आने वाले तीन महीने हो सकते हैं खतरनाक, त्यौहारों के मौसम में कहर बरपा सकता है डेल्टा वैरिएंट

कोरोना की तीसरी लहर के मद्देनजर विशेषज्ञों ने चेतावनी देते हुए कहा है कोरोना की दूसरी लहर से राहत जरूर मिल रही है लेकिन आने वाले तीन महीनों में लोगों को सावधान रहने की जरूरत है। विशेषज्ञों ने कहा कि आने वाले तीन महीनों में बड़े-बड़े त्यौहारों का आयोजन होने वाला है, जिसके कारण अधिक से अधिक भीड़ उमड़ने की संभावना है। इसलिए लोगों को सतर्क रहने की आवश्यकता है और घर पर ही रहकर त्यौहार मनाना चाहिए।

बता दें कि महामारी पर शोध करने वाले एक वैज्ञानिक ने अगस्त में आशंका जताई थी कि यदि भारत में वायरस के मौजूदा स्वरूपों से अधिक संक्रामक कोई स्वरूप सितंबर तक सामने आता है तो अकतूबर से नवंबर के बीच कोरोना की तीसरी लहर चरम पर हो सकती है और डेल्टा वैरिएंट कहर बरपा सकता है।

त्यौहारों के दौरान कोरोना प्रोटोकॉल का पालन जरूरी: डा. एनके अरोड़ा
वहीं टीकाकरण पर राष्ट्रीय तनकीकी सलाहकार समूह के कोविड-19 कार्यसमूह के अध्यक्ष डा. एनके अरोड़ा ने कहा कि पिछले कुछ महीनों से तेजी से हो रहे टीकाकरण और कोरोना के किसी नए वैरिएंट के सामने नहीं आने के बाद हालात फिलहाल काबू में हैं। अब तीसरी लहर को लेकर सबसे बड़ा खतरा त्यौहारों के सीजन में होगा। अगर लोग त्यौहारों के दौरान कोरोना प्रोटोकॉल का पालन नहीं करेंगे, तो हालात फिर से बिगड़ सकते हैं।

भीड़ का जुटना हो सकता है खतरनाक: डॉ. गुलेरिया
अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के निदेशक रणदीप गुलेरिया ने कहा कि इस समय कोरोना के मामलों में तेजी से गिरावट देखी जा रही है और स्थिति काफी अच्छी है। हालांकि आने वाले दिनों में त्यौहारों के मौसम तथा उस दौरान कोविड संबंधी तौर-तरीकों के पालन में आने वाली कमी, बड़े स्तर पर भीड़ का जुटना भी तीसरी लहर को लेकर निर्णायक कारक साबित हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि अगले दो से तीन महीने देश में स्थिति बेहतर बने रहने के लिहाज से रोकथाम वाली रणनीतियों के लिए महत्वपूर्ण हैं।

यह भी देखे:-

'सेवइन एप' : रुचि के क्षेत्र में बढ़ने से मिलेगी सफलता, इससे क्या होगा फायदा
24 वीं मंजिल से गिरकर 17 वर्षीय युवक की मौत
हाई राइज सोसाइटी में लगी भीषण आग, फायर हाइड्रेट सिस्टम ने आग पर काबू पाया
गौतम बुद्ध नगर के पूर्व डीएम बी०एन० सिंह ने नेफोमा अध्यक्ष अन्नू खान को ईद की दी मुबारकबाद
सीएम योगी आदित्यनाथ की सुरक्षा को लेकर छावनी में तब्दील दादरी
भुवनेश्वर कुमार को ICC ने चुना 'प्लेयर ऑफ द मंथ', रिषभ पंत और आर अश्विन भी चुने गए थे बेस्ट खिलाड़ी
दर्दनाक : सड़क हादसे में बाइक सवार पति-पत्नी की मौत , मिड-डे-मील वाहन ने छात्र को कुचला
UP Kanwar Yatra 2021 Guideline: जरूरी होगी RTPCR नेगेटिव रिपोर्ट, CM योगी ने निर्णय लेने के दिए निर्...
स्टार्टअप महाकुंभ में एकेटीयू के स्टार्टअप को मिल रही सराहना
ग्रेनो प्राधिकरण की एक मंजिला आवासीय भवनों की योजना का ड्रा 17 को
आईआईएमटी कॉलेज में दो दिवसीय ‘स्व लक्ष्य-2024’ की शुरुआत
यमुना एक्सप्रेस वे व पेरीफेरल एक्सप्रेस वे जोड़ने को लेकर इंटरचेंज बनाने का रास्ता साफ
ICC T20 World Cup- बीसीसीआइ व आइसीसी के अधिकारियों के बीच हुई बैठक
कौन हैं खान सर, जिसे यूपी-बिहार के युवा करते हैं पसंद; इनदिनों अपने नाम को लेकर हो रहे ट्रोल
जुनेदपुर गांव में 1857 की क्रांति शहीद  गुर्जर दरियाव सिंह नागर को दी  श्रद्धांजलि 
यमुना प्राधिकरण ने एयरपोर्ट के पास निकाली 1184 भूखेंड़ों की योजना