यूपी : अयोध्या में आयुर्वेदिक और वाराणसी में होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज खुलेगा

प्रदेश में आयुष सोसायटी के तहत दो नए राजकीय मेडिकल कॉलेज खोलने की तैयारी है। अयोध्या में राजकीय आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज एवं वाराणसी में राजकीय होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज खोला जाएगा। इससे मरीजों को उपचार के साथ दोनों विधा के नए डॉक्टर तैयार करने में मदद मिलेगी। चुनावी साल में दोनों धार्मिक स्थल से खुलने वाले कॉलेजों को सियासी नजरिए से भी अहम माना जा रहा है।

 

प्रदेश में आयुष विश्वविद्यालय की नींव पड़ चुकी है। अब इस पद्धति का विकास किया जा रहा है। इसके तहत एलोपैथ की तरह ही आयुर्वेदिक एवं होम्योपैथिक कॉलेज खोले जाएंगे। शासन की ओर से प्रदेश में करीब छह कॉलेज खोलने की रूपरेखा तैयार की जा रही है। पहले चरण में होम्योपैथिक और आयुर्वेदिक विधा के एक-एक राजकीय कॉलेज खोलने की योजना बनाई गई है। ये कॉलेज उत्तर प्रदेश राज्य आयुष सोसायटी (आयुष मिशन) के तहत खोले जाएंगे।

 

इसमें अयोध्या में राजकीय आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज और वाराणसी में राजकीय होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज खोला जाएगा। इसके लिए दोनों जगह कम से कम पांच एकड़ जमीन की जरूरत होगी। आयुष विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रशांत त्रिवेदी ने वाराणसी के जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा और अयोध्या के जिलाधिकारी अनुज कुमार झा को जमीन तलाशने का निर्देश दिया है।

दोनों जिलाधिकारियों को भेजे पत्र में कहा गया है कि जल्द से जल्द जमीन चिन्हित कर अवगत कराएं। ताकि आगे की कार्यवाही शुरू की जा सके। इन दोनों कॉलेजों के खुलने से बीएएमएस और बीएचएमएस में100-100 सीटें बढ़ जाएंगी। संबंधित क्षेत्र के लोगों को दोनों विधा की चिकित्सा सुविधा मिल सकेगी। दोनों जिले में कम से कम 100-100 बेड के नए अस्पताल बनेंगे। नए अस्पताल शुरू होने से संबंधित क्षेत्र में स्थित अस्पतालों को संबद्ध किया जा सकेगा।

अभी क्या है स्थिति
प्रदेश में आठ राजकीय और 59 निजी आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज हैं। यहां स्नातक की करीब 550 और परास्नातक की 275 सीटें है। इसी तरह होम्योपैथिक की नौ राजकीय और दो निजी मेडिकल कॉलेज हैँ। यहां 1176 स्नातक और 53 परास्नातक  सीटें हैं। यूनानी चिकित्सा पद्धति का एक मेडिकल कॉलेज प्रयागराज तो दूसरा लखनऊ में है। इसी तरह 13 निजी कालेज हैं। इस पद्धति की करीब 739 स्नातक और 40 परास्नातक की सीटें हैँ।

52 एकड़ में बन रहा है विश्वविद्यालय
गोरखपुर में करीब 52 एकड़ में बन रहे आयुष विश्वविद्यालय को मार्च 2023 से संचालित करने की तैयारी है। करीब 299 करोड़ की लागत से बनने वाले इस विश्वविद्यालय से सभी आयुर्वेदिक, होम्योपैथिक, यूनानी कॉलेज संबद्ध होंगे।

 

यह भी देखे:-

पहल : बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में दर्ज हुआ गाजियाबाद नगर निगम, ग्रीन बॉन्ड जारी करने की तैयारी
मकोड़ा के किसानों ने जिलाधिकारी को सौंपा  ज्ञापन,  अवार्ड की घोषणा को ग़लत बताया, पढ़ें पूरी खबर
पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह ने किया ध्वजारोहण , जनपदवासियों को स्वतंत्रता दिवस की दी बधाई 
ग्रेटर नोएडा : 10 वें दिन भी जारी रहा भाकियू का धरना
नोएडा : सपा ने किया ग्रामीणों के धरने का समर्थन
PM का काशी दौरा : आगमन से पहले तैयारी परखने अाज आएंगे सीएम योगी, कार्यक्रम स्थलों का करेंगे निरीक्ष...
हिमालय क्षेत्र में बढ़े टूटे और लटके हुए ग्लेशियर, तबाह कर सकते हैं नदी किनारे बसे गांव और शहर
शारदा विश्विद्यालय में फ्रेशर पार्टी, छात्र-छात्राएं म्यूजिक पर थिरके, उमंग सेठी मिस्टर फ्रेशर तो चा...
ऑनलाइन प्रतियोगिता में बच्चों ने दिखाई प्रतिभा, ई॰एम॰सी॰टी॰ द्वारा आयोजित किया गया नैशनल टैलेंट हंट ...
मायावती ने भाजपा पर हमला करते हुए कहा कि प्रदेश में सपा की तरह ही जंगलराज
ईमानदार करदाताओं  को तोहफा, नया प्लेटफॉर्म लॉन्च, देखें क्या बोले पीएम  मोदी
कृषि कानून के विरोध में अकाली दल का काला दिवस, बैरिकेडिंग  और रूट डायवर्जन के चलते इलाकों में लगा ज...
दिसंबर तक 18 साल से ज्यादा उम्र वाली पूरी आबादी को कैसे लगेगा कोरोना टीका, सरकार ने बताया पूरा प्लान
नोएडा : सेक्टर-63 में फर्जी कॉल सेंटर पर पुलिस की छापेमारी, मौके से दस्तावेज और बड़ी संख्या में कंप्...
उम्मीद: 102 साल पहले के स्पैनिश इंफ्लुएंजा की तरह कोविड-19 से भी मुकाबला करेगा भारत
कोविड संक्रमितों की संख्या के आधार पर जिलाधिकारी लें नाइट कर्फ्यू का फैसला, अफसरों से बोले सीएम योगी