सरकार ने किया साफ: कम नहीं होगा कोविशील्ड के डोज का अंतर, सबके लिए नियम एक समान

भारत सरकार कोविड रोधी वैक्सीन कोविशील्ड के दोनों डोज के बीच 84 दिन के अंतर को कम करने के किसी भी फैसले पर विचार नहीं कर रहा है। वरिष्ठ विशेषज्ञों ने कहा कि सरकार कोविशील्ड की दो खुराक के बीच के अंतर को नहीं घटाएगी। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में यह बात कही जा रही थी कि भारत में जल्द ही कोविशील्ड के पहले और दूसरे डोज के बीच के समय को कम किया जा सकता है, जिससे लोग कम समय में कोविशिल्ड के दोनों डोज ले सकेंगे, लेकिन सरकार ने स्पष्ट कर दिया है कि ऐसा कुछ भी विचार नहीं किया गया है।

दरअसल, पिछले दिनों केरल हाईकोर्ट ने कोविशील्ड टीके की पहली खुराक के चार सप्ताह बाद ही दूसरी खुराक लेने का आदेश जारी किया था, लेकिन केरल हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ केंद्र ने अपील दायर की।

.तो केंद्र के सामने खड़ी होंगी बड़ी चुनौती
केंद्र ने अपनी अपील में कहा है कि अगर केरल हाईकोर्ट की एकल पीठ की ओर से तीन सितंबर को दिए गए आदेश को वापस नहीं लिया गया तो कोविड-19 से मुकाबला करने की केंद्र सरकार की रणनीति के क्रियान्वयन में समस्या पैदा हो सकती है। कोविशील्ड के दूसरे डोज के लिए 12 हफ्तों यानी 84 दिनों के लिए इंतजार करना जरूरी है। सरकार ने समयावधि बढ़ाने के पीछे वैज्ञानिक तथ्यों का हवाला दिया है, जिसमें कहा गया है कि दो डोज के बीच लंबे अंतराल से वैक्सीन का असर ज्यादा दिखा।

 

यह भी देखे:-

जानें बंगाल के उस मुस्लिम युवक के बारे में, जिसकी बातें सुनी पीएम मोदी ने
जीएल बजाज में पीजीडीएम का दीक्षारम्भ समारोह, कारपोरेट जगत की कई हस्तियों ने किया शिरकत
अब नॉन कोविड अस्पतालों में भी भर्ती होंगे संक्रमित
बिलासपुर मे कूड़े की समस्या को लेकर करप्शन फ्री इंडिया संगठन ने दिया ज्ञापन
UPSC सिविल सेवा परीक्षा 2021 का नोटिफिकेशन जारी, जानें वैकेंसी, योग्यता, आवेदन समेत खास बातें और अहम...
जेवर विधायक ने गौ सेवा कर मनाया पीएम का 71वां जन्मदिन जन्मदिन
जेवर विधायक ठाकुर धीरेंद्र सिंह ने हतेवा गाँव मे सुनी ग्रामीणों की जन समस्या
सीईओ नरेंद्र भूषण ने ग्रेनो वेस्ट का किया दौरा कर दिया ये दिशा- निर्देश , पढ़ें पूरी खबर
छात्र संघ चुनावो पर रोक लगाना योगी सरकार द्वारा युवाओं को राजनीति की मुख्यधारा से दूर करने का षड्यंत...
संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद : आज बैठक में PM मोदी इतिहास रचेंगे ,ऐसे करने वाले पहले भारतीय प्रधा...
भाकियू के संस्थापक स्व0 चौधरी टिकैत की मनायी गयी पुण्यतिथि
आईईसी काॅलेज में थैलेसीमिया पर सेमिनार का आयोजन
एनटीपीसी दादरी: प्लास्टिक के दुष्परिणाम को लेकर चलाया अभियान
"संविधान दिवस" के अवसर पर "भारत रत्न डॉ. अम्बेड़कर अवार्ड्स" से सम्मानित हुईं सायना नेहवाल, सोनू निगम...
मशहूर इतिहासकार पद्मश्री योगेश प्रवीण का निधन, लखनऊ के इतिहास पर किया विशेष काम
इन जिलाबदर गुंडों की जनता से मांगी गई फीडबैक, पढ़ें पूरी खबर