आतंकियों के बाद अब नक्सली भी इस्तेमाल कर रहे ड्रोन, महाराष्ट्र ने जताई चिंता

हाल के दिनों में खुलासा हुआ है कि जम्मू कश्मीर में भारत-पाकिस्तान सीमा के पास आतंकवादी निगरानी करने या हमला करने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल कर रहे हैं। अब यह खबर भी आ रही है कि नक्सली भी ड्रोन का इस्तेमाल कर रहे हैं और इस खबर के सामने आने के बाद देश की आतंरिक सुरक्षा को लेकर महाराष्ट्र ने चिंता जताई है। रिपोर्ट्स की मानें तो नक्सली छत्तीसगढ़ के नजदीक बने पुलिस पोस्ट पर निगरानी रखने के लिए छोटे ड्रोन्स का इस्तेमाल कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि पिछले 4-5 महीनों में ऐसी 7-8 घटनाएं हुई हैं जिससे नक्सलियों द्वारा ड्रोन के इस्तेमाल किये जाने की बात सामने आई है।

गढ़चिरौली के डीआईजी, संदीप पाटिल ने कहा है कि ‘पिछले 4-5 महीनों में हमने इस तरह की 7-8 घटनाएं देखी हैं। इस मामले को गंभीरता से लेते हुए हम एंट्री-ड्रोन उपायों को लेकर हर मुमकिन प्रयास कर रहे हैं।’ आपको बता दें कि 7 जून को सुकमा के दोरनापाल में संदिग्ध ड्रोन देखा गया था। जिसके बाद सिक्योरिटी फोर्स के बीच हड़कंप मच गया था। इसके बाद नक्सली इलाकों में सुरक्षा एजेंसियों ने सभी सुरक्षा बलों को अलर्ट किया है कि संदिग्ध ड्रोन पर नज़र रखी जाए।

नक्सली, सुकमा-बस्तर समेत कई इलाकों में सुरक्षा बलों को निशाना बनाने की फिराक में रहते हैं। बताया जाता है कि नक्सली इन ड्रोनों का इस्तेमाल क्षेत्रों की रेकी करने और इन इलाकों में सुरक्षा बलों की स्थिति का पता लगाने के लिए करते हैं। कुछ समय पहले गढ़चिरौली और दक्षिण बस्तर में नक्सलियों के पेलोड ड्रोन खरीदने की खबर भी सामने आई थी। नक्सलियों के द्वारा ड्रोन इस्तेमाल करने की खबरें सामने आने के बाद फिलहाल सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट पर हैं और वो ‘लाल आतंक’ की साजिश को नाकाम करने की कोशिश में जुटी हुई हैं।

आपको बता दें कि इसी साल जम्मू एयरफोर्स स्टेशन पर 26-27 जून की रात को ड्रोन से दो बार हमले किये गये थे। इस हमले के बाद से हड़कंप मच गया था। हमले में एक कर्मी जख्मी हो गया था। बाद में खुलासा हुआ था कि इस हमले में जीपीएस ड्रोन का इस्तेमाल किया गया था। हालांकि इस घटना के बाद से अब तक जम्मू कश्मीर में भारतीय सीमाओं के पास कई बार संदिग्ध ड्रोन देखे गये हैं। यहां आतंकियों द्वारा ड्रोन के इस्तेमाल की बात उजागर होने के बाद से सुरक्षाबल काफी सक्रिय हैं।

यह भी देखे:-

आज का पंचांग, 7 दिसंबर 2020 , जानिए शुभ एवं अशुभ मुहूर्त
Lakhimpur Kheri : सुप्रीम कोर्ट ने कहा- आठ लोगों की नृशंस हत्या हुई है, सभी आरोपियों के खिलाफ होनी च...
यूपी : मुख्यमंत्री योगी आज आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को स्मार्ट फोन वितरित करेंगे 
कैप्‍टन अमरिंदर सिंह का सीएम पद से इस्‍तीफा, कहा- मेरा अपमान किया गया
पति-पत्नी के झगड़े में पति की मौत
जेवर क्षेत्र पहुंचे आप के उत्तर  प्रदेश प्रभारी संजय सिंह, तीनों विधानसभाओं के प्रत्याशियों के पक्ष ...
नोएडा इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी में तीन दिवसीय नेशनल मूट कोर्ट प्रतियोगिता का आगाज
आज किसानों का रेल रोको अभियान
दिल्ली एयरपोर्ट पर बनी तालाब जैसी स्थिति, विमान सेवाएं भी प्रभावित
DU Admission 2021: शुरू हुई दिल्ली विश्वविद्यालय में यूजी दाखिले की प्रक्रिया, देखें दिशा-निर्देश
यूपी चुनाव 2022: ओवैसी के साथ मुरादाबाद में होने वाली सभा में शामिल नहीं हुए राजभर
कोरोना के बढ़ते प्रकोप के कारण लोक अदालत स्थगित
दिल्ली : पटाखे नहीं, मौसम है प्रदूषण के लिए अधिक जिम्मेदार: स्टडी
शहीद दिवस : क्रांति का जोश जगाने के लिए किसी ने पढ़ाया भारत का इतिहास तो किसी ने शुरू की सभा
जी-20 बैठक : आतंकवाद के लिए ना हो अफगानिस्तान की धरती का इस्तेमाल- एस. जयशंकर,
टोक्यो ओलंपिक: आखिरी दम तक दौड़ी मेरठ की बेटी प्रियंका, पर हाथ लगी निराशा, भारत की झोली में नहीं आया ...