एनआईटी में “नदी को जानो” कार्यक्रम का आयोजन

नोएडा इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी, ग्रेटर नोएडा (एनआईईटी, ग्रेटर नोएडा) में 15 दिसंबर 2021 को यूजीसी तथा एआईसीटीई के द्वारा प्रायोजित “नदी को जानो” कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर नर्मदा मिशन के संयोजक पूज्य संत समर्थ सद्गुरु भैयाजी सरकार विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। इस अवसर गंगा विचार मंच (राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन) जल शक्ति मंत्रालय भारत सरकार के राष्ट्रीय संयोजक डॉ भरत पाठक, संस्थान के महानिदेशक श्री प्रवीण सोनेजा, निदेशक डॉ विनोद एम कापसे, निदेशक (परि॰ एवं नियो॰) डॉ प्रवीण पचौरी, कुलसचिव डॉ के पी सिंह, अधिष्ठातागण, विभागाध्यक्ष, शिक्षकगण एवं विद्यार्थी उपस्थित रहे।

कार्यक्रम का शुभारंभ सरस्वती वंदना एवं दीप प्रज्ज्वलन से हुआ। एनआईईटी के निदेशक डॉ विनोद एम कापसे ने स्वागत उद्बोधन प्रस्तुत किया। निदेशक परियोजना डॉ प्रवीण पचौरी ने अपने उद्बोधन में नदियों के महत्त्व एवं मानव जीवन में उनकी उपयोगिता पर प्रकाश डाला।

नर्मदा मिशन के संयोजक पूज्य संत समर्थ सद्गुरु भैयाजी सरकार ने माँ नर्मदा के संरक्षण एवं संवर्धन हेतु सत्याग्रह किया है और पिछले 425 दिन से अन्न त्यागकर केवल जल पर ही आश्रित रहकर नर्मदा के संरक्षण एवं संवर्धन के बीड़ा उठाया हुआ है। समर्थ सद्गुरु जी ने अपने प्रबोधन में कहा कि भारत की युवा शक्ति ही पुरानी नींव पर नए भारत का निर्माण करेगी। उन्होने युवाओं से आह्वान किया कि आप भी अपने व्यस्त जीवन से कुछ समय निकाल कर प्रकृति के संरक्षण के लिए न केवल जागृति पैदा करें बल्कि स्वयं भी इस पुनीत कार्य में सहभागी बनें। उन्होने आगे कहा कि इस प्रकृति के अस्तित्त्व से ही हमारा अस्तित्त्व है। नदियों का मानव जीवन में अमूल्य योगदान है। हमें बड़े यत्न से नदियों की रक्षा करनी होगी क्यूंकि नदियों के प्रवाह से ही मानव जीवन का प्रवाह है। पूज्य भैया जी ने विशेष बल देकर कहा कि नदियां हमारी पालने वाली माँ हैं । उनको मानना ही पर्याप्त नहीं है यह जानना भी जरूरी है कि माँ क्या चाहती है । जिस प्रकार माँ अपनी संतान के दुखी होने पर खाना छोड़ देती है उसी प्रकार माँ को दुखी देखकर परमपूज्य भैयाजी ने माँ को स्वस्थ बनाने के लिए सत्याग्रह का मार्ग अपनाया है और भोजन का त्याग किया है और केवल जल को अमृत मानकर ग्रहण करते हैं ।

एनआईईटी के म्यूज़िक क्लब के विद्यार्थिओं हर्षित, तनुश्री, साहिल, मानस, सचिन, ओशो आदि ने नदी तथा वृक्ष संरक्षण पर मनमोहक संगीतमय कार्यक्रम प्रस्तुत किया। इस कार्यक्रम की सभी ने सराहना की।

पूज्य संत समर्थ सद्गुरु भैयाजी सरकार ने एनआईईटी परिसर में वृक्षारोपण किया तथा विद्यार्थियों से कहा कि पौधों का पोषण एवं संवर्धन भी सुनिश्चित करें।

कार्यक्रम के अंत में एनआईईटी के कुलसचिव डॉ के पी सिंह ने धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया। कार्यक्रम का संचालन प्रो हर्ष अवस्थी ने किया।

यह भी देखे:-

एसडीआरवी स्कूल में दीपोत्सव कार्यक्रम का आयोजन हुआ
कोरोना टीका: डॉक्टरों ने कहा- दूसरी डोज के लिए चिंतित न हों, 16 हफ्तों का अंतराल शरीर के लिए अच्छा
बिसहड़ा : पूर्व प्रधान के बेटे की गोली लगने से मौत , इखलाक काण्ड से कोई सम्बन्ध नहीं - गौतमबुद्ध नगर ...
दहेज हत्या में वांटेड पति, जेठ व ससुर गिरफ्तार
कोरोना टीकाकरण: तीसरे चरण का टीकाकरण अभियान आज से शुरू, बुजुर्ग और बीमार लोगों के लिए सुबह 9 बजे से ...
यमुना एक्सप्रेस वे पर भीषण हादसा, ताजमहल देखने जा रहे स्कूली बच्चों से भरी बस पलटी , एक की मौत कई घ...
टीएमसी मतलब ट्रांसफर माई कमिशन, हम कहते हैं डायरेक्ट बेनेफिट ट्रांसफर,बंगाल में बोले पीएम मोदी
उत्कृष्ट पत्रकारिता : "कलम के सिपाही" अवार्ड से सम्मानित हुए पत्रकार
पुलिस कमिश्नर कार्यालय, पुलिस लाइन एवं जनपद के अन्य पुलिस कार्यालयों में गांधी जयंती कार्यक्रम का आय...
ग्रेनो वेस्ट में चल रही माँ सीता रसोई का समापन
हज पर जाने के लिए टीके की दोनों डोज लगवाना अनिवार्य, सऊदी सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी सूचना
इंडिया एक्सपो मार्ट में 12 अक्टूबर से हैंडीक्राफ्ट मेला , नार्थ ईस्ट पर होगा फोकस
ग्रेटर नोएडा: नेह नीड़ फाउंडेशन मेरठ उठायेगा ग्रेटर नोएडा के सात बच्चों की आवासीय शिक्षा का खर्च
ग्रेनो प्राधिकरण ने शोधित पानी से सड़कों पर छिड़काव व ग्रीन बेल्ट में पानी देना शुरू किया, जानें पूरी...
राशन कार्ड में यूनिट जोड़ने के लिए फर्जीवाड़ा करने का आरोप
गुर्जर समाज ने राम मंदिर ट्रस्ट में प्रतिनिधित्व की मांग की