भूमि पूजन के समय नींव में सर्प और कलश क्यों गाड़ा जाता है…

श्रीमद्भागवत महापुराण के पांचवें स्कंद में लिखा है कि पृथ्वी के नीचे पाताल लोक है और इसके स्वामी शेषनाग हैं।

भूमि से दस हजार योजन नीचे अतल, अतल से दस हजार योजन नीचे वितल, उससे दस हजार योजन नीचे सतल, इसी क्रम से सब लोक स्थित हैं। अतल, वितल, सतल, तलातल, महातल, रसातल, पाताल ये सातों लोक पाताल स्वर्ग कहलाते हैं।

इनमें भी काम, भोग, ऐश्वर्य, आनन्द, विभूति ये वर्तमान हैं। दैत्य, दानव, नाग ये सब वहां आनन्द पूर्वक भोग-विलास करते हुए रहते हैं। इन सब पातालों में अनेक पुरियां प्रकाशमान रहती हैं।

इनमें देवलोक की शोभा से भी अधिक बाटिका और उपवन हैं। इन पातालों में सूर्य आदि ग्रहों के न होने से दिन-रात्रि का विभाग नहीं है।

इस कारण काल का भय नहीं रहता है। यहां बड़े-बड़े नागों के सिर की मणियां अंधकार दूर करती रहती हैं। पाताल में ही नाग लोक के पति वासुकी आदि नाग रहते हैं।

श्री शुकदेव के मतानुसार पाताल से तीस हजार योजन दूर शेषजी विराजमान हैं।

शेषजी के सिर पर पृथ्वी रखी है। जब ये शेष प्रलय काल में जगत के संहार की इच्छा करते हैं, तो क्रोध से कुटिल भृकुटियों के मध्य तीन नेत्रों से युक्त 11 रुद्र त्रिशूल लिए प्रकट होते हैं।

पौराणिक ग्रंथों में शेषनाग के फण (मस्तिष्क) पर पृथ्वी टिकी होने का उल्लेख मिलता है।
.
शेष चाकल्पयद्देवमनन्तं विश्वरूपिणम् ।
यो धारयति भूतानि धरां चेमां सपर्वताम् ॥
-महाभारत/भीष्मपर्व 67/13
.
अर्थात् इन परमदेव ने विश्वरूप अनंत नामक देवस्वरूप शेषनाग को उत्पन्न किया, जो पर्वतों सहित इस सारी पृथ्वी को तथा भूतमात्र को धारण किए हुए है।
.
उल्लेखनीय है कि हजार फणों वाले शेषनाग समस्त नागों के राजा हैं। भगवान् की शव्या बनकर सुख पहुंचाने वाले, उनके अनन्य भक्त हैं और बहुत बार भगवान् के साथ-साथ अवतार लेकर उनकी लीला में सम्मिलित भी रहते हैं।

श्रीमद्भगवद्गीता के 10वें अध्याय के 29वें श्लोक में भगवान् कृष्ण ने कहा है-अनन्तश्चास्मि नागानाम्’ अर्थात् मैं नागों में शेषनाग हूं।
.
#नींव पूजन का पूरा कर्मकांड इस मनोवैज्ञानिक विश्वास पर आधारित है कि जैसे शेषनाग अपने फण पर संपूर्ण पृथ्वी को धारण किए हुए है, ठीक उसी प्रकार मेरे इस भवन की नींव भी प्रतिष्ठित किए हुए चांदी के नाग के फण पर पूर्ण मजबूती के साथ स्थापित रहे ।

शेषनाग क्षीरसागर में रहते हैं, इसलिए पूजन के कलश में दूध, दही, घी डालकर मंत्रों से आह्वान कर शेषनाग को बुलाया जाता है, ताकि वे साक्षात् उपस्थित होकर भवन की रक्षा का भार वहन करें।

विष्णुरूपी कलश में लक्ष्मी स्वरूप सिक्का डालकर पुष्प व दूध पूजन में अर्पित किया जाता है, जो नागों को अतिप्रिय है।

भगवान् शिवजी के आभूषण तो नाग है ही।

लक्ष्मण और बलराम शेषावतार माने जाते हैं। इसी विश्वास से यह प्रथा अनवरत है।

☀ ।।जय माता दी ।।☀
।। ऊँ सर्वस्वरुपे सर्वेसे सर्व शक्ति समन्विते भवभ्यस्त्रहि नो देवी दुर्गेदेवी नमोस्तुते ।।
कार्यालय 🌻 जगदम्बा ज्योतिष केन्द्र 🌻 पं.मूर्तिराम,आनन्द बर्द्धन नौटियाल ज्योतिषाचार्य 🌻 (देबी,नृसिंह उपासक गंगौत्रीधाम) 🔰 जन्मपत्री, वर्षफल, हस्तरेखा, वास्तुशास्त्र, नवग्रह रत्न, दुर्गापाठ,नवग्रहपाठ,महामृत्युंज्जंयपाठ,रुदाभिषेक,रामायण पाठ,भागवत कथा,सन्तान गोपालपाठ,कालसर्प दोष निवारण,गृह प्रवेश,सत्यनारायण कथा,जाप,पूजा,पाठ,कर्म काण्ड हेत्तु अवश्य सम्पर्क करें जी । 🏡 पता – मकान नम्बर -C 38,प्रथ्म तल,ओमिक्रोन-3,EWS फ्लैट,ग्रेटर नोएडा,गौतम बुद्ध नगर,उत्तर प्रदेश ☎ +9193 10 110 914 🌐 www.jagdambajyotish. in आप कार्यालय में आकर ज्योतिष परामर्श ले सकतें हैं जी समय प्रात: 9 से 1 बजे दिन एवं 4 से 7 बजे शांय तक,मिल सकतें हैं।कृपया आने से पहले अपना समय अवश्य निर्धारित कर लें जी। आप से विन्रम निवेदन है की आप हमारे पेज को अवश्य Like @ Share अवश्य करें जी

यह भी देखे:-

उत्तराखंड में केजरीवाल की लग सकती है लॉटरी, ये हैं पांच बड़े कारण जो उन्हें देंगे मदद
ईस्टर्न पेरीफेरल पर आगे पीछे ट्रक में भिड़ंत, आधा दर्जन घायल और ... 
आगामी राष्ट्रीय लोक अदालत “सप्ताह के अन्तर्गत प्रचार-प्रसार के लिए मोबाईल वैन को किया गया रवाना : जि...
कोरोना का कहर : अब रेलवे परिसर में मास्क नहीं पहनना दंडनीय अपराध, लगेगा 500 रुपये तक का जुर्माना
महामारी पर आयुर्योग की विशेष वेबिनार शृंखला, हमें अपने दिमाग पर नियंत्रण रखना चाहिए : डॉ ईरा दत्ता
एनटीपीसी दादरी को फ्लाई एश यूटिलाइजेशन के कुशल प्रबंधन के लिए पुरस्कार मिला।
मशहूर इतिहासकार पद्मश्री योगेश प्रवीण का निधन, लखनऊ के इतिहास पर किया विशेष काम
जानिए आज क्या है गौतमबुद्ध जिले का CORONA UPDATE, कितने और COVID के मरीज आए, कितने हुए डिस्चार्ज, पू...
Global Warming :हालात होंगे और ख़राब, यूपी सहित बिहार मे बढेगा हिट वेव
AUTO EXPO 2018 - गाड़ी में ले घर जैसा मजा , क्रिकेटर गौतम गंभीर ने किया EXPANDABLE 'HOME MOTER' लॉन्...
कोरोना: 15 माह तक झुग्गी में बंद रहा परिवार... जानें कैसे हुआ खुलासा
Oxygen Express: अस्पताल में भर्ती मरीजों को मिलेंगी सांसे, बोकारो से दो टैंकर लेकर लखनऊ आई ऑक्सीजन ए...
लॉकडाउन में प्यार : मौसी की बेटी बनी प्रेमिका, मंदिर में रचाई शादी, बेमेल इश्क का हुआ बदतर अंजाम
इलाहाबाद हाई कोर्ट की अपील- कोविड-19 गाइडलाइन का पालन करें लोग, कहा- नाइट कर्फ्यू पर विचार करे सरकार
ग्रेटर नोएडा : ट्रैक्टर- ऑटो में भिड़ंत इंजीनियरिंग के छात्र की मौत
सियासत: दिल्ली में पीएम नरेंद्र मोदी से मिले शरद पवार, एक बार फिर शुरू हो गया अटकलों का दौर