Corona Third Wave : केंद्र ने कहा- भीड़ वाली जगहों पर अंकुश लगाएं राज्य, दोबारा प्रतिबंध की चेतावनी

नई दिल्ली, पीटीआइ। कोरोना महामारी की तीसरी लहर की आशंकाओं और हिल स्टेशनों एवं बाजारों में बेपरवाह उमड़ती भीड़ पर केंद्र सरकार ने सख्त रुख अपनाया है। केंद्र ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को भीड़ वाली जगहों पर अंकुश लगाने और कोरोना प्रोटोकाल को लागू कराने के लिए जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा है। सरकार ने राज्‍यों को यह चेतावनी ऐसे वक्‍त दी है जब कोरोना से होने वाली मौतें नहीं थम रही हैं। देश में एक दिन में कोरोना के 38,792 नए केस सामने आए जबकि 624 लोगों की मौत हो गई।

बाजारों में उमड़ रही है भीड़

विशेष सावधानी बरते जाने की दरकार

केंद्रीय गृह सचिव ने कहा है कि संक्रमण के मामलों में कमी और सक्रिय मामलों में गिरावट के बाद विभिन्नि राज्यों में धीरे-धीरे आर्थिक गतिविधियों को खोला जा रहा है। ऐसा करते वक्त विशेष सावधानी बरते जाने की जरूरत है। जब संक्रमण दर कम हो रही तो ऐसे उपाय किए जाने चाहिए कि उसमें अचानक से उछाल न आए।

दोबारा प्रतिबंध की चेतावनी

भल्ला ने कहा कि किसी भी संस्थान, परिसर, बाजार या इस तरह के स्थलों पर कोरोना प्रोटोकाल का उल्लंघन होता है तो वहां दोबारा पाबंदियां लगाई जा सकती हैं। यही नहीं उल्लंघन करने वालों के खिलाफ उचित धाराओं में सख्त कार्रवाई भी की जाएगी।

लापरवाही के नतीजे सामने आए

भल्ला ने कहा है कि हिल स्टेशनों और बाजारों में बेपरवाह घूमती भीड़ और कोरोना प्रोटोकाल के उल्लंघन के नतीजे सामने आने लगे हैं। कई राज्यों में आर-फैक्टर बढ़ा है जो चिंता का कारण है। आर-फैक्टर यह दर्शाता है कि एक व्यक्ति कितने लोगों को संक्रमित कर रहा है। अभी राष्ट्रीय स्तर पर आर-फैक्टर एक से कम है, लेकिन पूर्वोत्तर समेत कई राज्यों में यह एक से ज्यादा है। एक से ज्यादा आर-फैक्टर का मतलब है कि संक्रमण बढ़ रहा है।

हाटस्पाट पर नजर रखें राज्य

पत्र में भल्ला ने कहा है कि दुकानों, माल, बाजार, साप्ताहिक बाजार, सार्वजनिक पार्क, जिम, बैंक्वेट हाल और कोरोना वायरस के प्रसार के लिए हाटस्पाट माने जाने वाले स्थलों पर कड़ी नजर रखी जाए। ऐसे स्थलों पर कोरोना से बचाव के नियमों का अनुपालन सुनिश्चित किया जाए।

जांच की गति बनाए रखने की जरूरत

गृह सचिव ने कहा कि कोरोना संक्रमण का पता लगाने के लिए जांच की गति में किसी तरह की ढिलाई नहीं होनी चाहिए। संक्रमितों की समय से पहचान होने पर संक्रमण के प्रसार को रोकने में मदद मिलेगी।

पांच स्तरीय रणनीति से न हटे ध्यान

भल्ला ने कहा है कि राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को कोरोना के प्रसार को रोकने में कारगर पाई गई पांच स्तरीय रणनीति पर ध्यान केंद्रित रखना चाहिए। उन्होंने टेस्ट-ट्रैक-ट्रीट-टीकाकरण और कोरोना से बचाव के आचरण को जारी रखने पर जोर दिया।

यह भी देखे:-

स्काउट व गाइड के माध्यम से मास्क ,टाइम ,अनाज ,सेनीटाइजर व साबुन,सैनेटरी पैड , सहयोग राशि बैंक का गठ...
12वें दौर की सैन्य बातचीत के बाद बोले India-China, LAC पर जारी किया ये साझा बयान
वर्चुअल संवाद: मुख्यमंत्री योगी बोले- खुद को कोरोना से बचाते हुए जनता को बचाने में जुटें मंत्री
महंगाई पर बोले राहुल PM कर रहे है सिर्फ़ अपने दोस्तों का भला, जीडीपी बढ़ने का मतलब है गैस, डीजल और पे...
जम्मू-कश्मीर: गलती से सीमा पार कर पीओके पहुंचे युवक को पाकिस्तान ने लौटाया
बॉलीवुड अभिनेता आमिर खान समेत चार को नोटिस
8 अप्रैल का इतिहास: आज के दिन ही हुई थी मंगल पांडे को फांसी,
5G को जाइए भूल! Samsung ला रही 6G, मिलेगी 5G के मुकाबले 50 गुना तेज स्पीड
दौरा: पीएम मोदी इसी महीने जा सकते हैं अमेरिका, बाइडन के राष्ट्रपति बनने के बाद होगी पहली मुलाकात
दहेज़ की खातिर वरिष्ठ पत्रकार के बहन की निर्मम हत्या
ग्रेटर नोएडा: बिल्डर के खिलाफ निवासियों ने किया अनोखा प्रदर्शन, ताली-थाली बजाकर जताया विरोध
अंधविश्वास की हदें पार : पंजाब में 13 साल के बच्चे से कराई मांगलिक युवती की शादी, सुहागरात के बाद मौ...
Coronavirus in India: देश में आए कोरोना के 30 हजार से अधिक नए मामले
एनसीआरटी पर किट्स की ई टेंडरिंग के घोटाले का आरोप
अवैध कॉलोनी बसाने वालों पर कसेगा शिकंजा, यूपी के बिल्डरों पर कार्रवाई की तैयारी में योगी सरकार
सूरजपुर में आदर्श रामलीला शुरू, शिव पार्वती संवाद देख हर्षित हुए दर्शक