गोरखपुर कांड: एफआइआर दर्ज होते ही थानेदार सहित छह पुलिस कर्मी फरार

गोरखपुर। Manish Murder Case: कानपुर के इडब्लूएस बर्रा-3 निवासी कारोबारी मनीष गुप्ता की हत्या के आरोपित निलंबित थानेदार जगत नारायण सिंह सहित छह पुलिस कर्मी रात में करीब डेढ़ बजे मुकदमा दर्ज होते ही भाग निकले। गोरखपुर पुलिस ने उन्हें पकड़ने पर विशेष ध्यान भी नहीं दिया, जबकि मंगलवार करीब 12 बजे ही पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों को पता चल गया था कि थानेदार सहित कई पुलिस कर्मियों की भूमिका घटना में संदिग्ध है।

पूरे दिन मामले को मैनेज करने में जुटे रहे हत्यारोपित पुलिस कर्मी

मंगलवार की रात मनीष गुप्ता की हत्या के बाद निलंबित थानेदार ने एसएसपी डा.विपिन ताडा को झूठी कहानी सुना दी थी। उन्होंने उन्हें बताया था कि मंगलवार रात में मनीष व उसके दोस्त नशे में थे। नशे में वह अपने बेड से नीचे गिरा और उसकी नाक में गंभीर चोट लग गई थी। उसे इलाज के लिए निजी अस्पताल व बीआरडी मेडिकल कालेज ले जाया गया। वहां इलाज के दौरान मनीष की मौत हो गई थी, लेकिन दोपहर करीब 12 बजे मनीष की पत्नी मीनाक्षी गुप्ता ने एसएसपी के पास एक रिकार्डिंग भेजी जिसमें मनीष ने अपने भांजे के दाेस्त दुर्गेश के पास कर बताया था कि पुलिस उसके साथ दुर्व्यवहार कर रही है। आडियो सुनने के बाद ही एसएसपी को पता चल गया था कि थानेदार उनसे झूठ बोल रहे थे। उन्होंने आडियो के आधार पर सभी छह पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया था।

मामले की जांच क्राइम ब्रांच को सौंपी गई है। एसपी क्राइम को पर्यवेक्षण की जिम्मेदारी दी गई है। जब तक किसी के विरुद्ध मुकदमा न दर्ज हो, उसे हिरासत में नहीं लिया जा सकता है। थानेदार व अन्य पुलिस कर्मी तो निलंबित होते ही यहां से भाग गए थे। उन्हें लग गया था कि कहीं उनके विरुद्ध कोई बड़ी कार्रवाई न हो जाए, इसे लेकर वह भाग गए थे। घटना को लेकर पोस्टमार्टम की भी गंभीरता से जांच की गई है। बाहर से कहीं घातक चोट के निशान नहीं मिले हैं। माथे पर रगड़ के निशान है। दोहनी पर दो छोटे घांव हैं। पुलिस ने पीड़िता की भी पूरी मदद की है। उनकी मांग पर तत्काल पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया गया। पोस्टमार्टम होने में देरी हुई, इसके चलते मुकदमा दर्ज होने में वक्त लगा। मुख्यमंत्री जी ने भी बिना किसी मांग के 10 लाख रुपये का मुआवजा दिया है। – डा.विपिन कुमार ताडा, एसएसपी।

यह भी देखे:-

कावड़ यात्रा : सुप्रीम कोर्ट ने यूपी सरकार को भेजा नोटिस , जानें क्यों
गौतम बुद्ध नगर कोरोना अपडेट, 24 घंटे में मिले 95 कोरोना पॉजिटिव मरीज , अब तक 1 की मौत
गलगोटियाज विश्वविद्यालय में पूर्व न्यायमूर्ति जे.आर. मिधा का स्वागत, छात्रों को देंगे कानून की शिक्ष...
शव रखकर ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन, पुलिस ने आवश्यक कार्यवाही व सहायता राशि का दिया आश्वासन
'राजीव गांधी खेल रत्न अवार्ड' अब होगा 'मेजर ध्यानचंद खेल रत्न अवार्ड- PM मोदी
मुनव्वर राना ने फिर दिया विवादित बयान, बोले-हिंदू भी होते हैं तालिबानी, भारत में उनसे ज्यादा हथियार
बंगाल चुनाव: स्वपन दासगुप्ता को टिकट देना बना बीजेपी की सिरदर्द? कांग्रेस-TMC ने किया विरोध
दादरी तहसील-भारतीय किसान यूनियन के ग्रामअध्य्क्ष बने मांगेराम प्रधान व हरिओम सिसौदिया
प्रदर्शन कर रहे सफाई कर्मियों पर भांजी लाठियां, खदेड़ा 
CORONA UPDATE, गौतमबुद्ध नगर में बढे कोरोना के मरीज, XUIII ग्रेटर नोएडा में दो कोरोना पॉजिटिव मरीज
बच्चों पर कोवैक्सीन का ट्रायल पूरा होने के करीब, केंद्र ने HC में दिए हलफनामे में दी जानकारी
नामी कंपनी के जूस में निकला फंगस , नोवरा अध्यक्ष ने की शिकायत
घर में दवाइयों की डिलीवरी के लिए इन नम्बरों पर करें CALL
सेक्टर डेल्टा टू की समस्याओं का समाधान नहीं हुआ था जल्द होगा प्राधिकरण के खिलाफ आंदोलन - आलोक नागर
बीटा 1 सेक्टर में पानी को लेकर तरसे लोग
अमेरिका में कोरोना :: मरने वालों का आंकड़ा 7 लाख के पार, बीते हफ्ते रोजाना दो हजार की गई जान