श्री राम मित्र मंडल रामलीला नोएडा: श्री राम ने तोड़ा शिव धनुष , गरजे परशुराम

नोएडा : श्रीराम मित्र मण्डल द्वारा आयोजित रामलीला मंचन के तीसरे दिन दीप प्रज्जवलन के साथ लीला मंचन वर्षा के व्यवधान के कारणसामुदायिक केंद्र सेक्टर-55 मे प्रारंभ हुआ ।

जनकपुर में धनुष यज्ञ की बात सुनकर प्रभु राम मुनि विश्वामित्र के साथ रास्ते में जाते हैं इसी बीच आश्रम दिखाई दिया जिसमें पशु पक्षी व जीव जन्तू नहीं थे। भगवान राम ने पत्थर की शिला देखकर विश्वामित्र जी से पूछा, विश्वामित्र ने पूरीकथा राम जी को बताई कि यह शिला गौतम मुनि की पत्नी हैं जो श्राप वश पत्थर की देह धारण किये है। श्रीराम जी के पवित्र चरणों की रज कास्पर्श पाते ही अहिल्या प्रकट हो जाती हैं एवं भगवान के चरणों में लिपट जाती है और कहती हैं‘‘ मैं नारि अपावन प्रभु जगपावन रावन रिपुजनसुखदायी। राजीव विलोचन, भवभय मोचन पाहि पाहि सरनहिं आई’’। ऐसी प्रार्थना कर अहिल्या पति लोक को चली जाती हैं। अगले दृश्य मेंमुनि विश्वामित्र के साथ चलते-चलते जनकपुर के निकट पहुंच जाते हैं। विश्वामित्र के आगमन का समाचार सुनकर राजा जनक उनके पासपहुंचते हैं मुनि को प्रणाम कर जब दोनों भाईयों को देखते हैं‘‘ मूरति मधुर मनोहर देखी। भयहु बिदेहु बिदेहु बिसेषी’’। मुनि जी राम लक्ष्मण कापरिचय देते हैं। लक्ष्मण के हृदय में जनकपुर देखने की लालसा होती हैं भगवान राम मुनि से आज्ञा लेकर जनकपुर को देखने चले जाते हैं। लौटकरसंध्या वंदन कर सुबह पूजा के लिए गुरू से आज्ञा लेकर पुष्प लेने जाते हैं वहीं पर सीता जी पार्वती जी की पूजा के लिए आती हैं जब राम जी औरसीता जी एक दूसरे को देखते हैं एकटक देखते रह जाते हैं सीता जी गिरिजा की पूजा करती हैं और मां से राम जी को पति के रूप में मांगती हैं‘‘ मनजाहि राचेउ मिलहि सोबर सहज सुन्दर सांवरों, करूना निधान सुजान सीलु सनेहु जानत रावरों’’। मां के गले में पड़ा हार टूटकर सीता जी के ऊपरगिरता है और मां प्रसन्न हो जाती हैं महाराजा जनक शतानंद जी को बुलाकर मुनि विश्वामित्र को आमंत्रण भेजते हैं ।मुनि विश्वामित्र रामलक्ष्मण के साथ धनुष यज्ञशाला देखने पहुँचते हैं जहाँ पर सीता का स्वयंबर होना है ।

सबसे सुंदर मंच पर राम लक्ष्मण को मुनि समेत जनक जी बैठाते हैं । सीता जी को जनक बुलाते हैं ,और बंदीजन जनक की प्रतिज्ञा को बताते हैं कि जो भी यज्ञशाला में रखे धनुष को तोड़ेगा उसी के साथसीता का विवाह होगा । रावण ,बाणासुर जैसे तमाम योद्धा आये लेकिन धनुष को हिला तक नहीं सके । यह देखकर जनक जी व्याकुल हो उठतेहैं । इसके बाद जनक जी धनुष न टूटने पर विलाप कर कहते हैं कि लगता हैं अब पृथ्वी वीरों से खाली हो गई हैं। लक्ष्मण जी उनकी बात सुनकरक्रोध कर कहते हैं कि अगर भईया राम आज्ञा दे यह धनुष क्या पूरा ब्रह्माण्ड को तोड़-मरोड़ डालू। राम जी लक्ष्मण को शांत करते हैं। इसके बादविश्वामित्र भगवान राम को आदेश देते हैं‘‘ उठहु राम भंजहु भव चापा। मेटहु तात जनक परितापा’’। भगवान राम धुनष की प्रत्युन्चा चढ़ाते हैं किधनुष टूट जाता हैं सभी जनकपुरवासियों में खुशी दौड़ जाती हैं सीता जी राम को वरमाला डालती हैं।सुर नर मुनि व् देवता फूलों की वर्षा करते हैं ।शिव धनुष के टूटने की बात सुनकर परशुराम जी आते हैं और जनक जी को कहते हैं हे दुष्ट धनुष किसने तोड़ा है इसके बाद लक्ष्मण व परशुरामका संवाद होता हैं।

बाद में परशुराम जी को ज्ञात हो जाता हैं कि राम और कोई नहीं साक्षात विष्णु का अवतार हैं और वह क्षमा मांगते हुए कहतेहैं‘‘ अनुचित बहुत कहेहु अज्ञाता। छमहु छमा मन्दिर दोउ भ्राता’’। क्षमा के बाद परशुराम जी महेंद्र पर्वत पर लौट जाते हैं। इसी के साथ तीसरेदिन की लीला मंचन का समापन होता है। श्रीराम मित्र मंडल के सलाहकार मनोज शर्मा ने बताया कि दिनांक 24 सितंबर को राम बारात शोभा यात्रा जनक जी द्वारा राम बारात स्वागत, राम जानकी विवाह, जानकी विदाई आदि प्रसंगों का मंचन किया जायेगा । इस अवसर परअध्यक्ष धर्मपाल गोयल, महासचिव मुन्ना कुमार शर्मा, कोषाध्यक्ष राजेन्द्र गर्ग, सतनारायण गोयल, अनिल गोयल, रविंद्र चौधरी, मीडियाप्रभारी मुकेश गोयल , प्रशांत झा, सलाहकार मनोज शर्मा, सह-सलाहकार मुकेश गुप्ता, विजय भारद्वाज, मीडिया प्रबंधक चंद्रप्रकाश गौड़,अरविंद मिश्रा ,जे0एम0 गुप्ता, श्रीकांत बंसल, गजेंद्र बंसल, विजय भारद्वाज, यशवीर त्यागी, जे0पी0 मंडल,अर्जुन प्रजापति, तरुण राज, प्रशांत झा, सोनू यादव,पवन गोयल, रामरूप गोयल, ओ0पी0 गोयल, सहित श्रीराम मित्र मण्डल के पदाधिकारी व शहर के गणमान्य लोग मौजूद रहे।

यह भी देखे:-

राजयसभा सांसद सुरेंद्र नागर ने किया श्री रामलीला कमेटी साईट - 4 रामलीला मंचन का उद्घाटन , कैकयी ...
आदर्श रामलीला सूरजपुर : लगी लंका में आग, क्रोधित हुआ लंकेश्वर
आदर्श रामलीला सूरजपुर : भिक्षा की आड़ में माता सीता का हरण कर लंका ले गया रावण
श्रीराम मित्र मंडल नोएडा रामलीला मंचन : धूमधाम से निकाली गयी राम बारात
जहांगीर रामलीला : धूमधाम के साथ निकाली गयी राम बरात, पुष्पवर्षा कर किया बरात का स्वागत
लवकुश धार्मिक रामलीला : नारद मोह की भावपूर्ण लीला देख गदगद हुए दर्शक
श्री रामलीला कमेटी ग्रेटर नोएडा रामलीला मंचन : शूर्पणखा की नाक कटी, रावण ने किया सीता का हरण
श्रीराम मित्र मण्डल  रामलीला में राम-जानकी विवाह का मंचन
श्रीराम मित्र मण्डल रामलीला मंचन : राम वन गमन देख दर्शकों के छलके आंसू
रबुपुरा रामलीला मंचन : बहन की नाक काटे जाने से क्रोधित रावण ने किया सीता का हरण
ग्रेटर नोएडा वेस्ट : रामलीला के मंच से मातृ पितृ पूजा करवाई गई, राम हनुमान मिलन और बाली वध की लीला ...
नारद मोह प्रसंग के साथ शुरू हुआ आदर्श रामलीला सूरजपुर का मंचन
जहांगीरपुर रामलीला: तड़का का हुआ वध, गूंजे जय श्री राम के जयकारे
श्री धार्मिक रामलीला सेक्टर पाई 1 में रावण दरबार का हुआ मंचन
जहांगीरपुर : श्री राम के राजतिलक के साथ रामलीला का समापन
श्रीराम मित्र मंडल रामलीला : अयोध्याय पहुंचे श्री राम, भरत ने सौंपा राज्य का भार , दीप जलाकर अयोध्य...