ओलंपिक में कुछ ऐसी रही है भारत की हिस्ट्री, कहां है सुधार की जरूरत, इस बार कितने मेडल की उम्मीद? पढ़ें रिपोर्ट

टोक्यो ओलंपिक काउंटडाउन की शुरुआत हो चुकी है। खेलों की इस महाप्रतियोगिता में अपना जलवा दिखाने के लिए भारत के सभी खिलाड़ी तैयार हैं। एक साल देरी से हो रहे इस ओलंपिक में भारत के 126 खिलाड़ी हिस्सा लेने के लिए टोक्यो जा रहे हैं। ये खिलाड़ी 18 खेलों की 69 प्रतिस्पर्धाओं में हिस्सा लेंगे। बता दें कि भारत पहली बार इतनी बड़ी संख्या में अलग-अलग खेलों में भाग लेगा। भारत को इस साल अपने खिलाड़ियों से बड़ी उम्मीदे हैं। वहीं ओलंपिक में भारत के प्रदर्शन की बात करें को तो अब तक हमने कुल 28 मेडल जीते हैं।

116 सालों के ओलंपिक इतिहास में जीते 9 गोल्ड मेडल

साल 1900 से 2016 तक भारत ने ओलंपिक में अब तक कुल 28 पदक अपने नाम किए हैं। इनमें नौ गोल्‍ड, सात सिल्‍वर और 12 कांस्‍य यानी ब्रॉन्‍ज मेडल शामिल हैं। भारत ने अब तक के ओलंपिक इतिहास में सबसे ज्‍यादा मेडल हॉकी में लिए हैं। हमने हॉकी में 11 मेडल जीते हैं- आठ गोल्‍ड, एक सिल्‍वर और दो ब्रॉन्‍ज मेडल। जबकि निशानेबाजी में भारत ने चार पदक जीते हैं। इसके अलावा भारत ने कुश्ती में पांच, बैडमिंटन और मुक्केबाजी में दो-दो तथा टेनिस और वेटलिफ़्टिंग में एक-एक पदक अपने नाम किया है।

पिछले रियो ओलंपिक में भारत का प्रदर्शन निराशाजनक रहा था और उसे केवल एक सिल्वर मेडल और एक कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा था। भारत के लिए बैडमिंटन में पीवी सिंधु ने सिल्वर मेडल और कुश्ती में साक्षी मलिक ने कांस्य पदक जीता था। इस साल भारत बैडमिंटन, कुश्ती, मुक्केबाजी और निशानेबाजी में पदक का प्रबल दावेदार है।

भारत के मुकाबले अब तक 20 गुना पदक जीत चुका है चीन

वहीं अगर भारत के पड़ोसी देश चीन की बात करें, जिसकी जनसंख्या लगभग भारत के बराबर है तो उसका प्रदर्शन ओलंपिक में काफी बढ़िया रहा है। चीन अब तक ओलंपिक में 546 मेडल जीत चुका है।  224 गोल्ड, 166 सिल्वर और 156 ब्रोंज। वहीं भारत ने अब तक कुल 28 पदक ही जीते हैं।  जिनमें 9 गोल्ड हैं। इसके अलावा 40 लाख आबादी वाला देश क्रोशिया भी मेडल के मामले में भारत से आगे है।  क्रोशिया ने अब तक 33 मेडल अपने नाम किए हैं।  इन सब से यह तो साफ है कि खेल के क्षेत्र में हम थोड़ा पीछे हैं।

इस बार 17 मेडलों की है उम्मीद

पिछले ओलंपिक में भारत ने 118 खिलाड़ी भेजे लेकिन इस बार 126 खिलाड़ी टोक्यो गए हैं। ओलंपिक विश्लेषक ग्रेसनोट्स का अनुमान है कि इस बार भारत ओलंपिक में निशानेबाजी में आठ पदक, मुक्केबाजी में चार, कुश्ती में तीन और तीरंदाजी और भारोत्तोलन में एक-एक पदक जीतेगा। ऐसी उम्मीद की जा रही है कि भारत बैडमिंटन, कुश्ती, मुक्केबाजी और निशानेबाजी में  मेडल हासिल करेगा और इस ओलंपिक में भारत का शानदार प्रदर्शन देखने को मिलेगा।

यह भी देखे:-

ट्रक की चपेट में आने से मोटर साइकिल सवार की मौ, बाइक पर बैठा व्यक्ति घायल तथा ट्रक बरामद
बड़े धूमधाम से बदौली में मनाया गया डिम्पल यादव का जन्मदिन
बड़ी कार्यवाही : लेबर सेस जमा नहीं कराने पर आम्रपाली ग्रुप दो अधिकारी अरेस्ट
पीएम के भाषण कौन लिखता है, कितना ख़र्च आता है, जानें पूरी खबर
गौतम अडाणी को झटका: फ्रीज हुए 43500 करोड़ के शेयर, कंपनियों के शेयरों में लगा लोअर सर्किट
आगामी 1 सितंबर से खोले जाएंगे प्राइमरी स्कूल, टीचरों को दी जाएगी ट्रेनिंग
गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय ने नवागणतुक छात्रों से रूबरू हुए डॉ. कुमार विश्वास, कहा निराशा से डरने की ...
गोरखपुर दौरे पर योगी दो कोविड अस्पताल जनता को करेंगे समर्पित, एम्स करेंगे निरीक्षण
मानसून सत्र: शरद पवार से मिलने घर पहुंचे केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, इन नेताओं से भी की मुलाकात
Delhi cloverleaf: नोएडा-दिल्ली लिंक रोड पर जाम से मिली मुक्ति, एक साथ शुरू हुए 2 क्लोवरलीफ
बंद बोरे में मिली गुमशुदा बच्चे की लाश
हथियारबंद बदमाशों ने कैब लूटी
कोरोना संक्रमण : खतरनाक लहर के बीच यूपी, में बोर्ड परीक्षाएं स्थगित, जानें- सबकुछ
₹349 में पाएं हर दिन 3GB डेटा, अनलिमिटेड कॉल और कई फ्री ऑफर्स
जी. डी. गोयंका में हुआ छात्रों का आन लाइन पदालंकरण समारोह
गलगोटियाज विश्वविद्यालय : एनसीसी कैडेटों ने ऑनलाइन आयोजित एनसीसी शिविर में भाग लिया