बताइए, कितनों को दिलवाई सजा, कितने केस पेंडिंग, CBI का रिपोर्ट कार्ड तैयार करेगा सुप्रीम कोर्ट

केंद्रीय जांच ब्यूरो यानी सीबीआई की कार्यशैली से नाराज सुप्रीम कोर्ट ने एजेंसी से सक्सेस रेट बताने को कहा है। सीबीआई द्वारा मुकदमा चलाए जा रहे मामलों में अत्यधिक देरी का हवाला देते हुए सुप्रीम कोर्ट ने अदालती मामलों में एजेंसी की सफलता दर (सक्सेस रेट) पर डेटा मांगा है। माना जा रहा है कि सुप्रीम कोर्ट सीबीआई के प्रदर्शन का मूल्यांकन कर सकता है। दरअसल, एक मामले में सीबीआई द्वारा 542 दिनों की देरी के बाद अपील दायर किए जाने पर सुप्रीम कोर्ट ने नाराजगी व्यक्त की और उसने केंद्रीय एजेंसी के कामकाज औप उसके परफॉर्मेन्स का विश्लेषण करने का फैसला किया।

रिपोर्ट के मुताबिक, सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई निदेशक को निर्देश दिया है कि वह उन मामलों की संख्या को कोर्ट के सामने रखें, जिनमें एजेंसी ट्रायल कोर्ट और हाईकोर्टों में अभियुक्तों को दोषी ठहराने में सफल रही। कोर्ट ने यह भी पूछा है कि सीबीआई निदेशक कानूनी कार्यवाही के के संबंध में विभाग को मजबूत करने के लिए क्या कदम उठा रहे हैं? जस्टिस संजय किशन कौल और एमएम सुंदरेश की बेंच ने कहा कि सीबीआई की कुछ जवाबदेही होनी चाहिए।

दो जजों जस्टिस संजय किशन कौल और जस्टिस एम सुंदरेश की पीठ ने कहा कि एजेंसी के लिए केवल मामला दर्ज करना और जांच करना ही काफी नहीं है, बल्कि यह सुनिश्चित करना भी है कि अभियोजन सफलतापूर्वक किया जाए। पीठ ने सीबीआई से अभी निपटाए जा रहे केसों और सफलतापूर्वक पूरे किए गए मामलों का पूरा विवरण मांगा है। सीबीआई को यह भी ब्योरा देने के लिए कहा गया है कि अदालतों में कितने मामले लंबित हैं और कितने समय से हैं।

सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में अपील दायर करने में अत्यधिक देरी के लिए सीबीआई की खिंचाई की है। सुप्रीम कोर्ट ने अब एक कदम आगे बढ़ाते हुए अन्य मामलों में भी एजेंसी के प्रदर्शन का विश्लेषण करने का फैसला किया है। सुप्रीम कोर्ट की इस पीठ ने कहा कि हम सीबीआई की सफलता दर की जांच करेंगे। दरअसल, पीठ 2018 में सीबीआई द्वारा दायर एक साल से अधिक समय पर एक अपील से जुड़े एक मामले की सुनवाई कर रही थी,  जिसमें जम्मू-कश्मीर उच्च न्यायालय ने अपना फैसला सुनाया था।

यह भी देखे:-

भारतीय समुदाय का दबदबा: बाइडन ने वैज्ञानिक स्वाति से कहा- आप छाए हुए हैं
UNDER-19 CRICKET WORLD CUP : क्रिकेटर शिवम मावी ने जीत में निभाई अहम भूमिका, नोएडा में जश्न
सुहाग के गीत व नृत्य के साथ  गौड सिटी 1 मे महिलाओं ने ऑनलाइन मनाया हरियाली तीज त्यौहार
किसान एकता संघ संगठन की गौतम बुद्ध नगर समेत तीन जिलों की कार्यकारिणी भंग 
ग्रेनो प्राधिकरण ने दो फर्मों पर लगाया पांच लाख का जुर्माना
लीगल एड सोसायटी, शारदा विश्विद्यालय ने वृद्धाश्रम मे कानूनी जानकारी व दन्त चिकित्सीय कैम्प का किया आ...
जानिए एनसीआर की कोराेना गाइडलाइन: दिल्ली के बाद अब नोएडा और गाजियाबाद में नाइट कर्फ्यू की तैयारी?
शिक्षक भर्ती घोटाले का हाईकोर्ट के निगरानी में हो एसआईटी जांच: राहुल सेठ
मोदी को प्रचंड बहुमत , जेवर में निकला विजय जुलुस
अखिल भारतीय फार्मासिस्ट एसोसिएशन ने मनाया वर्ल्ड फार्मासिस्ट डे ।
यमुना एक्सप्रेस-वे के टोल प्लाजा पर लगने वाली लाइनें होंगी खत्म, 10 दिन में शुरू होगी फास्टैग सुविधा
ट्रेन की चपेट में आने से युवक की मौत
UP ELECTION 2022:राकेश टिकैत ने नो वोट फॉर बीजेपी का दिया संदेश
सभी पार्टियों ने क्षेत्र की जनता को किया निराश अन्नू खान ने निर्दलीय चुनाव लड़ने की घोषणा
करप्शन फ्री इंडिया के कार्यकर्ताओं ने पौधरोपण करके दिया हरियाली का संदेश
होम बायर्स के लिए नफोवा का जंतर मंतर पर प्रदर्शन