विचार : क्या उत्तर प्रदेश में खिलाड़ियों का भविष्य सुरक्षित है !

क्या उत्तर प्रदेश में खिलाड़ियों का भविष्य सुरक्षित है ! मेरे हिसाब से उत्तर प्रदेश के खिलाड़ियों का भविष्य सुरक्षित नहीं क्योंकि उत्तर प्रदेश सरकार ने अब तक कोई खेल नीति नहीं बनाई,  उत्तर प्रदेश सरकार ने कोई ऐसी रणनीति नहीं बनाई जिससे खिलाड़ी लंबे समय तक खेल सके क्योंकि खेल में अक्सर गरीब तबके के लोग ही जाते हैं वह अपनी जी जान से मेहनत करते हैं , वह अपने दम पर राष्ट्रीय मेडल जीत लेते हैं अंतरराष्ट्रीय पार्टिसिपेट कर आते हैं लेकिन उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से उन्हें कुछ नहीं मिलता है और यही वजह है , बड़े प्रदेश में ओलंपिक खेल में मात्र 10 लोग जाते हैं और वह 10 लोग भी उत्तर प्रदेश में पर्याप्त अभ्यास नहीं करते हैं उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं उसके अलावा  कोई ऑस्ट्रेलिया में अपना अभ्यास करता है कोई इटली में करता है कोई बैंगलोर में करता है उत्तर प्रदेश सरकार  खेल विभाग से बेफिक्र है क्योंकि उन्हें खिलाड़ियों और खेल से कोई लेना-देना नहीं हाल ही में उत्तर प्रदेश के 10 खिलाड़ियों ने ओलंपिक में प्रतिभाग किया था और हमारे मुख्यमंत्री जी ने पूरे देश के खिलाड़ियों को सम्मानित कर दिया और जब हमारे प्रदेश में खिलाड़ियों की सुविधाओं को बढ़ाने की बात होती है तो यह होता है कि हमारे पास बजट नहीं है लेकिन सरकार के पास बजट है ओलंपिक खेले हुए खिलाड़ियों का सम्मान करने के यह बहुत अच्छी पहल तब होती जब आप अपने प्रदेश उन खिलाड़ियों पर मेहनत कर रहे हो जो आने वाले समय में ओलंपिक में प्रतिभाग कर के मेडल जीत सकते हैं लेकिन दुर्भाग्य की बात है कि प्रदेश में ऐसी कोई सुविधा नहीं ना ही कोई इस बारे में सोचना चाहता उत्तर प्रदेश खेल विभाग में सिर्फ जनता बसता है एक अधिकारी उस अधिकारी के ऊपर में लेख पर कभी लिखूंगा लेकिन पैसा ऐसे बहाने से बेहतर है पैसा उन खिलाड़ियों में लगाओ जो मेडल जीते हैं जीते हुए घोड़े पर हर कोई बाजी लगाता है उत्तर प्रदेश को ऐसे 100 खिलाड़ी तैयार करने चाहिए जो ओलंपिक एशियन गेम कॉमनवेल्थ जैसी प्रतियोगिताओं में मेडल जीतें कोई बड़ी बात नहीं है कि ऐसा हो नहीं सकता ऐसा बिल्कुल हो सकता है लेकिन उसके लिए एक सही रणनीति होनी चाहिए साफ नियत होनी चाहिए तभी यह संभव है उत्तर प्रदेश में ऐसे तमाम प्रतिभाशाली खिलाड़ी हैं जो मौके का इंतजार करते हैं उन्हें मौका देना है

शनीष मणि मिश्र, लक्ष्मण अवॉर्डी
अंतर्राष्ट्रीय सॉफ्ट टेनिस खिलाड़ी

(ये लेखक के निजी विचार है)

यह भी देखे:-

ग्रेटर नोएडा में रोटरी क्लब के सहयोग से सौंपा गया मोक्षधाम को वाहन
पुलिस महकमे में तबादले, शासन ने किया चार एडिशनल एसपी का ट्रांसफर
New Year का कार्यक्रम करना है तो लेनी होगी अनुमति
अमरनाथ तीर्थ यात्रियों के हमले को लेकर प्रदर्शन, आतंकवाद का पुतला फूँका
उत्तर प्रदेश में आईपीएस अफसरों के तबादले
ओवैसी ने मांगी सुरक्षा: लोकसभा स्पीकर को लिखा पत्र, बोले- मेरी हत्या हो सकती है
पत्रकारों ने जाना HEALTHY DIET में क्या लें, इंडो ग्लोबल सोशल सर्विस सोसाइटी एवं WHH द्वारा ग्रेटर ...
कलयुगी पिता  ने किया घिनौना काम , गिरफ्तार  
देश में कोरोना से राहत के संकेत, दो हफ्ते में करीब 10 फीसद गिरी संक्रमण दर; एक्टिव केस भी घटे
भारत की सबसे कम उम्र की महिला पायलट, जिसने रच दिया इतिहास
एफआईर लिखने में पुलिस न बरते कोताही , जनता से करे अच्छा व्यवहार - सुलखान सिंह, डीजीपी
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के 45 अधिकारियों/कर्मचारियों के कार्य / विभाग में फेरबदल
गलगोटिया विश्वविद्यालय में रिसर्च एण्ड इनोवेशन अवार्ड 2019 में सम्मानित हुए 90 प्रोफ़ेसर
दादरी महापंचायत में गुर्जरों ने किया दीपावली नहीं मनाने का ऐलान
मेरी ही पार्टी के नेताओं ने मुझ पर हमला किया था- राहुल गांधी
नेफोमा ने झमाझम बारिश और आंधी तूफान में भी नहीं छोड़ा गरीबों का साथ, बांटे एक हजार फूड पेकेट