भारत का बदला रुख, तालिबान के साथ रिश्तों पर पुनर्विचार संभव, जानें क्‍या होगी रणनीति

नई दिल्ली। पीएम मोदी की वैश्विक नेताओं से होने वाली बातचीत में अफगानिस्तान का मुद्दा ही सबसे अहम रहा है। माना जा रहा है कि उन्होंने रूस के राष्ट्रपति पुतिन के साथ तालिबान की अगुआई में बनने वाली सरकार को मान्यता देने के मुद्दे पर भी बात की है। सनद रहे कि इस बातचीत में यह फैसला किया गया है कि दोनों देश अफगानिस्तान पर स्थाई तौर पर संपर्क में रहेंगे। 

भारतीय कूटनीति का तालिबान को लेकर नजरिया बदलने लगा है। भारत वैसे अफगानिस्तान को लेकर बहुत जल्दबाजी में फैसला करने नहीं जा रहा है लेकिन संकेत इस बात के हैं कि देश के दीर्घकालिक हितों को देखते हुए तालिबान के साथ वार्ता की शुरुआत भी हो सकती है। एक दिन पहले पीएम नरेन्द्र मोदी की रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ हुई तकरीबन 45 मिनट लंबी वार्ता को भारत के इसी रुख से जोड़ कर देखा जा रहा है।

देशहित सर्वोपरि‍ 

विदेश मंत्रालय के सूत्रों का कहना है कि देशहित में बहुत कुछ किया जाता है। अगर तालिबान की सरकार अफगानिस्तान में बन जाती है तो भारत बाद में उनसे बात भी कर सकता है। आगे बहुत कुछ देखना होगा। विदेश मंत्रालय के अधिकारी की यह बात सरकार के मिजाज में आ रहे बदलाव को बता रही है।

क्‍या चाहता है चीन 

चीन सरकार की तरफ से यह भी कहा गया है कि वह अफगानिस्तान सरकार के साथ अपनी चीन पाकिस्तान इकोनामिक कारिडोर (सीपीईसी) को आगे बढ़ाना चाहेगा। असल में 15 अगस्त को काबुल पर तालिबान के कब्जे के बाद ज्यादातर देशों ने अपने दूतावास बंद कर दिए हैं और अपने राजनयिक वापस बुला लिए हैं, लेकिन चीन, पाकिस्तान व रूस के दूतावास बकायदा चल रहे हैं।  बहरहाल, जानकारों का कहना है कि जिस तरह से अमेरिका व पश्चिमी देश तालिबान के व्यवहार का कुछ दिन अध्ययन करेंगे, भारत भी वैसा ही करेगा और तब फैसला करेगा। 

यह भी देखे:-

द्रोण मेले में रागनी कलाकारों ने दर्शकों को झूमाया, रेकॉर्ड तोड़ भीड़ उमड़ी
अपना दल की नेता अनुप्रिया पटेल का ऐलान- शत प्रतिशत वैक्सीनेशन वाली ग्राम पंचायत को मिलेगा इनाम
जिला मुख्यालय  सूरजपुर  में शान से लहराया तिरंगा 
एसएसपी लव कुमार के आकस्मिक निरीक्षण में इस थाना में मिली कमियां, पढ़ें
India China Tension: भारत और चीन के बीच 12वें दौर की कोर कमांडर स्तर की वार्ता आज
ग्रेनो के आठ सेक्टरों के निवासियों को सामुदायिक केंद्र की सौगात जल्द
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण :  आईआईटीजीएनएल की टाउनशिप को पीएम ने दी अलग पहचान
पहलवान हत्याकांड में सुशील कुमार के 4 साथी गिरफ्तार, देखें तस्वीरें
भाजपा नेता भी कर रहे हैं रामदेव से किनारा, अब क्या करेंगे योगगुरु?
यूपी के लिए कांग्रेस ने बदली रणनीति, प्रियंका के इन कदमों से मिले बड़े संकेत
भारत सरकार का चीन पर डिजिटल स्ट्राइक, चाइनीज चीनी मोबाइल एप्स को बैन किया
आईआईएमटी मेगा जॉब फेयर में 1500 छात्रों ने लिया भाग
किसानों ने किया सालारपुर बिजलीघर पर धरना प्रदर्शन किया
श्री रामलीला कमेटी ने मोक्षधाम में भोले शंकर की प्रतिमा के निर्माण कार्य के लिये किया भूमि पूजन
संकट मोचन महायज्ञ में श्रद्धालुओं पर श्री बालाजी महाराज की अपार कृपा, हवनकुंड में स्वत: प्रज्वलित ह...
वेदांतम व वैलेनोवा सोसाइटी पर 1.02 लाख रुपये का जुर्माना