Doctors Day 2021: जीवन बचाने के युद्ध में न डरे, न थके, हर साल 1 जुलाई को ही मनाया जाता है ‘राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस’

कोरोना महामारी से देश को उबारने में तो हमारे डॉक्टरों ने अपना सब कुछ दांव पर लगा दिया। ऐसे कठिन समय के दौरान डॉक्टर तथा स्वास्थ्य कार्यकर्ता जिस तरह दिन-रात कोविड मरीजों की देखभाल में जुटे रहे हैं, उसके लिए पूरा समाज सदैव उनका ऋणी रहेगा।

चिकित्सकों को धरती का भगवान कहा जाता है। कोरोना महामारी के इस काल में चिकित्सकों ने अपना फर्ज बखूबी निभाया है। चिकित्सक खुद अपनी जान जोखिम में डालकर मरीजों को बचाने में लगे हुए हैं। कोविड अस्पतालों में ड्यूटी करने वाले कुछ चिकित्सक तो कई महीने से अपने घर नहीं गए हैं। खुद कई चिकित्सक संक्रमित भी हो गए हैं।

1 जुलाई को ही क्यों मनाया जाता है डॉक्टर्स डे

सरकार द्वारा यह दिवस सबसे पहले साल 1991 में मनाया गया था। हर साल जुलाई की पहली तारीख को देशभर में यह दिन मनाए जाने की वजह है देश के जाने-माने चिकित्सक और पश्चिम बंगाल के दूसरे मुख्यमंत्री रहे डॉ. विधान चंद्र राय की जयंती और पुण्यतिथि, जो 1 जुलाई को ही होती है और उन्हें श्रद्धांजलि एवं सम्मान देने के लिए नेशनल डॉक्टर्स-डे के लिए यही दिन निर्धारित किया गया।

डॉ. विधान चंद्र के बारे में 

उनका जन्म 1 जुलाई 1882 को बिहार के पटना जिले में हुआ था और निधन 1 जुलाई 1962 को हुआ था। डॉ. बिधान चंद्र ने अपने जीवनकाल में मेडिकल की फील्ड में बहुत महत्वपूर्ण योगदान दिया था। उन्होंने साल 1911 में अपने चिकित्सकीय करियर की शुरुआत की और एक बेहतरीन डॉक्टर होने के साथ ही वे भारत की आजादी के आंदोलन में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के साथ भी रहे। इन्होंने चिकित्सा क्षेत्र में अनेक क्रातिकारी कार्यों को अंजाम दिया। उनके दूरदर्शी नेतृत्व के लिए उन्हें ‘बंगाल का आर्किटेक्ट’ भी कहा जाता है। साल 1961 में भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से नवाजे गए डॉ. विधान चंद्र की याद में ही तत्कालीन केंद्र सरकार द्वारा 1991 में नेशनल डॉक्टर्स डे मनाने की घोषणा की गई थी, तभी से हर साल यह दिन मनाया जा रहा है। इस दिन का आयोजन इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) द्वारा किया जाता है।

इस दिन को मनाने का क्या है उद्देश्य?

न केवल भारत में बल्कि पूरी दुनिया में कोरोना महामारी में तो डॉक्टर फ्रंटलाइन योद्धा के रूप में सामने आए हैं। महामारी के भयानक दौर में सफेद लैब कोट में देवदूत बनकर लाखों लोगों का जीवन बचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे डॉक्टरों के सम्मान में इस साल मनाए जा रहे डॉक्टर्स-डे का महत्व इसलिए बहुत ज्यादा है।

डॉक्टर्स डे का सेलिब्रेशन

भारत के अलावा अन्य देशों में भी डॉक्टरों को सम्मान देने के लिए अलग-अलग तारीखों पर डॉक्टर्स डे मनाया जाता है। अमेरिकी राज्य जॉर्जिया में पहली बार मार्च में डॉक्टर्स डे मनाया गया था।

 

यह भी देखे:-

संसद हमले की बरसी, यूनाईटेड हिन्दू फ्रंट ने आतंकवाद का पुतला व पाकिस्तानी झण्डा फूंका
देखें LIVE : राहत पैकेज पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की दूसरी प्रेस कांफ्रेंस
Rail Roko Andolan LIVE: 12 बजे से पहले ही बिहार में किसानों ने रोकी ट्रेन, रेलवे की तैयारी व जरूरी अ...
बीएमडब्ल्यू कार से 19 किलो 496 ग्राम चांदी गबन कर भाग तीन आरोपी पुलिस ने दबोचे
यूपी रोडवेज बसों के एमएसटी घोटाले में छह अफसर फंसे, दर्ज होगी एफआईआर
रामदेव पर देशद्रोह लगाने की मांग, IMA का पीएम मोदी को पत्र, कहा- बाबा ने वैक्सीन से 10,000 डॉक्टरों-...
प्रधानमंत्री बने तो क्या करेंगे, राहुल गांधी ने बताया अपना मास्टरप्लान
भारत में उज्बेकिस्तान के राजदूत द्वारा एनटीपीसी दादरी का अवलोकन
एसएसपी नोएडा अजय पाल शर्मा की बड़ी कार्यवाही, 10 पुलिसकर्मी लाईन हाज़िर, एक निलंबित
LOCKDOWN मामला : सुप्रीम कोर्ट से यूपी सरकार को मिली बड़ी राहत 
यूपी: मायावती का हमला, बाबा साहेब के नाम पर सांस्कृतिक केंद्र का शिलान्यास भाजपा की नाटक बाजी
दिग्विजय का मोदी सरकार पर तंज : बोले - दर्शकों के स्टेडियम जाकर मैच देखने पर रोक, लेकिन कुंभ में लाख...
पुलिस पीएसी सिपाही की भर्ती में फर्जीवाड़ा, चार पर मुकदमा
देखें VIDEO, UP CM योगी आदित्यनाथ का ग्रेटर नोएडा- नोएडा की जनता को शानदार तोहफा
जेपी बिल्डर के कार्यालय पर निवेशकों का हंगामा खरीददारों ने की जमकर तोड़फोड़
मैराथन दौड़ बनेगी मतदान जागरूकता का सैलाब