जाने कहां चल रहीं हैं विदेशी मेहमानों के आगमन की तैयारियां ? प्रवास के दौरान नहीं होगी इन्हें कोई परेशानी

सर्दियों का मौसम शुरू होते ही ठण्डे स्थानों से पक्षी बड़ी में संख्या हजारों किलोमीटर की दूरी तय करके भारत के विभिन्न स्थानों का रूख करते हैं। उत्तर भारत में भी कई ऐसे स्थान है जो सर्दियों के मौसम में इन विदेशी महमानों की मेजबानी करते हैं। इनमें गौतम बुद्ध नगर के नोएडा और ग्रेटर नोएडा भी शामिल हैं। इस बार प्रशसन इन विदेशी महमानों की मेजबानी के लिए पहले से ही तैयारियां शुरू कर चुका है, जिससे इन्हें किसी तरह की समस्या का सामना न करना पड़े।

कहां चल रहीं हैं तैयारियां

दनकौर क्षेत्र स्थित धनौरी वेटलैंड हमेंषा से प्रवासी पक्षियों को सर्दियों के मौसम में अपनी ओर आकर्षित करता रहा है। यहां पर बड़ी संख्या में भारतीय प्रजाति के सारस पाए जाते हैं। इस क्षेत्र में तेजी से नगरीय एवं ढांचागत विकास हो रहा है। इसका प्रभाव वेटलैंड पर भी पड़ रहा है। कई तरह की जलीय वनस्पति भी इन विदेशी मेहमानों के लिए परेशानी का कारण बनती है। कई पर्यावरणविदों ने इसकी शिकायत विभिन्न स्तरों पर की थी। मामले का संज्ञान लेते हुए प्रशासन समस्या के निदान की तैयारियां में जुट गया है।

क्या तैयारियां चल रही हैं ?
स्थानीय विधायक ठाकुर धीरेन्द्र सिंह ने बताया कि वेटलैंड में जलकुंभी के कारण मेहमान पक्षियों को यहां उतरने के साथ जलक्रीडा में दिक्कत होती है। देश के कई पक्षीप्रेमियों एवं पर्यावरणविदों ने वेटलैंड से जलकुंभी निकलवाने की मांग की थी। इसी कड़ी में कई पर्यावरणविद तथा विधायक एक विषेशज्ञ दल के साथ वैटलैंड पहुंचे और जलकुंभी की सफाई के अभियान का शुभारंभ कराया। इस कार्य में यमुना प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी ने डा. अरूणवीर सिंह के निर्देश पर हॉर्टिकल्चर विभाग ने जलकुंभी की सफाई का कार्य शुरू किया।

कहां-कहां से कौन-कौन से पक्षी यहां पहुंचते है ?
कहां-कहां से कौन-कौन से पक्षी यहां पहुंचते है ?
नवंबर महीने के शुरूआत से ही इन विदेशी मेहमानों का आना शुरू हो जात है। यहां मंगोलिया, उत्तरी अमेरिका, इंग्लैंड, आइसलैंड, साइबेरिया और यूरोप सहित कई अन्य स्थानों से भी पक्षी आते हैं। लगभग 45 प्रजाति के पक्षी यहां सर्दियों के मौसम में प्रवास करते है। इनमे ब्लैक हेडिड गुल, नॉर्दन शावलर बार्न स्वालो सहित ब्लैक टेल्ड गोडविट, ब्लैक नेट स्टार्क और मार्श हैरियर भी दिखाई पड़ते है। इनमें साइबेरियन पक्षियों की संख्या भी अच्छी खासी होती है।

यह भी देखे:-

कोरोना के संक्रमण की चेन तोड़ने  के लिए  भीड से बचें, मास्क अवश्य लगाएं, दो गज की दूरी बनाएं रखें : ध...
टाटा मोटर्स ने दी ओलंपिक खिलाड़ियों को ये दमदार कनेक्टेड कार
Mann Ki Baat LIVE: देशवासियों से मन की बात करेंगे पीएम मोदी, टीकाकरण समेत कई मुद्दों का कर सकते हैं ...
पूरे परिवार संग काशी पहुंचे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, शाम को गंगा आरती में होंगे शामिल
Pulwama Encounter : सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को मार गिराया, तलाशी अभियान जारी
सुल्तानपुर: सांसद मेनका गांधी के दौरे का तीसरा दिन
निर्माणाधीन ट्रीलियम डाटा सेंटर पर क्रेन की रस्सी टूटने से हादसा, नीचे खड़े दबे मजदूर, एक की मौत, प...
उत्तर प्रदेश के स्कूलों में छोटे बच्चों का माथे पर टीका और चॉकलेट से होगा स्वागत, एक सितंबर से शुरू ...
श्री धार्मिक रामलीला सेक्टर पाई रामलीला : नारद मोह लीला का मंचन देख दर्शक हुए निहाल
World Tuberculosis Day 2021: कोरोनाकाल में टीबी की दवा न छोड़ें मरीज, हो सकता है खतरा
ग्रेनो प्राधिकरण दफ्तर में लगे सीईओ मुर्दाबाद के नारे
ग्रेनो में 10 हजार खरीदार, बिल्डर प्रोजेक्टों में खरीद सकेंगे अपना फ्लैट
गाजीपुर जिले में गली के गुंडे की मानिंद शुरू हुआ था मुख्तार अंसारी के जरायम का सफरनामा
बेहतर स्मार्ट पुलिसिंग के लिए योगी सरकार का कदम, लखनऊ और नोएडा में पुलिस कमिश्नर का प्रस्ताव पास
जातिगत जनगणना के लिए लालू ने उठाई आवाज, कह दी ये बड़ी बात
नोएडा- ग्रेटर नोएडा में कांग्रेस पार्टी के"जय भारत महासंपर्क"अभियान की शुरुआत कल से