इंटीग्रेटेड टाउनशिप में नहीं घटेगा भूजल स्तर, एसटीपी के पानी से पूरी होगी उद्योगों की जरूरत

–इंटीग्रेटेड इंडस्ट्रियल टाउनशिप में कासना के एसटीपी से पानी देने पर काम शुरू

–पाइपलाइन बिछाने में नौ करोड़ रुपये का खर्च, आईआईटीजीएनएल देगा पैसे

–दिवाली तक पहुंचेगा पानी, पेयजल छोड़ बाकी जरूरतें, इसी पानी से होंगी पूरी

ग्रेटर नोएडा। देश के तमाम शहरों में तेजी से गिरता भूजल स्तर भविष्य में बड़ी परेशानी का संकेत है। चेन्नई इसका बड़ा उदाहरण है। ऐसे में ग्रेटर नोएडा से सटे आईआईटीजीएनएल की हाइटेक व स्मार्ट इंटीग्रेटेड इंडस्ट्रियल टाउनशिप उन सभी शहरों के लिए बड़ी सीख बन सकती है। इस टाउनशिप में उद्योगों के लिए भूजल का उपयोग नहीं होगा, बल्कि पेयजल को छोड़कर उद्योगों के लिए पानी की जरूरत इसी एसटीपी से पूरी होगी। यह देश का पहला शहर होगा, जहां पेयजल को छोड़कर बाकी सारी जरूरतें एसटीपी से शोधित पानी से पूरी हो जाएंगी। इस पर काम शुरू हो चुका है। दिवाली तक यहां के उद्योगों को एसटीपी से शोधित पानी मिलने लगेगा। इस पहल से इस इंटीग्रेटेड इंडस्ट्रियल टाउनशिप में भूजल का स्तर कम नहीं होगा।

दरअसल, दिल्ली मुंबई इंडस्ट्रियल कॉरिडोर (डीएमआईसी) और ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के संयुक्त उपक्रम इंटीग्रेटेड इंडस्ट्रियल टाउनशिप ग्रेटर नोएडा लिमिटेड (आईआईटीजीएनएल) की तरफ से करीब 750 एकड़ में इंटीग्रेटेड इंडस्ट्रियल टाउनशिप बसाई जा रही है। इस टाउनशिप में अब तक पांच बड़ी कंपनियां अपना प्लांट लगा रही हैं। इनमें हायर इलेक्ट्रॉनिक्स, फॉर्मी मोबाइल, सत्कृति इंफोटेनमेंट, चेनफेंग (एलईडी कंपनी) और जे वर्ल्ड इलेक्ट्रॉनिक्स शामिल हैं। ये कंपनियां 3700 करोड़ रुपये से अधिक का निवेश कर रही हैं और करीब 10 हजार युवाओं को रोजगार देंगी। हायर कंपनी बहुत जल्द उत्पादन भी शुरू करने जा रही है। उद्योगों की जरूरत को देखते हुए इस टाउनशिप तक हुए पानी जल्द पहुंचाने की दरकार है। उद्योगों की जरूरत के लिए केंद्रीय भूगर्भ जल आयोग से भूजल निकालने की अनुमति नहीं मिली, सिर्फ पीने के लिए गंगाजल की अनुमति मिली है। ऐसे में उद्योगों की जरूरत कैसे पूरी होगी, यह बड़ा सवाल बन गया था। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ और आईआईटीजीएनएल के एमडी नरेंद्र भूषण ने एसटीपी (सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट) से शोधित पानी पहुंचाने का निर्णय लिया। इस पर सभी की सहमति बन गई और तत्काल काम भी शुरू कर दिया गया। कासना स्थित 137 एमएलडी क्षमता वाले प्लांट से शोधित करके पानी पहुंचाया जाएगा। एसटीपी से टाउनशिप तक पानी पहुंचाने के लिए करीब नौ किलोमीटर लंबी पाइपलाइन डाली जानी है। पाइपलाइन व अन्य नेटवर्क तैयार करने में करीब नौ करोड़ रुपये खर्च होंगे। यह खर्च आईआईटीजीएनए‍ल वहन कर रहा है। दिवाली तक पानी पहुंचाने का लक्ष्य है, जिससे कि टाउनशिप में औद्योगिक इकाइयों के चालू होने पर पानी का किल्लत न हो। मौजूदा समय में वहां के उद्योगों के लिए करीब पांच एमएलडी पानी रोजाना की दरकार है। बाद में यह जरूरत 15 एमएलडी तक पहुंच जाएगी। इसके साथ ही आईआईटीजीएनएल की यह टाउनशिप उन चंद शहरों में शुमार हो जाएगी, जहां पर भूजल का दोहन शून्य है। इससे टाउनशिप में भूजल का स्तर कभी कम नहीं होगा।

ग्रेनो प्राधिकरण को हर माह एक लाख की आमदनी
इंटीग्रेटेड टाउनशिप में एसटीपी से शोधित पानी पहुंचने से न सिर्फ उद्योगों की जरूरत पूरी हो सकेगी, बल्कि ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को रोजाना करीब एक लाख रुपये की आमदनी भी होगी। बाद में यह कमाई और बढ़ जाएगी। वर्तमान समय में टाउनशिप के उद्योगों को करीब पांच एमएलडी पानी रोजाना की दरकार है। बाद में यह जरूरत 15 एमएलडी तक पहुंच जाएगी। प्राधिकरण को इससे मौजूदा समय में जहां एक लाख रुपये मिलेंगे, बाद में यह रकम तीन गुना बढ़ जाएगी। यह रकम एसटीपी के संचालन में खर्च होगी।

यह भी देखे:-

एटीएम से निकला दो हजार का नकली नोट
नोवरा चला रही वोटिंग बढ़ाने हेतु 'जाग्रति अभियान'
डराने वाली खबर: कोरोना से मृत्यु दर में देश में पहले नंबर पर पहुंचा पंजाब, महाराष्ट्र को छोड़ा पीछे
सुमित क्लब घँघोला की टीम बनी जुनेदपुर बॉलीबाल टूर्नामेंट की विजेता
आज का पंचांग , 13 जून, जानिए शुभ -अशुभ मुहूर्त
श्री धार्मिक रामलीला मंचन सेक्टर पाई : वानर सेना ने समुंद्र पर बनाया पुल, लंका पहुंचे अंगद
Lockdown Update News: विकराल होती जा रही कोरोना महामारी, दिल्ली, यूपी सहित इन राज्यों में लॉकडाउन
रोटरी क्लब व गलगोटिया के फार्मेसी के छात्रों ने मधुमेह के प्रति लोगों को किया जागरूक
PM मोदी के साथ कल मंच साझा कर सकते हैं मिथुन चक्रवर्ती, बंगाल की ब्रिगेड रैली में रहेंगे मौजूद
अतिक्रमण की आड़ में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण का 5 प्रतिशत भूखंड आवंटन में बड़ा खेल , मूल किसान परेशान :...
बलिया जिले में बंदियों ने दिखाया जज्बा, जेल में बनाया सोख्ता, ताकि कल सुरक्षित रहे जल
जी.एन.आई.ओ.टी. संस्थान में वैश्य व्यापारी सम्मलेन का विशाल आयोजन
बिजली चोरी रोकने गए एनपीसीएल के अधिकारियों के साथ मारपीट
शमसान घाट का प्लास्टर गिरा , ग्रामीणों ने किया हंगामा 
दिनदहाड़े बदमाशों ने 40 वर्षीय व्यक्ति को गोलियों से भूना
समाधान दिवस में 164 शिकायतें हुई दर्ज, 10 का मौके पर निस्तारण