मां कालरात्रि एवं महागौरी का आवाहन करते हुए संकट मोचन महायज्ञ श्री बालाजी महाराज  को समर्पित किया 

श्री बालाजी महाराज की अपार कृपा से ग्रेटर नोएडा की पावन भूमि श्री शिव मंदिर अल्फा वन ग्रेटर नोएडा में चल रहे 41 दिवसीय संकट मोचन महायज्ञ में आज 17 जुलाई 2021 को पैंतीस 35 वें दिन की आहुति पूर्ण हुई ।

ट्रस्ट के संयोजक श्रीमान सतेन्द्र राघव ने जानकारी देते हुए बताया यह संकट मोचन महायज्ञ कोरोना महामारी से मुक्ति के लिए पर्यावरण शुद्धि एवं बाबा धाम की स्थापना हेतु 13 जून 2021 से चल रहा है इसकी पूर्णाहुति 24 जुलाई 2021 गुरु पूर्णिमा को होगी ।
आज के संकट मोचन महायज्ञ में गुप्त नवरात्रि के पावन अवसर पर सप्तमी एवं अष्टमी तिथि एक होने के कारण मां कालरात्रि एवं महागौरी का आवाहन करते हुए संकट मोचन महायज्ञ श्री बालाजी महाराज को समर्पित किया ।

आज के संकट मोचन महायज्ञ में एक दिवसीय यजमान श्रीमान योगेंद्र शंकर पोरवाल सह पत्नी सपरिवार सह बंधु बांधव उपस्थित रहे ।
प्रतिदिन की भांति आज भी बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने आहुतियां प्रदान की ।

यह भी देखे:-

ब्रह्माकुमारीज़ द्वारा लाइफ आलटेरींग मेडिटेशन वर्क्शाप का आयोजन
जानिए, नवरात्र 2017 में माँ दुर्गा का पूजा करने व कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त
आज का पंचांग, 11 फरवरी 2021, जानिए शुभ एवं अशुभ मुहूर्त
जानिए, ग्रेटर नोएडा में यहाँ हुई भगवान गणपति के प्रतिमा की स्थापना
हिन्दू नववर्ष पर विश्व हिन्दू परिषद ने जिले मे निकाली भव्य शोभायात्रा
रक्षाबंधन - वैदिक राखी विधि और महत्व एवं शुभ मुहूर्त व समय : पं.मूर्तिराम,आनन्द बर्द्धन नौटियाल ज्यो...
भंगेल सलारपुर व्यापार मंडल ने भगवान विश्वकर्मा की धूमधाम से जयंती मनाई
आज का पंचांग, 5 दिसंबर 2020, जानिए शुभ एवं अशुभ मुहूर्त
आज का पंचांग, 25 नवंबर 2020, जानिए शुभ एवं अशुभ मुहूर्त 
अग्रसेन वैश्य सेवा समिति ने धूमधाम से मनाई अग्रसेन जयन्ती व गोवर्धन पूजा
लवकुश धार्मिक रामलीला : नारद मोह की भावपूर्ण लीला देख गदगद हुए दर्शक
जनमाष्टमी ( Janmashtami 2020 ) : 11 या 12 अगस्त कब मनाई जाएगी , जानें क्या है महत्त्व 
जानिए, श्री कृष्ण जन्माष्टमी व्रत कथा एवं विधि, बता रहे हैं पं.मूर्तिराम आनन्द बर्द्धन नौटियाल
उर्स मेले में सजी कव्वाल-ए-महफ़िल
ग्रेटर नोएडा : कायस्थ समाज ने की भगवान श्री चित्रगुप्त व कलम दवात की पूजा
इस्कॉन मंदिर में धूम धाम से मनाया श्री कृष्ण छठी महोत्सव