Madhya Pradesh : पीएम मोदी ने रानी कमलापति रेलवे स्टेशन’ का किया उद्घाटन

भोपाल, एजेंसियां। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को भोपाल में पुनर्विकसित ‘रानी कमलापति रेलवे स्टेशन’ का उद्घाटन किया। इसके साथ ही प्रधानमंत्री मोदी ने मध्य प्रदेश में भारतीय रेलवे की कई परियोजनाओं को राष्ट्र को समर्पित किया। इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि आज का दिन भोपाल और मध्य प्रदेश के साथ साथ पूरे देश के लिए गौरवपूर्ण इतिहास और वैभवशाली भविष्य के संगम का दिन है। भारतीय रेल का भविष्य कितना आधुनिक और उज्जवल है, इसका प्रतिबिंब भोपाल के इस आधुनिक स्टेशन पर जो भी आएगा, उसे दिखाई देगा।
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भोपाल के इस रेलवे स्टेशन का सिर्फ कायाकल्प ही नहीं हुआ है बल्कि रानी कमलापति जी का नाम इससे जुड़ने से इसका महत्व और भी बढ़ गया है। रेलवे स्टेशन के पूरे ईको सिस्टम को इसी प्रकार ट्रांसफार्म करने के लिए आज देश के 175 से अधिक रेलवे स्टेशनों का कायाकल्प किया जा रहा है। आत्मनिर्भर भारत के संकल्प के साथ आज भारत आने वाले वर्षों के लिए खुद को तैयार कर रहा है और बड़े लक्ष्यों पर काम कर रहा है।

यह भी देखे:-

देवर्षि नारद जयंती पर पत्रकार हुए सम्म्मानित
आईटीआर फाईल करने के बावजूद कहीं आयकर विभाग भेज नदे आपको नोटिस , जानिए क्यों , पढ़ें पूरी खबर
भारी सुरक्षा के बीच हंरेेद्र प्रधान हत्याकांड में आज कोर्ट में हुई पहली गवाही, आरोपी हुए पेश
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की बोर्ड बैठक में लिए गए अहम निर्णय, जानिए
ग्रेटर नोएडा : एफएआर संशोधन को कैबिनेट की मिली मंजूरी
तीन दिवसीय अन्त्योदय मेला-प्रदर्शनी का केंद्रीय मंत्री डाॅ. महेश शर्मा ने किया उद्घाटन
ग्रेटर नोएडा वेस्ट- मल्टीप्वाइंट कनेक्शन : एनपीसीएल की टीम ने टेक्निकल ऑडिट के लिए किया दौरा
अधिकारों को लेकर किसानों ने किया ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण घेराव
मोटरसाइकिल में पीछे से ट्रक ने मारी टक्कर, हुआ धमाका
नोएडा प्राधिकरण को दी किसानों ने चेतावनी, भूलकर भी नजरअंदाज ना करें किसानों को
Diwali 2021 Laxmi Puja Muhurat: कल दीपावली पर किस मुहूर्त में करें लक्ष्मी पूजा, जानें पूजा विधि
अन्ना सत्याग्रह जन जागरूक साइकिल यात्रा: 19 जनपदों से होकर गुजरेगी
दिल्ली कूच करने से पहले ग्रेनो के किसानों का परीचौक-कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन और रखी ये मांग
गौतमबुद्ध विश्वविद्यालय में हुई स्वच्छता ही सेवा 2019 अभियान की शुरुआत
पैंगोंग इलाके से सैनिकों को हटाने पर भारत-चीन सहमत, पीछे हटने की प्रक्रिया शुरू
हिमालय क्षेत्र में बढ़े टूटे और लटके हुए ग्लेशियर, तबाह कर सकते हैं नदी किनारे बसे गांव और शहर