कांग्रेस की जड़ों में खामियां- पीके , लखीमपुर के बाद वापसी बड़ी गलतफहमी

लखीमपुर खीरी कांड के बाद अचानक से चर्चा में आई कांग्रेस पर चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने निशाना साधा है। उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर कांग्रेस का नाम लिए बिना लिखा है कि जो लोग या पार्टियां यह सोच रही हैं कि ‘ग्रैंड ओल्ड पार्टी’ के सहारे विपक्ष की तुरंत वापसी होगी वे गलतफहमी में हैं। उनको निराशा ही हाथ लगेगी। उन्होंने आगे लिखा है कि दुर्भाग्य से ‘ग्रैंड ओल्ड पार्टी’ की जड़ों और उनकी संगठनात्मक संरचना में बड़ी कमियां हैं। फिलहाल इस समस्या को कोई समाधान भी नहीं है।

 

अहम है पीके की टिप्पणी
कई राजनीतिक पार्टियों को सत्ता तक पहुंचा चुके प्रशांत किशोर के इस ट्वीट को आगामी चुनाव की दृष्टि से अहम माना जा रहा है। खबरों के मुताबिक, बंगाल चुनाव के बाद अटकलें थी कि पीके कांग्रेस का हाथ थाम सकते हैं, लेकिन उनके इस ट्वीट ने सभी अटकलों पर लगभग विराम लगा दिया है। प्रशांत किशोर अभी भी विपक्ष को भाजपा से मुकाबला करने लायक नहीं मानते हैं। उन्होंने पहले भी एक बयान में कहा था कि पार्टियों को अपने संगठनात्मक ढांचे में बदलाव करने की जरूरत है। ऐसे में उनके नए बयान को चुनाव से जोड़ कर देखा जा रहा है।

कांग्रेस के लिए झटका है पीके का बयान
लखीमपुर खीरी कांड के बाद उत्तर प्रदेश में अपनी खोई हुई जमीन तलाश कर रही कांग्रेस के लिए पीके का यह बयान बड़ा झटका है। कांग्रेस पार्टी के सहारे अन्य राजनीतिक दल भी विपक्ष को हवा देना चाह रहे थे, लेकिन पीके अभी भी कांग्रेस को विपक्ष का नेतृत्व करने लायक नहीं मानते हैं।

 

यह भी देखे:-

भाजयुमो द्वारा युवा कला संगम कार्यक्रम आयोजित
प्रधान का शव संदिग्ध परिस्थिति में पेड़ से लटका मिला
किन्नौर मे दरक गया पहाड़ ,यात्रियों से भरी बस और आधा दर्जन वाहन फँसे
मुगल काल से 2017 तक गायब थी यूपी की असली पहचान, भाजपा ने दिलाई वापस: अमित शाह
कोरोना: PM मोदी आज देश के 54 जिलों के डीएम के साथ बैठक करेंगे, संक्रमण के हालात और नियंत्रण पर चर्चा
दिल्ली के उद्योग नगर की जूता फैक्ट्री में लगी भीषण आग, 6 लोग लापता, दमकल की 31 गाड़ियां आग बुझाने मे...
गौतम बुद्धा सोसाइटी ने निर्धन बच्चों के साथ मनाया क्रिसमस डे
स्कूली बच्चों की सुरक्षा को लेकर जिला प्रशासन गम्भीर, डीएम ने की नोएडा के स्कूलों के  संचालकों व प्र...
स्वामी विवेकानन्द की जयन्ती के अवसर पर संगोष्ठी आयोजित
जानिए क्यों ? बजट 2019 से होम बायर्स हुए निराश
इन 5 चीज़ों को डाइट में शामिल कर रख सकते हैं अपनी किडनी को हेल्दी
CBSE ने जारी की 10वीं और 12वीं के एग्जाम की डेट शीट, ऐसे करें चेक
पढ़ें , अपराध पर अंकुश लगाने के लिए कमिश्नर ने मातहत अधिकारीयों को दिए कड़े दिशा-निर्देश
लॉक डाउन के अवधि की स्कूल फीस माफ़ हो : नेफोमा
उद्यमियों ने ग्रेनो प्राधिकरण के सीईओ को गिनाई समस्या
यूपी पंचायत चुनाव : ख़ुद को मौका नही मिला तो जुगाड़ मे लगें नेता जी, सामान्य और ओबीसी के दावेदारों ने ...