ग्रेनो प्राधिकरण: क्लस्टर फोर एरिया में भी डोर टू डोर कूड़े का कलेक्शन जल्द होगा शुरू

ग्रेटर नोएडा। डि-सेंट्रलाइज्ड सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट (विकेंद्रीकृत ठोस अपशिष्ठ प्रबंधन) के अंतर्गत ग्रेटर नोएडा के हर घर (डोर टू डोर) से अगले सात वर्षों तक कूड़ा उठाने और उसका निस्तारण कराने के लिए प्राधिकरण ने एक और कदम बढ़ाया है। प्राधिकरण ने क्लस्टर-फोर एरिया के सेक्टरों व गांवों में भी डोर टू डोर वेस्ट कलेक्शन के लिए टेंडर निकाल दिए हैं। 16 दिसंबर से ही बिड डॉक्यूमेंट अपलोड होने शुरू हो गए हैं। 29 दिसंबर को अंतिम तिथि है। 31 दिसंबर को बिड खुलेगी।
प्राधिकरण के सीईओ नरेंद्र भूषण के निर्देश पर ग्रेटर नोएडा में डि-सेंट्रलाइज्ड सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट पर अधिक जोर दिया जा रहा है, ताकि घरों से कूड़ा उठाने से लेकर उसे प्रोसेस कर कंपोस्ट या बायो-मिथेन गैस बनाने तक का जिम्मा एक ही कंपनी पर हो। इसके तहत चयनित कंपनी घरों से कूड़ा उठाएगी। उसे एमएआरएफ (मैटेरियल रिकवरी फैसिलिटी) सेंटर तक ले जाएगी और प्रोसेस कर उससे बायो गैस या कंपोस्ट बनाएंगी। क्लस्टर फोर के एरिया से निकलने वाले कूड़े से भी बायो गैस बनाने की तैयारी है। इसका इस्तेमाल फ्यूल या फिर बिजली उत्पादन में किया जा सकता है। इससे पहले क्लस्टर एक के कूड़े से भी बायो-मिथेनेशन गैस बनाने का ही फैसला हुआ है। दरअसल, डोर टू डोर वेस्ट कलेक्शन के लिए प्राधिकरण ने ग्रेटर नोएडा को पांच क्लस्टर में बांट रखा है। क्लस्टर एक एरिया की कंपनी को लेटर ऑफ अवार्ड दे दिया गया है। इस क्लस्टर से मिलने वाले कूड़े को निस्तारित करने के लिए बायो-मिथेनेशन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाएगा। क्लस्टर तीन की एरिया में डोर टू डोर वेस्ट कलेक्शन के लिए प्राधिकरण टेंडर प्रक्रिया को अंतिम रूप दिया जा रहा है। क्लस्टर दो व पांच के एरिया वाले घरों से डोर टू डोर कलेक्शन के लिए प्राधिकरण ने पहले ही टेंडर निकाल दिए हैं। अब क्लस्टर फोर के लिए टेंडर निकाले गए हैं। इसके लिए 29 दिसंबर तक ऑनलाइन आवेदन किए जा सकते हैं। 31 दिसंबर को बिड खुलेगी। चयनित कंपनी क्लस्टर फोर के एरिया में अगले सात साल तक के लिए डोर टू डोर कलेक्शन से लेकर डिस्पोजल तक का जिम्मा संभालेगी। इस पर करीब 4.82 करोड़ रुपये खर्च होंगे। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के महाप्रबंधक (परियोजना) एके अरोड़ा ने पांचों क्लस्टर में अगले सात साल तक घरों से कूड़ा उठाने वाली कंपनी का चयन शीघ्र कर लिये जाने की उम्मीद जताई है।
—————-
1-क्लस्टर एक के एरिया–सेक्टर 20, अल्फा वन व टू, बीटा वन व टू, गामा वन व टू, रामपुर जागीर, नवादा
2-क्लस्टर दो के एरिया–डेल्टा वन, टू व थ्री, ईटा वन व टू, जीटा वन व टू, नॉलेज पार्क फोर, थीटा टू, साकीपुर व जैतपुर
3-क्लस्टर तीन के एरिया–ज्यू वन, टू व थ्री, म्यू, म्यू वन व टू, रायपुर बांगर व घोड़ी बछेड़ा
4-क्लस्टर चार के एरिया–ओमीक्रॉन वन, वन ए, टू व थ्री, पाई वन व टू, बिरौंडा, बिरौंडी व एच्छर
5-क्लस्टर पांच के एरिया–सिग्मा वन, टू, थ्री व फोर, स्वर्णनगरी, सेक्टर-36 व 37, पी वन से आठ तक, फाई वन, टू, थ्री व फोर, चाई थ्री व फोर और कयामपुर

यह भी देखे:-

गौतमबुद्ध नगर में कल से छह जगह होगा कोरोना वैक्सीनेशन 
ग्रेटर नोएडा : आबकारी विभाग ने शराब की बड़ी खेप पकड़ी
एसएसपी लव कुमार ने तीन पुलिसकर्मियों को किया निलंबित
सुप्रीम कोर्ट : अदालतों को जमानत देने या नहीं देने का कारण स्पष्ट करना होगा
ग्रेटर नोएडा में 22 और जगहों पर बनेंगे वेंडिंग जोन, ग्रेनो  प्राधिकरण ने चिन्हित की जगह
हनुमंत कथा के अंतिम दिन उमड़ी श्रद्धालुओ की भीड़
नोएडा में सैमसंग की नई इकाई का भूमि पूजन
ग्रेटर नोएडा : जलाधिकार फाउंडेशन ने जल वन्दन कार्यक्रम किया आयोजित ,
 उत्तर प्रदेश सरकार हर जरूररतमंद की मदद करेगी: सीएम योगी
UP: इस्लाम धर्म अपना दूसरी शादी रचाने वाले DSP विनीत सिंह की बढ़ेंगी मुश्किल, अब CB-CID करेगी जांच
जेवर विधायक धीरेंद्र सिंह ने किया करोड़ों के विकास कार्यों का शुभारंभ  
बिलासपुर कस्बे में बूढ़े बाबा के मेले में उमड़े हजारो श्रद्धालु,सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस रही अलर्ट
"हिन्दू साम्राज्य दिवस" की शुभकामनाएं.. आज ही हुआ था छत्रपति शिवाजी महाराज का राज्याभिषेक
"अग्निपथ" योजना के खिलाफ भाकियू व संयुक्त किसान मोर्चा का प्रदर्शन, राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन
शैक्षिक व सांठनिक दक्षता से ही सर्जनात्मक समाज का निर्माण- नंदगोपाल वर्मा
जाति और मुख्य जनगणना एक साथ होना मुश्किल, जानें क्यों?