एयर इंडिया की 70 साल बाद घर वापसी, सबसे ज्यादा बोली लगाकर टाटा ग्रुप ने खरीदा: रिपोर्ट

एयर इंडिया की 70 सालों के बाद घर वापसी हो रही है। टाटा संस ने सबसे ऊंची बोली लगाकर एयर इंडिया को खरीद लिया है। अब जल्दी ही कंपनी के अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू होगी। ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक टाटा संस ने सबसे ज्यादा कीमत लगाकर बोली जीत ली है। रिपोर्ट में कहा गया है कि मंत्रियों के एक पैनल ने एयरलाइन के अधिग्रहण के प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया है। आने वाले दिनों में एक आधिकारिक घोषणा की उम्मीद है। रिपोर्ट के मुताबिक सरकार इसकी घोषणा जल्द कर सकती है। दिसंबर तक टाटा को एयर इंडिया का मालिकाना हक मिल सकता है।

हांलाकि अभी नागरिक उड्डयन मंत्रालय से इसकी पुष्टि नहीं हुई है।अगर ऐसा हुआ है तो कर्ज में डूबी सार्वजनिक क्षेत्र की एयरलाइन एयर इंडिया एक बार फिर टाटा ग्रुप के हाथों में चली जाएगी। दरअसल, एयर इंडिया के लिए बोली लगाने की आखिरी तिथि 15 सितंबर थी। इस एयरलाइन के लिए बोली लगाने वाली कंपनियों में टाटा संस भी शामिल थी।

tata air india

1932 में हुई थी एयरलाइन की शुरुआत

आपको बता दें कि जे आर डी टाटा ने 1932 में टाटा एयर सर्विसेज शुरू की थी, जो बाद में टाटा एयरलाइंस हुई और 29 जुलाई 1946 को यह पब्लिक लिमिटेड कंपनी हो गई थी। 1953 में सरकार ने टाटा एयरलाइंस का अधिग्रहण कर लिया और यह सरकारी कंपनी बन गई। अब एक बार फिर टाटा ग्रुप की टाटा संस ने इस एयरलाइन में दिलचस्पी दिखाई है। अगर इस बात की पुष्टि हो जाती है कि टाटा ने बोली जीत ली है तो करीब 70 साल बाद एक बार फिर एयर इंडिया टाटा ग्रुप के पास  आ जाएगी। टाटा संस की ग्रुप में 66 फीसदी हिस्सेदारी है, और ये टाटा समूह की प्रमुख स्टेकहोल्डर है।

बिक रही समूची हिस्सेदारी

केंद्र सरकार सरकारी स्वामित्व वाली एयरलाइन में अपनी 100 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचना चाहती है, जिसमें एआई एक्सप्रेस लिमिटेड में एयर इंडिया की 100 प्रतिशत हिस्सेदारी और एयर इंडिया एसएटीएस एयरपोर्ट सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड में 50 प्रतिशत हिस्सेदारी शामिल हैं। विमानन कंपनी साल 2007 में घरेलू ऑपरेटर इंडियन एयरलाइंस के साथ विलय के बाद से घाटे में है। साल 2017 से ही सरकार एयर इंडिया के विनिवेश का प्रयास कर रही है। तब से कई मौके पर प्रयास सफल नहीं हो पाए।

यह भी देखे:-

गलगोटिया  कॉलेज : इकोसिस्टम रेस्टोरेशन विषय पर एक राष्ट्रीय वेबिनार
दिल्ली सरकार ने बदला 'मुख्यमंत्री घर घर राशन योजना' का नाम, केजरीवाल ने किया एलान
सीबीएसई ताइक्वांडो चैम्पियनशिप में रयान इंटरनेशनल ग्रेटर नोएडा के बच्चों ने लहराया परचम
दादरी विधायक तेजपाल नगर ने कराया बस का संचालन, जानिए क्या है ख़ास
ग्रेटर नोएडा : सीएम योगी आदित्यनाथ को खून से लिखी चिट्ठी सौंपेंगे किसान
क्षमावाणी महापर्व पर बिलासपुर में जैन समाज ने किया भण्डारा
SMOG पर जिला  प्रशासन द्वारा प्रदूषण की  लगातार मॉनिटरिंग की जा रही है : डीएम बी.एन. सिंह
राजनीति: गृह मंत्री अमित शाह से मिले एनसीपी प्रमुख शरद पवार, सियासी अटकलें तेज
यूपी चुनाव 2022: ओवैसी के साथ मुरादाबाद में होने वाली सभा में शामिल नहीं हुए राजभर
बसंत पंचमी के पावन पर्व पर ग्रेटर नोएडा की गंधर्व सोसायटी में मां शारदे के पूजन का कार्यक्रम हुआ।
लोकतंत्र एवं पंथ निरपेक्षता पर विचार गोष्ठी
CORONA UPDATE : गौतमबुद्ध नगर में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या में उछाल, अब तक 90 मरीज स्वस्थ हुए
फ्लैट व आवासीय भूखंड के आवंटियों को रजिस्ट्री का आखिरी मौका
नक्सली हमला : सुरक्षा तंत्र को 25 लाख के इनामी हिडमा की ठोस जानकारी नहीं
लखीमपुर खीरी घटना : सुप्रीम कोर्ट ने लिया स्वत: संज्ञान, आज सुनवाई
ईस्टर्न पेरीफेरल पर डीएम बी.एन सिंह ने की किसानों के साथ बैठक, समस्या सुलझाने के लिए कमेटी गठित