कोरोना: पीएम ने हिल स्टेशन पर उमड़ी भीड़ पर जताई चिंता, कहा- तीसरी लहर को रोकने के लिए मस्ती पर लगाना होगा विराम

देश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर की रफ्तारी थमती नजर आ रही है। वहीं कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के बीच कई राज्यों में संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को पूर्वोत्तर राज्यों में कोरोना के हालात पर चर्चा की। इसमें असम, मणिपुर, अरुणाचल प्रदेश, मिजोरम, मेघालय, सिक्किम, त्रिपुरा और नगालैंड के मुख्यमंत्री शामिल हुए। इस दौरान पीएम मोदी ने संभावित तीसरी लहर पर चिंता जताई। उन्होंने कहा कि हिल स्टेशन, मार्केट में बिना मास्क और प्रोटोकॉल के बिना भारी भीड़ का उमड़ना ठीक नहीं है। यह हमारे लिए चिंता का विषय है।

पीएम बोले- भारी भीड़ का जुटना ठीक नहीं
देश में कोरोना संक्रमण होते ही लोगों के घूमने निकल पड़ने पर पीएम मोदी ने कहा, “ये सही है कि कोरोना की वजह से टूरिज्म, व्यापार-कारोबार बहुत प्रभावित हुआ है। लेकिन आज मैं बहुत जोर देकर कहूंगा कि हिल स्टेशंस में, मार्केट्स में बिना मास्क पहने, भारी भीड़ उमड़ना ठीक नहीं है। सतर्कता बरतना बेहद जरूरी है।”

पीएम बोले- तेजी से किया जाए टीकाकरण
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा चलाए जा रहे ‘सबको वैक्सीन-मुफ्त वैक्सीन’ अभियान की पूर्वोत्तर में भी उतनी ही अहमियत है।साथ ही पीएम ने मुख्यमंत्रियों से अपील की कि तीसरी लहर से मुकाबले के लिए हमें वैक्सीनेशन की प्रक्रिया तेज करते रहना है।
इंफ्रास्ट्रक्चर सुधार करते जाएं: मोदी

तीसरी लहर की चेतावनी को लेकर पीएम मोदी ने कहा, ‘हमें टेस्टिंग और ट्रीटमेंट से जुड़े इंफ्रास्ट्रक्चर में सुधार करते हुए आगे चलना है। हमें विशेष रूप से ऑक्सीजन पर पीडियाट्रिक केयर से जुड़े इंफ्रास्ट्रक्चर के निर्माण के लिए तेजी से काम करना होगा। पीएम केयर्स के माध्यम से देश  में सैंकड़ों नए ऑक्सीजन प्लांट लगाए जा रहे हैं। इसके लिए हाल ही में कैबिनेट ने 23 हजार करोड़ रुपये का एक नया पैकेज भी स्वीकृत किया है।’ उन्होंने कहा कि नॉर्थ ईस्ट के हर राज्य को इस पैकेज से अपने हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने में मदद मिलेगी।

पीएम मोदी ने कहा कि पूरा देश और विशेष तौर पर हमारे हेल्थ वर्कर्स ने अपनी जिम्मेदारी निभाने के लिए गत डेढ़ वर्ष से लगातार परिश्रम किया है। पूर्वोत्तर की भौगोलिक चुनौतियों के बावजूद टेस्टिंग और ट्रीटमेंट से लेकर टीकाकरण का इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार किया गया है।

उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए हमें माइक्रो स्तर पर और सख्त कदम उठाने होंगे। इससे जिम्मेदारी तय हो सकती है। माइक्रो कंटेनमेंट क्षेत्र पर पूरा जोर हमें लगाना है। पिछले 1.5 साल में जो अनुभव हमें मिले हैं। हमें उसका भी पूरा इस्तेमाल करना होगा।

 

यह भी देखे:-

एक्सप्रेस वे पर इलेक्ट्रीशियन की गोली मारकर हत्या
Deepika Ranveer Wedding : जारी हुआ ऑफिशियल फोटो, देखने के लिए क्लिक करें लिंक
दिल्‍ली में झमाझम बारिश, जगह-जगह भरा पानी
नोएडा में सैमसंग की नई इकाई का भूमि पूजन
धर्मांतरण मामला: कानपुर के आठ कट्टरपंथी उमर गौतम के संपर्क में, एटीएस की जांच में बड़ा खुलासा
Lockdown:शिवराज सिंह के मंत्रिमंडल का विस्तार, 5 मंत्रियों ने ली शपथ
टीकाकरण को गति देने के लिए केंद्र देगा विदेशी कोविड वैक्सीन को झटपट अनुमति, प्रकिया होगी तेज
कोरोना के बढ़ते खतरे के मद्देनजर सीएम योगी आदित्यनाथ ने इन 6 जिलों पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दि...
Hindu Nav Varsh 2021: नव संवत्सर का स्वागत करने के साथ ईश्वर से प्रार्थना करें कि हमारे सारे कष्ट दू...
भाजपा नेता भी कर रहे हैं रामदेव से किनारा, अब क्या करेंगे योगगुरु?
काश ! अटल जी की बात मानी होती : विनोद बंसल
सामाजिक संगठन महिला उन्नति संस्था (भारत) ने बुलन्दशहर में किया विस्तार
UPPRPB यूपी पुलिस भर्ती 2021 : SI परीक्षा में दो अभ्यर्थियों के समान अंक आने पर किसका होगा चयन? जाने...
कोरोना अपडेट : जानिये आज क्या का क्या है रिपोर्ट
रिंकू शर्मा के हत्यारों को फांसी के बिना कुछ मंजूर नहीं: यूनाइटेड हिंदू फ्रंट
वाराणसी में आपसी विवाद में तोड़ दिया मुंशी प्रेमचंद के घर की टंकी, गर्मी में पानी का संकट