बढ़ते पेट्रोल डीज़ल के दामों से जल्द मिल सकती है राहत, पढें पूरी रिपोर्ट

आने वाले दिनों में आम जनता को महंगाई से थोड़ी राहत मिल सकती है। जल्द ही पेट्रोल-डीजल की कीमत कम हो सकती है। ऐसा इसलिए क्योंकि तेल निर्यातक देशों के संगठन (ओपेक) और रूस की अगुवाई में सहयोगी देशों ने बुधवार को धीरे-धीरे उत्पादन बढ़ाने को लेकर सहमति जताई है। कोरोना वायरस महामारी से प्रभावित वैश्विक अर्थव्यवस्था में पुनरुद्धार और ईंधन मांग में तेजी आने की वजह से यह फैसला लिया गया है।

दैनिक 4,00,000 बैरल की बढ़ोतरी
दरअसल पिछले साल लॉकडाउन और यात्रा पाबंदियों की वजह से ईंधन की मांग में आई कमी के चलते ओपेक और सहयोगी देशों ने उत्पादन में कटौती की थी। लेकिन अब यह धीरे-धीरे बढ़ सकती है। समूह ने अक्तूबर से राजाना 4,00,000 बैरल तेल उत्पादन जोड़ने की योजना पर सहमति जताई। मालूम हो कि न्यूयॉर्क मर्केन्टाइल एक्सचेंज में तेल की कीमत 1.6 फीसदी घटकर 67.40 डॉलर प्रति बैरल रही। वहीं वैश्विक मानक ब्रेंट क्रूड 1.4 फीसदी घटकर 70.67 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया है।

जुलाई में बनाई थी योजना
जुलाई में ओपेक देशों ने कहा था कि अगस्त से उत्पादन में हर माह दैनिक 4,00,000 बैरल की बढ़ोतरी की जाएगी और इस तरह इस समय लागू 58 लाख बैरल/दैनिक की कटौती धीरे-धीरे 2022 के अंत तक समाप्त हो जाएगी।

ओपेक ने स्वीकारा, लगातार बढ़ रही तेल की कीमतें
इससे पहले ओपेक के बयान में यह स्वीकार किया था कि तेल की कीमतें लगातार बढ़ रही हैं। उसने कहा था कि ‘दुनिया के अधिकतर हिस्सों में टीकाकरण कार्यक्रम तेज होने से आर्थिक गतिविधियों में सुधार हो रहा है।’ दुनिया की प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में टीकाकरण की रफ्तार तेज होने के बाद मांग में सुधार हुआ है।

 

यह भी देखे:-

जेवर : सम्पूर्ण समाधान दिवस में युवा मोर्चा भाजपा द्वारा जिलाधिकारी गौतबुद्धनगर को सौंपा शिकायती/मां...
पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ एक लाख का इनामी बदमाश गिरफ्तार
सांसद डॉ. महेश शर्मा ने की नागरिकता संशोधन विधेयक शांति अपील
आजमपुर गढ़ी में ग्राम पुस्तकालय को बनाया गया क्वारन्टीन सेंटर, दिल्ली पुलिस का हेड कॉन्स्टेबल निभा रह...
चीन में कोरोना की वापसी से दहशत: फिर से घरों में कैद हुए लोग, स्कूल बंद और उड़ानें हुईं रद्द
वाराणसीः कैंट स्टेशन पर प्लेटफार्म टिकट की बिक्री बंद, मुख्य प्रवेश द्वार को छोड़कर सभी रास्तों को क...
स्थापना दिवस पर भ्रष्टाचार मुक्त भारत आंदोलन के अनुच्छेद पहलू पत्रिका का हुआ विमोचन
पति की गुलाम या संपत्ति नहीं है पत्नी, साथ रहने को नहीं किया जा सकता मजबूर: सुप्रीम कोर्ट
गलगोटिया विश्विद्यालय के सहयोग से सार्थक एडू-विज़न एक्सपो का आयोजन   
सारिका गोयल ने किया समाज का नाम रोशन
इन दुकानों का पनीर और बर्फी का सैंपल फेल, प्रशासन ने लगाया लाखों का जुर्माना
सामाजिक एम्पीयरस अकादमी ने शिक्षा को बनाया गरीबी मिटाने का मंत्र
कोविड-19 : होम आइसोलेशन के मरीजों की निगरानी को कॉल सेंटर शुरू
सुशील कुमार के गिरफ्तारी की खबर गलत : सूत्र 
यमुना प्राधिकरण के गाँव अब बनेंगे स्मार्ट विलेज
दनकौर में हिन्दू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं ने मनाई देशरत्न डॉ राजेंद्र प्रसाद की पुण्यतिथि