Corona Third Wave : केंद्र ने कहा- भीड़ वाली जगहों पर अंकुश लगाएं राज्य, दोबारा प्रतिबंध की चेतावनी

नई दिल्ली, पीटीआइ। कोरोना महामारी की तीसरी लहर की आशंकाओं और हिल स्टेशनों एवं बाजारों में बेपरवाह उमड़ती भीड़ पर केंद्र सरकार ने सख्त रुख अपनाया है। केंद्र ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को भीड़ वाली जगहों पर अंकुश लगाने और कोरोना प्रोटोकाल को लागू कराने के लिए जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा है। सरकार ने राज्‍यों को यह चेतावनी ऐसे वक्‍त दी है जब कोरोना से होने वाली मौतें नहीं थम रही हैं। देश में एक दिन में कोरोना के 38,792 नए केस सामने आए जबकि 624 लोगों की मौत हो गई।

बाजारों में उमड़ रही है भीड़

विशेष सावधानी बरते जाने की दरकार

केंद्रीय गृह सचिव ने कहा है कि संक्रमण के मामलों में कमी और सक्रिय मामलों में गिरावट के बाद विभिन्नि राज्यों में धीरे-धीरे आर्थिक गतिविधियों को खोला जा रहा है। ऐसा करते वक्त विशेष सावधानी बरते जाने की जरूरत है। जब संक्रमण दर कम हो रही तो ऐसे उपाय किए जाने चाहिए कि उसमें अचानक से उछाल न आए।

दोबारा प्रतिबंध की चेतावनी

भल्ला ने कहा कि किसी भी संस्थान, परिसर, बाजार या इस तरह के स्थलों पर कोरोना प्रोटोकाल का उल्लंघन होता है तो वहां दोबारा पाबंदियां लगाई जा सकती हैं। यही नहीं उल्लंघन करने वालों के खिलाफ उचित धाराओं में सख्त कार्रवाई भी की जाएगी।

लापरवाही के नतीजे सामने आए

भल्ला ने कहा है कि हिल स्टेशनों और बाजारों में बेपरवाह घूमती भीड़ और कोरोना प्रोटोकाल के उल्लंघन के नतीजे सामने आने लगे हैं। कई राज्यों में आर-फैक्टर बढ़ा है जो चिंता का कारण है। आर-फैक्टर यह दर्शाता है कि एक व्यक्ति कितने लोगों को संक्रमित कर रहा है। अभी राष्ट्रीय स्तर पर आर-फैक्टर एक से कम है, लेकिन पूर्वोत्तर समेत कई राज्यों में यह एक से ज्यादा है। एक से ज्यादा आर-फैक्टर का मतलब है कि संक्रमण बढ़ रहा है।

हाटस्पाट पर नजर रखें राज्य

पत्र में भल्ला ने कहा है कि दुकानों, माल, बाजार, साप्ताहिक बाजार, सार्वजनिक पार्क, जिम, बैंक्वेट हाल और कोरोना वायरस के प्रसार के लिए हाटस्पाट माने जाने वाले स्थलों पर कड़ी नजर रखी जाए। ऐसे स्थलों पर कोरोना से बचाव के नियमों का अनुपालन सुनिश्चित किया जाए।

जांच की गति बनाए रखने की जरूरत

गृह सचिव ने कहा कि कोरोना संक्रमण का पता लगाने के लिए जांच की गति में किसी तरह की ढिलाई नहीं होनी चाहिए। संक्रमितों की समय से पहचान होने पर संक्रमण के प्रसार को रोकने में मदद मिलेगी।

पांच स्तरीय रणनीति से न हटे ध्यान

भल्ला ने कहा है कि राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को कोरोना के प्रसार को रोकने में कारगर पाई गई पांच स्तरीय रणनीति पर ध्यान केंद्रित रखना चाहिए। उन्होंने टेस्ट-ट्रैक-ट्रीट-टीकाकरण और कोरोना से बचाव के आचरण को जारी रखने पर जोर दिया।

यह भी देखे:-

ईपीसीएच द्वारा पानीपत में 'हरियाणा से एमएसएमई निर्यात को प्रोत्साहन' विषयक सेमिनार का आयोजन
3 लोगों को हिरासत में लिया गया है
समसारा विद्यालय को प्राप्त हुआ ‘द इंडिया स्कूल मेरिट अवार्ड 2022-23’ का सह-पाठयक्रम शिक्षा वर्ग में ...
ज़ायकोब-डी: जल्दी ही भारत को मिल जाएगी छठवीं वैक्सीन, जानिए इस टीके के बारे में सबकुछ विस्तार से
वतन लौट आया हमारा वीर सपूत अभिनंदन, जश्न में डूबा देश
Lockdown Alert ! देश के कई राज्यों में स्कूल-कॉलेज बंद; पाबंदियां बढ़ी
बीएचयूः अस्पताल कर्मचारियों और छात्रों में मारपीट, विरोध में सिंह द्वार बंद, भारी पुलिस बल तैनात
16 जुलाई को 20 जिले के किसान करेंगे कलेक्ट्रेट पर महापंचायत
GIMS में कोरोना संक्रमण से बचने के लिए डाक्टरों व पैरामेडिकल स्टाफ का विशेष प्रशिक्षण
आज से मनाइए 'टीका उत्सव' और दीजिए महामारी को मात,पीएम मोदी ने की है वैक्सीन लगवाने की अपील
गौतमबुद्ध नगर में आज से चलाया गया “मेरी माटी, मेरा देश'अभियान
West Bengal Assembly Elections: 21 मार्च को गृहमंत्री अमित शाह जारी करेंगे BJP का घोषणापत्र
गलगोटिया इंजिनियरिंग एनटेरेंस ऐग्जाम, 11 राज्यों के 22 शहरों में आयोजित
भारत में कोरोना की दूसरी लहर को बेलगाम होते देख अंतरराष्ट्रीय बिरादरी में चिंता, मदद को बढ़े हाथ
अयोध्या: राम के द्वार दीपों से श्रृंगार करेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, 7.50 लाख दीप जलाकर बनाएंगे...
रमाबाई महिला छात्रावास में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस का आयोजन