केंद्र तीन कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग के अलावा किसी भी अन्य प्रस्ताव पर चर्चा को तैयार- नरेंद्र सिंह तोमर

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा है कि किसान तीन कानूनों को रद्द करने की मांग के अलावा किसी भी अन्य प्रस्ताव को लेकर आए तो केंद्र प्रस्ताव पर चर्चा करने को तैयार है। तोमर ने कहा है, “किसान संघ को मैंने एक बार नहीं कई बार कहा है कि तीन कानूनों को रद्द करने के अतिरिक्त वो कोई भी प्रस्ताव लेकर हमारे पास आए हम उस प्रस्ताव पर चर्चा करने के लिए तैयार हैं। एपीएमसी समाप्त नहीं होगी बल्कि एपीएमसी और मजबूत हो। इसके लिए मोदी सरकार प्रतिबद्ध है।”

दरअसल, बीते छह महीनों से भी अधिक समय से देशभर के किसान नए कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली में डेरा डाले बैठे हैं। किसानों की मांग है कि नए कृषि कानूनों को रद्द किया जाए। जबकि केंद्र इस बात पर अड़ी है कि संशोधन करने के लिए वो तैयार है। हालांकि, सुप्रीम कोर्ट इस कानून पर अंतरिम रोक लगा चुका है। अब तक किसान और केंद्र के बीच दस से अधिक बार बैठक हो चुकी है।

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा है, “हमारे देश में एक बड़े क्षेत्र में नारियल की खेती होती है। इसका उत्पादन बढ़े और किसानों को सहूलियत दिया जा सके इसके लिए 1981 में नारियल बोर्ड एक्ट लाया गया था इसमें हम संशोधन करने जा रहे हैं। बोर्ड का अध्यक्ष गैर शासकीय व्यक्ति होगा।“

आगे तोमर ने कहा है, “बजट में कहा गया था कि मंडियां समाप्त नहीं होगी बल्कि मंडियों को और मज़बूत किया जाएगा। मंडियों को और संसाधन मिले इस दृष्टि से प्रयास किया जाएगा। कृषि अवसंरचना फंड को आत्मनिर्भर भारत के तहत 1 लाख करोड़ रुपये प्रवर्धित किया गया है उस फंड का उपयोग एपीएमसी कर सकेगी।“

यह भी देखे:-

नव ऊर्जा युवा संस्था के युवाओं ने पौधरोपण किया
Google से जानें, कैसे चंद मिनटों में ढूंढे सही सर्च रिजल्ट
सिख दंगा: 34 साल बाद मिला न्याय , आरोपी सज्जन कुमार दोषी करार
गोरखपुर दौरा: आज दो विश्वविद्यालयों की सौगात देंगे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, यहां देखें पूरा शेड्यूल
इलेक्ट्रिक स्कूटर : 40 किलोमीटर की जबरदस्त रेंज देगा सिंपल एनर्जी , हाईटेक फीचर्स से होगा लैस
इलेक्रामा-2020 की शानदार शुरुआत - 1300 से अधिक प्रदर्शकों ने किया दुनिया को ऊर्जा देने वाले इनोवेशंस...
कायस्थ जाति को ओबीसी में शामिल करने की खबर पर कायस्थ समाज भड़का, जगह-जगह बैठक कर हो रहा है विरोध
अयोध्या में बड़ा हादसा 15 लोग नहाते समय डूबे,  सीएम योगी ने लिया संज्ञान
वकील से मारपीट मामला : कार्यवाही से संतुष्ट नहीं वकील, दोषी पुलिसकर्मियों पर FIR दर्ज की मांग पर अड़...
महिला उन्नति सांसत का महाराष्ट्र तक विस्तार, कुo रुपाली कुराने बनी संस्था की महाराष्ट्र प्रदेश अध्यक...
शिक्षक भर्ती घोटाले का हाईकोर्ट के निगरानी में हो एसआईटी जांच: राहुल सेठ
नोएडा में साइबर अपराधियों के हौसले बुलंद, वाट्सअप हैक कर सेविंग एकाउंट में पड़े धन को साफ कर दिया
HANDICRAFTS FRATERNITY WELCOMES PRIME MINISTER’S BUMPER PACKAGE  
अमित शाह ने नक्सली हमले में शहीद सुरक्षाकर्मियों को दी श्रद्धांजलि, सीएम बघेल भी मौजूद
भगत सिंह जैसा जोश और जज्बा युवाओं को आत्मसात करना होगा:ऋषभ शर्मा
सरकार ने दिवाला कानून में किया बदलाव, MSME पर बकाए कर्ज के निपटान के लिए प्री पैकेज्ड इंसॉल्वेंसी प्...