World Post Day 2021: भारत में डाक सेवाओं का इतिहास, सबसे पुराना टेलीग्राम

नई दिल्ली । 14वीं सदी में मुहम्मद बिन तुगलक के राज में दिल्ली आए ‘इब्नबतूता ने लिखा है कि, ‘हिंदुस्तान में दो तरह से पत्र भेजे जाते थे या तो घोड़ों के जरिए या फिर पैदल। हर चार मील पर सुल्तान के घुड़सवार दस्ते तैनात रहते थे जबकि पैदल हरकारों के लिए हर तीन मील पर चौकियां होती थीं और हर मील पर एक हरकारा जो दौड़ते वक्त एक हाथ में सारे पत्र और दूसरे में एक कोड़ा हिलाता रहता था, जिसके ऊपर छोटी घंटियां लगी रहती थीं। कलकत्ता (अब कोलकाता) का जनरल पोस्ट आफिस 1868 में बना था, अंग्रेजों ने दिल्ली को राजधानी बनाकर तवज्जो देनी शुरू की, कलकत्ता (अब कोलकाता)और शिमला के बाद। शिमला में 1883 में डाकघर खुल गया था, दिल्ली में 1885 में खुला, कश्मीरी गेट से लाल किले के रास्ते में बना ये दो मंजिला डाकघर अभी भी काम करता है।

अगस्त 1947 में दिल्ली में 104 डाकघर थे, 19 ग्रामीण इलाकों में थे। 1961 तक दिल्ली के केवल 81 डाकघरों में ही पब्लिक काल की सुविधा उपलब्ध थी। आधुनिक डाक सेवाओं का केंद्र बनने से पहले अंग्रेजों की राजधानी होने के नाते कलकत्ता (अब कोलकाता) और शिमला ही केंद्र थे। दिल्ली को अपना सर्किल और डायरेक्टर आफ पोस्टल सर्विसेज, जिसके अधीन पूरी दिल्ली की डाक सेवाएं कर दी गईं जबकि टेलीफोन और टेलीग्राफ को अलग विभाग के अधीन कर दिया गया।

सबसे पुराना टेलीग्राम

तारीख थी 11 मई, 1857 का, जिसमें मेरठ से आए सिपाहियों के आने की सूचना के अलावा ये भी था कि कैसे वो यूरोपियंस को मारकर उनके बंगले जला रहे हैं। लाहौर के ज्यूडिशल कमिश्नर मोंटगोमरी ने कहा था, ‘इलेक्टिक टेलीग्राफ ने भारत को बचा लिया’, दरअसल वो भारत की नहीं भारत में अपनी सत्ता की बात कर रहा था।

यह भी देखे:-

CRMNEXT bags the prestigious ‘Digital Solution of The Year’ award at Express IT Awards 2019
Arvind Kejriwal in Ayodhya: दिल्ली के सीएम ने हनुमानगढ़ी मंदिर में की पूजा-अर्चना, बोले- हर किसी को ...
शस्त्र का दुरूप्रयोग करने पर लाइसेंस होंगे निरस्तीकरण : डीएम बी.एन. सिंह
मानवता की मिसाल पेश करने वाले पुलिसकर्मियों को एसएसपी लव कुमार ने किया सम्मानित
एपीजे स्कूल में ऑनलाइन कक्षा में मनाया गया मदर्स डे, नन्हे मुन्नों ने अपने गतिविधि से लुभाया
एयर इंडिया: चुनिंदा संपत्तियां बेच रही सरकारी विमानन कंपनी, 300 करोड़ रुपये जुटाने की योजना
शाहजहांपुर  में वकील की हत्या, सूरजपुर कोर्ट में पुलिस ने बढ़ाई सुरक्षा 
RBI: रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं, आम लोगों को सस्ती EMI के लिए करना होगा इंतजार
क्या है पेगासस जासूसी मामला, जिसपर घिरी हुई है केंद्र सरकार, कौन हुआ हैकिंग का शिकार...जानें सबकुछ
गार्डन गैलेरिया योगात्सव 2018 का आयोजन, #HumFitTohIndiaFit चुनौती के लिए निमंत्रण
Olympics 2032: ब्रिसबेन करेगा 2032 ओलंपिक खेलों की मेजबानी, आईओसी ने लगाई मुहर
पहला सहकारिता सम्मेलन: इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम पहुंचे अमित शाह
भोपाल में ऑक्सीजन की किल्लत: गुजरात से आपूर्ति रुकी, संकट में 100 से ज्यादा अस्पताल
गौतमबुद्ध नगर लोकसभा चुनाव : जानिए किन प्रत्याशियों के नामांकन हुए रद्द
ग्रेटर नोएडा में बीटेक के छात्र की हत्या
जानिए- कैसा था अरुण जेटली का संपूर्ण जीवन