्ट
जेवर हवाई अड्डे की परियोजना को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कई बड़ी घोषणा की
R Madhavan की मां भी हुई कोरोना पॉजिटिव, वायरस को लेकर कही ये बात
रोटरी क्लब  ग्रेटर नोएडा द्वारा  रक्तदान महादान  शिविर ,  35 लोगों ने किया रक्त दान
एक्सप्रेसवे पर दो रोडवेज की बस आपस में भीड़ी
शिक्षाविद् डॉ. डी.के. गर्ग द्वारा लिखित जन्म-पुर्नजन्म एवं कर्मफल रहस्य पुस्तक का विमोचन
कैबिनेट बैठक में कई अहम फैसले, कक्षा 6 से व्‍यावसायिक शिक्षा पर होगा जोर, सरकारी स्‍कूलों में भी हों...
शारदा विश्वविद्यालय में आयोजित "कोरस-2019 " का हुआ समापन
ग्रेनो के इस डॉक्टर ने निभाया फर्ज, हवाई जहाज में बचाई महिला की जान
श्रीराम मित्र मंडल द्वारा भव्य होगा रामलीला मंचन
"अनकहे जज़्बात लफ़्ज़ों में" पुस्तक का विमोचन
भारतीय किसान यूनियन लोक शक्ति ने कृषि सुधार कानून के सम्बन्ध में ज्ञापन सौपा
साहित्य, समाज और मीडिया एक दूसरे के प्रर्याय - डा. नीलम कुमारी
वर्चुअल शिखर सम्मेलन : आज दुनिया को पर्यावरण बचाने का संदेश देंगे पीएम मोदी
जेवर एयरपोर्ट प्रक्रिया में तेजी लाने के लिए किसानों के साथ बैठक