मां की दर्द भरी पुकार: मेरे लाल का बदन तप रहा है, भर्ती कर लो डॉक्टर साहब… एक बेटा खोने के बाद दूसरे को बचाने की गुहार

मेरे लाल का बदन बुरी तरह तप रहा है। आंख भी सही ढंग से नहीं खोल पा रहा है। डॉक्टर साहब… मेरे लाल को भर्ती कर लो। कुछ ऐसी ही दर्द भरी गुहार महिलाएं डॉक्टरों से लगाती दिख रही हैं। सौ शैय्या अस्पताल में बीमार बच्चों को भर्ती कराने के लिए परिजन बेबस व लाचार नजर आ रहे हैं। झलकारी नगर निवासी मां रजनेश के डेढ़ माह के पुत्र की बीते सोमवार को बुखार से मौत हो गई थी। एक बच्चे की मौत पर मां के आंसू नहीं सूख पाए थे दूसरा बच्चा विवेक पुत्र प्रदीप भी बुखार से तपने के साथ उल्टी और पेट दर्द से कराह रहा था। मां रजनेश विवेक को सौ शैय्या अस्पताल लेकर पहुंची तो डॉक्टर ने रक्त जांच कराने को कह दिया। जांच रिपोर्ट शाम तक आने के बाद ही भर्ती करने को कहा।

मां रजनेश अपने बच्चे को लेकर सौ शैय्या अस्पताल के सामने लगे टैंट में बैठी रही। रोती, बिलखती मां बच्चे का बुखार उतारने के लिए पानी की पट्टी रखती रही। रतनेश ने बताया कि पहला बच्चा सोमवार को खत्म हो गया है। दूसरे बीमार बच्चे को भर्ती कराने के लिए लाए तो डॉक्टर ने रिपोर्ट आने तक भर्ती न करने को कह दिया। रिपोर्ट आने तक यूं ही इंतजार करते रहेंगे।

 

यह भी देखे:-

महापंचायत में होगी तीन कृषि कानूनों को वापस कराने की रणनीति तय- राजेश चौहान
जानिए कौन मांग रहा था PAYTM के मालिक से करोड़ों की रंगदारी, हुआ गिरफ्तार
महिलाएं एवं बच्चियां हो रही है हिंसा का शिकार,डॉ राहुल वर्मा
भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने के लिए लोकायुक्त प्रशासन का ठोस कदम
लखीमपुर खीरी : मृत किसानों की अंतिम अरदास में शामिल होंगी प्रियंका गांधी वाड्रा
Unnao case: किशोरी ने शुरू किया खाना पीना, आज दर्ज हो सकते हैं बयान, वेंटीलेटर सपोर्ट हटाया गया
मंगलवार को तहसीलों में आयोजित होगा सम्पूर्ण समाधान दिवस
दिल्ली सरकार:: दुनिया की बनी पहली ऐसी सरकार जो अब सिर्फ इलेक्ट्रिक वाहनों का करेगी इस्तेमाल
उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार प्रतिनधि मंडल नोएडा इकाई ने बजट की प्रसंशा की
गौतम बुद्धा सोसाइटी ने निर्धन बच्चों के साथ मनाया क्रिसमस डे
नहीं पता कैसे हुई दानिश की मौत, ...फोटो जर्नलिस्ट की हत्या से तालिबान का इनकार
पुलिस ने पेश की मानवता की मिसाल , गरीब व्यक्ति/बच्चे भूख (खाने की सामग्री न होने) पर डायल करें 112
Rinku Sharma: जिसकी पत्नी को खून देकर बचाई थी जच्चा बच्चा की जान, उसी ने कर दी हत्या
'बाजार जाएं तो थैला लेकर जाएं, पॉलिथीन को न कहें’
शहर हो गए ख़ाली प्यारे, अब शहर कौन बनाएगा : राजेश मिश्रा
Coronavirus Safety TIPS : कोरोना से बचानी है जान तो रखें इन बातों का ख्‍याल, नीति आयोग की बैठक में व...