बताइए, कितनों को दिलवाई सजा, कितने केस पेंडिंग, CBI का रिपोर्ट कार्ड तैयार करेगा सुप्रीम कोर्ट

केंद्रीय जांच ब्यूरो यानी सीबीआई की कार्यशैली से नाराज सुप्रीम कोर्ट ने एजेंसी से सक्सेस रेट बताने को कहा है। सीबीआई द्वारा मुकदमा चलाए जा रहे मामलों में अत्यधिक देरी का हवाला देते हुए सुप्रीम कोर्ट ने अदालती मामलों में एजेंसी की सफलता दर (सक्सेस रेट) पर डेटा मांगा है। माना जा रहा है कि सुप्रीम कोर्ट सीबीआई के प्रदर्शन का मूल्यांकन कर सकता है। दरअसल, एक मामले में सीबीआई द्वारा 542 दिनों की देरी के बाद अपील दायर किए जाने पर सुप्रीम कोर्ट ने नाराजगी व्यक्त की और उसने केंद्रीय एजेंसी के कामकाज औप उसके परफॉर्मेन्स का विश्लेषण करने का फैसला किया।

रिपोर्ट के मुताबिक, सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई निदेशक को निर्देश दिया है कि वह उन मामलों की संख्या को कोर्ट के सामने रखें, जिनमें एजेंसी ट्रायल कोर्ट और हाईकोर्टों में अभियुक्तों को दोषी ठहराने में सफल रही। कोर्ट ने यह भी पूछा है कि सीबीआई निदेशक कानूनी कार्यवाही के के संबंध में विभाग को मजबूत करने के लिए क्या कदम उठा रहे हैं? जस्टिस संजय किशन कौल और एमएम सुंदरेश की बेंच ने कहा कि सीबीआई की कुछ जवाबदेही होनी चाहिए।

दो जजों जस्टिस संजय किशन कौल और जस्टिस एम सुंदरेश की पीठ ने कहा कि एजेंसी के लिए केवल मामला दर्ज करना और जांच करना ही काफी नहीं है, बल्कि यह सुनिश्चित करना भी है कि अभियोजन सफलतापूर्वक किया जाए। पीठ ने सीबीआई से अभी निपटाए जा रहे केसों और सफलतापूर्वक पूरे किए गए मामलों का पूरा विवरण मांगा है। सीबीआई को यह भी ब्योरा देने के लिए कहा गया है कि अदालतों में कितने मामले लंबित हैं और कितने समय से हैं।

सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में अपील दायर करने में अत्यधिक देरी के लिए सीबीआई की खिंचाई की है। सुप्रीम कोर्ट ने अब एक कदम आगे बढ़ाते हुए अन्य मामलों में भी एजेंसी के प्रदर्शन का विश्लेषण करने का फैसला किया है। सुप्रीम कोर्ट की इस पीठ ने कहा कि हम सीबीआई की सफलता दर की जांच करेंगे। दरअसल, पीठ 2018 में सीबीआई द्वारा दायर एक साल से अधिक समय पर एक अपील से जुड़े एक मामले की सुनवाई कर रही थी,  जिसमें जम्मू-कश्मीर उच्च न्यायालय ने अपना फैसला सुनाया था।

यह भी देखे:-

अख्तर प्रधान बने किसान एकता संघ के तहसील अध्यक्ष सदर
जांबाज दरोगा को एसएसपी ने दिया प्रशस्ति पत्र , सामाजिक संगठन ने किया सम्मानित
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की बोर्ड बैठक हुई आयोजित, जानिए क्या हुए निर्णय 
गौतमबुद्ध नगर में कोरोना का कहर : नौ माह के बच्चे और अस्सी साल के बुजुर्ग समेत चार संक्रमित
ट्रैक्टर रैली की तैयारी को लेकर बीकेयू अराजनैतिक की बैठक 
संसद हमले की बरसी, यूनाईटेड हिन्दू फ्रंट ने आतंकवाद का पुतला व पाकिस्तानी झण्डा फूंका
गौतम बुद्ध ने सामाजिक बुराइयों के खिलाफ उपदेशों के जरिए बुलंद की थी आवाज
भाजपा ने किया देश के नौजवानों के साथ धोखा : सिद्धार्थ सिंह
सर्दियों में यमुना एक्सप्रेस-वे पर तेज गाड़ी चलाई होगा चालान
कोवैक्‍सीन के मुकाबले कोवीशील्‍ड शरीर में बनाती है अधिक एंटीबॉडीज, शोध में हुआ खुलासा
ग्रेटर नोएडा लापता छात्राएं पटना में सकुशल मिली
हरियाली तीज मेहंदी प्रतियोगिता में शहजीन सैफी, प्राची, निशा, शबनम और जीनत रही प्रथम
16 वीं मंज़िल से कूदकर महिला ने दी जान
सपा कार्यकर्ताओं ने हाथरस की बेटी को दी श्रद्धांजलि
मुंबई: महलों के बाद अब आर्थर जेल मे रहेगा भगोड़ा मोदी, तैयार है "स्पेशल सेल"
GBU ने नया एम.एस. सी. मॉलिक्यूलर मेडिसिन कार्यक्रम शुरू किया