वेब पोर्टल और यूट्यूब चैनलों पर FAKE NEWS चलाने वालों पर सुप्रीम कोर्ट सख़्त, बोले- ये कुछ भी चला रहे हैं

सुप्रीम कोर्ट ने नियामक तंत्र के अभाव में वेब पोर्टल्स और यूट्यूब चैनलों पर चलने वाले फेक न्यूज पर गंभीर चिंता व्यक्त की। शीर्ष कोर्ट ने कहा कि बिना किसी जवाबदेही के वेब पोर्टल पर सामग्री परोसी जा रही है। वे कुछ भी प्रसारित कर रहे हैं। चीफ जस्टिस ने कहा कि इस देश में सब कुछ एक सांप्रदायिक कोण से दिखाया जाता है।

बता दें कि मुख्य न्यायाधीश एनवी रमन्ना की अध्यक्षता वाली पीठ जमीयत उलेमा-ए-हिंद द्वारा दायर याचिकाओं के एक बैच की सुनवाई कर रही थी, जिसमें केंद्र को मरकज निजामुद्दीन में एक धार्मिक सभा से संबंधित फर्जी समाचार के प्रसार को रोकने और सख्त कदम उठाने का निर्देश देने की मांग की गई थी। इसके लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की गई।

पीठ ने सवाल करते हुए कहा कि निजी समाचार चैनलों के एक हिस्से में दिखाई जाने वाली लगभग खबर में सांप्रदायिक रंग होता है। अंतत: इस देश की बदनामी होने वाली है। क्या आपने कभी इन निजी चैनलों को विनियमित करने का प्रयास किया। सोशल मीडिया केवल शक्तिशाली आवाजों को सुनता है और बिना किसी जवाबदेही के न्यायाधीशों, संस्थानों के खिलाफ कई चीजें लिखी जाती हैं।

पीठ ने कहा कि वेब पोर्टलों और यूट्यूब चैनलों में फेक न्यूज पर कोई नियंत्रण नहीं है। अगर आप यूट्यूब पर जाएं, तो आप पाएंगे कि कैसे फर्जी खबरें आसानी से प्रसारित होती हैं और कोई भी यूट्यूब पर एक चैनल शुरू कर सकता है।

 

यह भी देखे:-

अब केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड की बारी, संसदीय स्थायी समिति (IT) करेगी कामकाज की समीक्षा
धारा 370 निष्क्रिय:बौखलाया पाकिस्तान ने उठाए ये 7 कदम
ड्राईवर को झपकी आई , बेकाबू होकर पलटी बस, यात्री हुए चोटिल
सपा व्यापार सभा की हुई समीक्षा बैठक
खेरली नहर कासना मार्ग का नवीनीकरण कार्य का किया क्षेत्रीय विधायक ठाकुर धीरेंद्र सिंह ने उद्घाटन
मुकेश अंबानी के घर के बाहर PPE किट में सचिन वाझे ही थे? NIA कर रही है जांच
कल, सोमवार को निकलेगी जन संदेश सैमसंग रोजगार जागरूकता विशाल रैली
उत्तर रेलवे उपभोक्ता क्षेत्रीय सलाहकार समिति के  सदस्य बने सुखबीर सिंह भाटी देवटा
समसारा में "प्रतिभा की खोज" का आयोजन
पंजाब नेशनल बैंक द्वारा किसानों को दी गई योजनाओं की जानकारी
अब बनारस के घाट नोएडा की सड़कों पे देखिये
देखें VIDEO, ग्रैंड वेनिस माल के मालिक पर किसने दर्ज कराया धोखाधड़ी का मुकदमा
चार दिवसीय आत्मरक्षा कैप्शूल कार्यक्रम में सरकारी विद्यालय की छात्राओं को कराटे प्रशिक्षण दिया गया
साइकिल चला रहे दल को ट्रक ने मारी टक्कर, आधा दर्जन घायल
दिल्ली में अब डेंगू का कहर: अब तक 55 मरीज आ चुके चपेट में, 2018 के बाद सबसे अधिक मामले दर्ज 
गढ़चिरौली में महाराष्ट्र पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़, 13 नक्सली ढेर